BREAKING NEWS

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में भीड़ ने मंदिर पर किया हमला, सख्त हुई मोदी सरकार, राजनयिक को किया तलब◾संघर्षविराम के बावजूद 140 आतंकवादी जम्मू-कश्मीर में घुसने का कर रहे इंतजार, अधिकारी ने बताया ◾रवि दहिया को हरियाणा सरकार देगी 4 करोड़ रुपये, गांव में स्टेडियम भी बनेगा◾तोक्यो ओलंपिक : अंतिम 10 सेकंड में ब्रॉन्ज से चूके दीपक पुनिया◾ममता ने PM को लिखा पत्र, कहा- वैक्सीन की आपूर्ति नहीं बढ़ाई गई तो कोरोना की स्थिति हो सकती है गंभीर ◾ओलंपिक (कुश्ती) : फाइनल में गोल्ड से चूके रवि दहिया, रजत पदक से करना पड़ेगा संतोष◾मिजोरम और असम ने सीमा विवाद पर की वार्ता, सौहार्द्रपूर्ण तरीके से मुद्दे का समाधान करने को हुए सहमत ◾5 अगस्त को हमेशा याद रखेगा देश, 'सेल्फ गोल' करने में जुटा है विपक्ष : PM मोदी◾ ऐतिहासिक जीत के बाद PM ने टीम के कप्तान से फोन पर की बात, कहा- गजब का काम किया , पूरा देश नाच रहा है◾देश के सामने बेरोजगारी सबसे बड़ा मुद्दा, रोजगार के बारे में एक शब्द नहीं बोलते प्रधानमंत्री : राहुल गांधी◾पेगासस केस पर SC ने कहा- जासूसी के आरोप यदि सही हैं तो क्यों नहीं करवाई FIR, मामला गंभीर◾संसद में पेगासस विवाद समेत कई मुद्दों का लेकर विपक्ष केंद्र पर हमलवार, राज्यसभा की बैठक स्थगित◾भारतीय हॉकी टीम के कोच बोले - ये अहसास अद्भुत, प्लेयर्स ने ऐसे बलिदान दिए है जो किसी को नहीं पता◾कांग्रेस का केंद्र पर आरोप - विपक्ष को बाहर निकाल कर सदन चलाना चाहती है सरकार, हम नहीं झुकेंगे ◾UP चुनाव को धार देने के लिए सपा ने निकाली साइकिल यात्रा, अखिलेश का दावा- हम जीतेंगे 400 सीटें◾संसद में कांग्रेस का एक सीधा मंत्र है 'परिवार का हित', हमें भी उनसे पूछने हैं तीखे सवाल : BJP◾पंजाब चुनाव से पहले प्रशांत किशोर ने 'प्रधान सलाहकार' पद से दिया इस्तीफा◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में 42982 नए केस की पुष्टि, 533 मरीजों की मौत◾हॉकी में भारत की जीत पर टीम को बधाई देने वालों का लगा तांता, PM समेत कई दिग्गज नेताओं ने दी शुभकामनाएं◾World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों की संख्या 20 करोड़ के पार, 42.5 लाख से अधिक लोगों ने गंवाई जान ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पेगासस जासूसी मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर हमलावर हुए हरियाणा CM खट्टर, लगाए कई आरोप

पेगासस जासूसी विवाद का मुद्दा इस समय संसद से सड़क तक चर्चा का विषय बना हुआ है। जासूसी को लेकर केंद्र और विपक्ष के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है। इसी कड़ी में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने केंद्र सरकार पर हमलावर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कांग्रेस के नेताओं पर उन ताकतों से हाथ मिलाने का आरोप लगाया जो भारत की छवि खराब करना चाहते हैं।

हरियाणा सीएम ने दावा किया कि इस मामले से सरकार को जोड़ने का कोई सबूत नहीं है। उन्होंने इस कहानी के पीछे इन लोगों की साख पर भी सवाल उठाया और आरोप लगाया कि ‘‘हर कोई उनके झुकाव को जानता है।’’ उन्होंने एमनेस्टी इंटरनेशनल पर भी निशाना साधते हुए कहा कि संगठन का एजेंडा, ‘‘जो अपने वित्त पोषण के स्रोत का खुलासा करने में विफल रहा था, सर्वविदित है।’’

हरियाणा: खट्टर सरकार ने कोरोना पाबंदियों को 26 जुलाई तक बढ़ाया, रियायतों में मिली अधिक छूट

मुख्यमंत्री खट्टर ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि ये नेता उन ताकतों से हाथ मिला रहे हैं जो भारत की छवि खराब करना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें ऐसे खेल खेलने से बचना चाहिए जिससे दुनिया की नजरों में देश की छवि खराब हो... आज भारत दुनिया में एक मुकाम पर पहुंच गया है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और एनडीए सरकार की नीतियों के कारण है। उन्होंने जिस तरह से विवाद खड़ा किया है, हम उसकी निंदा करते हैं।’’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘इस विवाद को एक साजिश के तहत उठाकर, वे देश की प्रतिष्ठा पर व्यवस्थित हमला करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसकी हम निंदा करते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पूरा विवाद संसद को बाधित करने और आधारहीन एजेंडा बनाने का है।’’

उन्होंने दावा किया कि हर कोई जानता है कि 1991 में पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के नेतृत्व वाली सरकार किन परिस्थितियों में गिर गई थी, जब कांग्रेस ने राष्ट्रीय राजधानी में 10 जनपथ में अपने नेता के आवास के बाहर दो खुफिया गुप्तचरों को देखे जाने के विवाद के मद्देनजर समर्थन वापस लेने का फैसला किया था।

उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि यह खुलासा हुआ है कि पिछली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार के दौरान करीब 9,000 फोन की निगरानी की गई थी। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस का हमेशा से लक्ष्य रहा है कि जब देश में कुछ अच्छी चीजें हो रही होती है, तो वह इन चीजों को पटरी से उतारने के लिए कुछ ताकतों से हाथ मिलाती है।’’

खट्टर ने कहा, ‘‘वे सरकार चलाने में बाधा नहीं पैदा कर रहे हैं, बल्कि देश की प्रगति में बाधा डाल रहे हैं। कांग्रेस के काले काम देश में कभी सफल नहीं होंगे।’’ इस दावे के बारे में पूछे जाने पर कि पेगासस सॉफ्टवेयर/स्पाइवेयर केवल सरकार को बेचा जाता है, खट्टर ने कहा, “नहीं, निजी एजेंसियां भी उनसे इसे खरीदती हैं। अब, हो सकता है कि निजी एजेंसियां इसे उनसे निजी तौर पर लें और घोषित न करें।’’

गौरतलब है कि यह विवाद उस वक्त पैदा हुआ जब एक अंतरराष्ट्रीय मीडिया संगठन ने खुलासा किया कि इजराइली जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस के जरिए भारत के दो केंद्रीय मंत्रियों, 40 से अधिक पत्रकारों, विपक्ष के तीन नेताओं और एक मौजूदा न्यायाधीश सहित बड़ी संख्या में कारोबारियों और अधिकार कार्यकर्ताओं के 300 से अधिक मोबाइल नंबर हो सकता है कि हैक किए गए हों।