BREAKING NEWS

हाई कमान से मुलाकात के बाद बोले पायलट: पद की कोई लालसा नहीं, समस्या का जल्द समाधान जल्द हो◾वेंटिलेटर सपोर्ट पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, सफलतापूर्वक हुई मस्तिष्क की सर्जरी हुई ◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 9,181 नये मामले सामने आये ,293 और लोगों की मौत◾केरल : बारिश थमने से कुछ राहत, इडुक्की में भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 49 हुई◾पायलट मामले के समाधान के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीन सदस्यीय समिति गठित की ◾दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 707 नए मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 1.46 लाख के पार◾संजय राउत के बयान को लेकर मानहानि का मामला दर्ज कराएंगे सुशांत सिंह राजपूत के परिजन ◾लीग चेयरमैन बृजेश पटेल ने दी जानकारी - यूएई में आईपीएल के लिये सरकार से मंजूरी मिली◾शाह फैसल ने जेकेपीएम के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया, प्रशासनिक सेवा में लौटने की अटकलें जारी◾सुशांत सिंह राजपूत केस में SC पहुंची रिया चक्रवर्ती, कहा - मीडिया साबित करना चाहता है 'मैं दोषी हूं'◾विधानसभा सत्र से पहले पायलट ने राहुल और प्रियंका से की मुलाकात, घर वापसी की अटकलें तेज◾कोविड-19 : देश में रिकवरी दर 69 फीसदी के पार, मृत्यु दर घटकर दो प्रतिशत के करीब ◾पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी ◾इस स्वतंत्रता दिवस पर वाजपेयी का रिकॉर्ड तोड़ेंगे PM मोदी, 7वीं बार लाल किले से फहराएंगे तिरंगा◾आप्टिकल फाइबर परियोजना के उद्घाटन पर बोले पीएम मोदी- यह प्रोजेक्ट अंडमान-निकोबार को दुनिया से जोड़ेगा ◾मणिपुर में आज बीरेन सिंह सरकार का बहुमत परीक्षण, कांग्रेस-BJP ने विधायकों को जारी किया व्हिप◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में एक हजार से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 22 लाख के पार ◾देश में संसाधनों की लूट को रोकने के लिए EIA 2020 का मसौदा वापस ले सरकार : राहुल गांधी◾World Corona : विश्व में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 97 लाख के पार, 7 लाख 29 हजार की मौत ◾जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के हमले में घायल भाजपा नेता ने इलाज के दौरान तोड़ा दम◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, हर जिले में खुलेंगे प्रदूषण कार्यालय

चंडीगढ़ : बढ़ता प्रदूषण जहां एक ओर सूबे में बड़ी चिंता का विषय बना हुआ है, वहीं हैरत की बात यह कि प्रदेश के कई जिले ऐसे हैं, जहां आज तक प्रदूषण विभाग का कोई कार्यालय ही मौजूद नहीं है। प्रदेश के ये जिले प्रदूषण नियंत्रण कार्यालयों से वंचित हैं। ऐसे में इन क्षेत्रों के प्रदूषण पर न तो उचित ढंग से नजर रखी जाती है और न ही शिकायतों पर जल्द कोई कार्रवाई हो पाती है। 

इसी को देखते हुए हरियाणा सरकार ने हर जिले में प्रदूषण नियंत्रण कार्यालय खोलने का फैसला लिया है। इस संदर्भ में प्रस्ताव को हरियाणा सरकार ने मंजूरी भी दे दी है। ये कार्यालय हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधीनस्थ होंगे। सरकार से मंजूरी आने के बाद प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने जिलों में कार्यालय स्थापित करने के लिए विभिन्न साइट्स की तलाश शुरू कर दी है। 

सूत्रों ने बताया कि चूंकि सरकार जल्द से जल्द इन कार्यालयों का सेटअप चाहती है, इसलिए शुरुआती दौर में इन कार्यालयों को किराये के भवनों में भी खोला जा सकता है, ताकि ये कार्यालय प्रदूषण नियंत्रण को लेकर जिलों में जल्द अपना काम शुरू करें। इन कार्यालयों को अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, नूहं, पलवल, महेंद्रगढ़, झज्जर, रोहतक, हिसार, फतेहाबाद व सिरसा में स्थापित किए जाएंगे। 

इन कार्यालयों में एक क्षेत्रीय अफसर, दो से तीन असिस्टेंट इनवॉयरमेंटल इंजीनियर व एक साइंसटिस्ट का पद होगा। विभाग इनकी नियुक्तियों के लिए भी जल्द कार्रवाई शुरू करेगा। शिकायतों पर कार्रवाई में हो जाती थे देरी पिछले कुछ सालों से प्रदेश की आबोहवा भी लगातार बिगड़ती जा रही है। धान सीजन खत्म होने के दौरान तो प्रदूषण के हालात काफी खराब हो जाते हैं। 

इसके अलावा शहरों में उद्योगों व अन्य कारणों से होने वाला वायु, जल व ध्वनि प्रदूषण भी बढ़ता जा रहा है। मगर कई जिलों में प्रदूषण नियंत्रण कार्यालय न होने की वजह से शिकायतें पंचकूला हेडक्वार्टर आती हैं। जिसके बाद हेडक्वार्टर से स्टाफ इन शिकायतों की जांच के लिए फील्ड में पहुंचता है। कई बार स्टाफ कम होने की वजह शिकायतों पर जांच व एक्शन भी देरी से हो जाती है। कुल मिलाकर इसी वजह से प्रदेश में प्रदूषण नियंत्रण की गतिविधियां कुछ खास प्रभावशाली नहीं रहती।