BREAKING NEWS

बंगाल चुनाव से पहले TMC को बड़ा झटका, शुभेंदु अधिकारी ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा◾बवाल के बाद किसानों को दिल्ली में एंट्री की अनुमति, बुराड़ी के निरंकारी ग्राउंड में प्रदर्शन कर सकेंगे◾सिडनी वनडे : भारत के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने पहले मैच में बनाया 374 रनों का विशाल स्कोर ◾प्रदर्शनकारी किसानों के साथ पुलिस की सख्ती पर CM अमरिंदर बोले - तुरंत बात करे केंद्र, इंतजार न कराये ◾बॉम्बे HC में कंगना रनौत की जीत, कोर्ट ने कहा- 'गलत इरादे' से BMC ने की मुंबई ऑफिस में तोड़फोड़◾टिकरी, सिंघु बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच झड़प, आंसू गैस के गोले दागे गए, कई मेट्रो स्टेशन बंद ◾महबूबा मुफ्ती का आरोप-एक बार फिर मुझे हिरासत में लिया गया, बाहर निकलने से रोक रही है पुलिस◾रोहिंग्या मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री का ओवैसी को जवाब, हमारे पास पूरी जानकारी, पुलिस करती है मॉनिटरिंग◾लव जिहाद : सपा सांसद ने कहा - मुस्लिम युवा हिंदू लड़कियों को बहन मानें, वर्ना होगा जबरदस्त टॉर्चर ◾देश में कोरोना मुक्त होने वालों की संख्या 87 लाख के पार, एक्टिव केस 4 लाख 55 हजार ◾दुर्घटनाग्रस्त होकर अरब सागर में गिरा भारतीय नेवी का मिग -29 K, लापता पायलट की खोज जारी◾कड़े सुरक्षा बंदोबस्त भी नहीं रोक पा रहे है अन्नदाताओं के कदम, दिल्ली के करीब पहुंचा किसान मार्च◾दुनियाभर में कोरोना महामारी का हाहाकार, पॉजिटिव मामलों की संख्या 6 करोड़ 8 लाख के पार ◾कप्तान कोहली के सवाल पर BCCI ने दिया बयान बीमार पिता को देखने के लिए मुंबई लौटे रोहित शर्मा◾IND vs AUS : ऑस्ट्रेलिया का टॉस जीत पहले बल्लेबाजी का फैसला◾गुजरात के राजकोट में कोविड-19 अस्पताल में भीषण आग लगने से 6 मरीजों की झुलस कर मौत◾आज का राशिफल ( 27 नवंबर 2020 )◾एफसी कोहली का 96 वर्ष की आयु में निधन; प्रधानमंत्री समेत कई हस्तियों ने जताया शोक◾PM मोदी 28 नवंबर को पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया का करेंगे दौरा◾प्रधानमंत्री द्वारा तीसरे ग्लोबल रिन्यूबल एनर्जी इन्वेस्टर्स मीट एक्सपो का शुभारंभ, शिवराज हुए शामिल◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, हर जिले में खुलेंगे प्रदूषण कार्यालय

चंडीगढ़ : बढ़ता प्रदूषण जहां एक ओर सूबे में बड़ी चिंता का विषय बना हुआ है, वहीं हैरत की बात यह कि प्रदेश के कई जिले ऐसे हैं, जहां आज तक प्रदूषण विभाग का कोई कार्यालय ही मौजूद नहीं है। प्रदेश के ये जिले प्रदूषण नियंत्रण कार्यालयों से वंचित हैं। ऐसे में इन क्षेत्रों के प्रदूषण पर न तो उचित ढंग से नजर रखी जाती है और न ही शिकायतों पर जल्द कोई कार्रवाई हो पाती है। 

इसी को देखते हुए हरियाणा सरकार ने हर जिले में प्रदूषण नियंत्रण कार्यालय खोलने का फैसला लिया है। इस संदर्भ में प्रस्ताव को हरियाणा सरकार ने मंजूरी भी दे दी है। ये कार्यालय हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधीनस्थ होंगे। सरकार से मंजूरी आने के बाद प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने जिलों में कार्यालय स्थापित करने के लिए विभिन्न साइट्स की तलाश शुरू कर दी है। 

सूत्रों ने बताया कि चूंकि सरकार जल्द से जल्द इन कार्यालयों का सेटअप चाहती है, इसलिए शुरुआती दौर में इन कार्यालयों को किराये के भवनों में भी खोला जा सकता है, ताकि ये कार्यालय प्रदूषण नियंत्रण को लेकर जिलों में जल्द अपना काम शुरू करें। इन कार्यालयों को अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, नूहं, पलवल, महेंद्रगढ़, झज्जर, रोहतक, हिसार, फतेहाबाद व सिरसा में स्थापित किए जाएंगे। 

इन कार्यालयों में एक क्षेत्रीय अफसर, दो से तीन असिस्टेंट इनवॉयरमेंटल इंजीनियर व एक साइंसटिस्ट का पद होगा। विभाग इनकी नियुक्तियों के लिए भी जल्द कार्रवाई शुरू करेगा। शिकायतों पर कार्रवाई में हो जाती थे देरी पिछले कुछ सालों से प्रदेश की आबोहवा भी लगातार बिगड़ती जा रही है। धान सीजन खत्म होने के दौरान तो प्रदूषण के हालात काफी खराब हो जाते हैं। 

इसके अलावा शहरों में उद्योगों व अन्य कारणों से होने वाला वायु, जल व ध्वनि प्रदूषण भी बढ़ता जा रहा है। मगर कई जिलों में प्रदूषण नियंत्रण कार्यालय न होने की वजह से शिकायतें पंचकूला हेडक्वार्टर आती हैं। जिसके बाद हेडक्वार्टर से स्टाफ इन शिकायतों की जांच के लिए फील्ड में पहुंचता है। कई बार स्टाफ कम होने की वजह शिकायतों पर जांच व एक्शन भी देरी से हो जाती है। कुल मिलाकर इसी वजह से प्रदेश में प्रदूषण नियंत्रण की गतिविधियां कुछ खास प्रभावशाली नहीं रहती।