पंचकूला : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य में अपराधों पर अंकुश लगाने के लिये पुलिस अधिकारियों को राज्य के सभी जिलों में विशेषकर गैंगस्टरों और अपराधियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस नीति अपनाने के सख्त निर्देश दिए हैं। श्री खट्टर ने यहां पुलिस मुख्यालय में सभी पुलिस आयुक्तों और जिला पुलिस अधीक्षकों की एक बैठक को सम्बोधित करते हुये ये निर्देश दिये।

उन्होंने पुलिस अधिकारियों से कार्य दिवसों के दौरान अपने कार्यालयों में सुबह 11 बजे से दोपहर एक बजे के बीच दो घंटे के लिए जनता की शिकायतों सुनने और इनका निवारण करने तथा सांसदों, विधायकों और अन्य सार्वजनिक प्रतिनिधियों के टेलीफोन का उत्तर भी देने के भी निर्देश दिये। साथ ही उन्हें चेतावनी दी कि इस सम्बंध में कोई शिकायत नहीं आनी चाहिये। उन्होंने बताया कि गुरुग्राम, फरीदाबाद और पंचकूला जिलों में कानून व्यवस्था आधुनिक और प्रभावी बनाने के लिए स्मार्ट थाने स्थापित किए जाएंगे।

उन्होंने पुलिस अधिकारियों से कहा कि जांच और निरीक्षण के सम्बन्ध में किसी भी प्रकार की कोई शिकायत नहीं आनी चाहिए और सभी मामलों को प्राथमिकता के आधार पर लेना चाहिए ताकि लोगों का पुलिस में विश्वास और बढ़ सके। मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों को राजमार्गों पर सीसीटीवी कैमरे स्थापित करने, राजमार्गों और शहरी क्षेत्रों में आपराधिक घटनाएं रोकने के लिए पुलिस गश्त बढ़ने और थाना स्तर पर सीसीटीवी कैमरा रिकार्ड एक वर्ष तक सुरक्षित रखने के भी निर्देश दिये।

 उन्होंने पुलिस की न्यायोचित कार्रवाई पर सरकार का पूर्ण सहयोग देने का आश्वासन दिया लेकिन साथ ही यह भी चेतावनी दी कि किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार और पक्षपात बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने पृथक यातायात स्टॉफ की व्यवस्था करने तथा इसकी शुरूआत पालिका क्षेत्रों से करने के भी निर्देश दिये। बैठक में पुलिस महानिदेशक बी़ एस़ संधु, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) अकील मोहम्मद, पुलिस महानिरीक्षक सीआईडी अनिल राव भी उपस्थित थे।