BREAKING NEWS

बिहार में 6 फरवरी तक बढ़ाया गया नाइट कर्फ्यू , शैक्षणिक संस्थान रहेंगे बंद◾यूपी : मैनपुरी के करहल से चुनाव लड़ सकते हैं अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी का माना जाता है गढ़ ◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी, कोविड-19 की दूसरी लहर की तुलना में तीसरी में कम हुई मौतें ◾बेरोजगारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर कांग्रेस ने किया केंद्र का घेराव, कहा- नौकरियां देने का वादा महज जुमला... ◾प्रधानमंत्री मोदी कल सोमनाथ में नए सर्किट हाउस का करेंगे उद्घाटन, PMO ने दी जानकारी ◾कोरोना को लेकर विशेषज्ञों का दावा - अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों में संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा◾जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, शोपियां से गिरफ्तार हुआ लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू◾महाराष्ट्र: ओमीक्रॉन मामलों और संक्रमण दर में आई कमी, सरकार ने 24 जनवरी से स्कूल खोलने का किया ऐलान ◾पंजाब: धुरी से चुनावी रण में हुंकार भरेंगे AAP के CM उम्मीदवार भगवंत मान, राघव चड्ढा ने किया ऐलान ◾पाकिस्तान में लाहौर के अनारकली इलाके में बम ब्लॉस्ट , 3 की मौत, 20 से ज्यादा घायल◾UP चुनाव: निर्भया मामले की वकील सीमा कुशवाहा हुईं BSP में शामिल, जानिए क्यों दे रही मायावती का साथ? ◾यूपी चुनावः जेवर से SP-RLD गठबंधन प्रत्याशी भड़ाना ने चुनाव लड़ने से इनकार किया◾SP से परिवारवाद के खात्मे के लिए अखिलेश ने व्यक्त किया BJP का आभार, साथ ही की बड़ी चुनावी घोषणाएं ◾Goa elections: उत्पल पर्रिकर को केजरीवाल ने AAP में शामिल होकर चुनाव लड़ने का दिया ऑफर ◾BJP ने उत्तराखंड चुनाव के लिए 59 उम्मीदवारों के नामों पर लगाई मोहर, खटीमा से चुनाव लड़ेंगे CM धामी◾संगरूर जिले की धुरी सीट से भगवंत मान लड़ सकते हैं चुनाव, राघव चड्डा बोले आज हो जाएगा ऐलान ◾यमन के हूती विद्रोहियों को फिर से आतंकवादी समूह घोषित करने पर विचार कर रहा है अमेरिका : बाइडन◾गोवा चुनाव के लिए BJP की पहली लिस्ट, मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल को नहीं दिया गया टिकट◾UP चुनाव में आमने-सामने होंगे योगी और चंद्रशेखर, गोरखपुर सदर सीट से मैदान में उतरने का किया ऐलान ◾कांग्रेस की पोस्टर गर्ल प्रियंका BJP में शामिल, कहा-'लड़की हूं लड़ने का हुनर रखती हूं'◾

कुमारी सैलजा ने सरकार पर लगाया साजिश का आरोप, कहा- गरीबों से छीनना चाहती है शिक्षा का अधिकार

हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने गरीबों को जो अधिकार दिए थे उन्हें प्रदेश की भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार धीरे-धीरे छीनने की कोशिश में लगी हुई है। उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों के बच्चों को भी कॉन्वेंट स्कूलों में दाखिला मिले, ऐसे इंतजाम कांग्रेस पार्टी ने किए थे। लेकिन प्रदेश की सरकार गरीब परिवारों व उनके बच्चों को शिक्षा के अधिकार से वंचित रखने के कदम उठाने में जुटी है।

सैलजा ने आज कहा कि शिक्षा सत्र एक अप्रैल से शुरू हो चुका है। इसे शुरु हुए 9 महीने बीत चुके हैं, लेकिन आज तक प्राइवेट स्कूलों में गरीब परिवारों के बच्चों के दाखिले नहीं हुए हैं। इन बच्चों के अगले कुछ दिनों में दाखिले हो भी गए तो फिर ये तीन महीने के अंदर किस तरह से अपने सिलेबस को पूरा कर पाएंगे, यह समझ से परे है।

उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों को शिक्षा से वंचित रखने के लिए एक सोची-समझी साजिश के तहत उनके बच्चों के दाखिले नहीं होने दिए जा रहे। प्रदेश सरकार की मंशा है कि ये बच्चे पढ़-लिख कर आगे न बढ़े। इसलिए सिर्फ दाखिला कराना या न कराना का निर्णय लेने में ही आधे से ज्यादा शैक्षणिक सत्र निकाल दिया। अब तीन महीने में एक भी बच्चा किसी भी विषय की इतनी पढ़ई नहीं कर पाएगा कि वह पास होने जितना सिलेबस भी कर सके।इन्हें दाखिले न देने की यह साजिश इन्हें कंपीटिशन में न पहुंचने देने की प्लानिंग का हिस्सा है। क्योंकि, गरीबों के बच्चे पढ़-लिख जाएंगे तो फिर न तो इनका शोषण हो सकेगा और न ही इन्हें दबाया जा सकेगा। 

कुमारी सैलजा ने कहा कि हरियाणा एजुकेशन नियम 134ए के तहत जिन स्कूलों का भी सरकार की तरफ बकाया है, उनका भुगतान प्रदेश सरकार को तुरंत करना चाहिए। सरकार के पास पैसा नहीं है, यह कहना गलत होगा। क्योंकि, मौजूदा प्रदेश सरकार अपनी और अपने नेताओं की ब्रॉनि्डंग और मार्केटिंग पर हजारों करोड़ रुपये खर्च कर रही है। ऐसे में महज 700 करोड़ रुपये की राशि न जारी करने के पीछे का षड्यंत्र कुछ और ही नजर आ रहा है।

उन्होंने कहा कि जिन बच्चों के नाम 134ए के तहत दाखिला पाने वालों की सूची में आ गए हैं, उनमें से कुछ के परिजनों ने पुराने स्कूल से उनके एसएलसी कटवा लिए हैं, लेकिन अब नया अलॉट स्कूल उन्हें दाखिला नहीं दे रहे। ऐसे में इनके सामने तो दोहरी परेशानी भी शुरू हो गई है। इन बच्चों को अगर अब दाखिला नहीं मिला तो इनका साल ही बर्बाद हो जाएगा।

कुमारी सैलजा ने कहा कि गरीब बच्चों को दाखिला न देने वाले स्कूल संचालकों को भाजपा व जजपा नेताओं की शह बताई जा रही है। अगर प्रदेश सरकार ने जल्द ही इन दाखिलों को मुकम्मल नहीं करवाया तो कांग्रेस इस मामले में सड़कों पर उतरने में देर नहीं लगाएगी।