BREAKING NEWS

छत्तीसगढ़: कोयला लेवी घोटाले केस में ED ने पूरक आरोपपत्र दाखिल किया◾नफरत और दुर्व्यवहार के कारण पाकिस्तान टीम को कभी कोचिंग देने के बारे में नहीं सोचा: वसीम अकरम◾राहुल गांधी बोले- ‘मित्रकाल बजट’ से साबित हुआ कि सरकार के पास भविष्य के निर्माण की कोई रूपरेखा नहीं◾Peshawar Mosque Attack: आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई तेज, 17 संदिग्ध गिरफ्तार◾दिल्ली: LG सक्सेना ने 6 फरवरी को मेयर चुनने के लिए MCD सदन का सत्र बुलाने को मंजूरी दी ◾एयर मार्शल एपी सिंह ने भारतीय वायुसेना के उप प्रमुख का पद संभाला◾UP News: मुजफ्फरनगर में तीन वर्ष की बच्‍ची से दुष्कर्म और हत्या के दोषी को फांसी की सजा◾Britain: वेतन बढ़ाने की मांग को लेकर शिक्षकों व सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों की हड़ताल◾चाहे कितनी भी हो आमदनी इन देशों में नहीं देना पड़ता टैक्स◾खाने को मौैहताज पाकिस्तान में गाड़ी की बड़ी कीमतें 26 लाख की हुई वैगनर , तीन लाख की स्पलेंडर ◾PM नरेंद्र मोदी ने कहा- बजट विकसित भारत के संकल्प को पूरा करने के लिए एक मजबूत नींव का निर्माण करेगा◾मल्लिकार्जुन खड़गे बोले- भाजपा पर जनता के लगातार गिरते विश्वास का सबूत है यह बजट◾Noida suicide : डीपीएस स्कूल की टीचर ने सातवीं मंजिल से कूदकर दी जान, जांच में जुटी पुलिस ◾पश्चिम बंगाल : मुख्यमंत्री ममता ने केंद्रीय बजट को बताया जनविरोधी, कहा- गरीबों को अनदेखा किया◾बसपा सुप्रीमो ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, बोलीं- बजट पार्टी से ज्यादा देश के लिए हो तो बेहतर है◾बजट पर केजरीवाल बोले- 1.75 लाख करोड़ आयकर देने के बावजूद दिल्ली को सिर्फ 325 करोड़ रुपये मिले ◾आम बजट अमृतकाल की मजबूत आधारशिला रखने वाला: अमित शाह◾पूर्व फुटबॉलर परिमल डे का निधन, लंबे समय से थे बीमार ◾मुख्तार अब्बास नकवी बोले- यह बजट देश के सर्वस्पर्शी सशक्तिकरण का गजट है◾सरकारी जमीन पर कब्जा जमाए बैठे लोगों पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया एक्शन ◾

कुमारी सैलजा ने सरकार पर लगाया साजिश का आरोप, कहा- गरीबों से छीनना चाहती है शिक्षा का अधिकार

हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने गरीबों को जो अधिकार दिए थे उन्हें प्रदेश की भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार धीरे-धीरे छीनने की कोशिश में लगी हुई है। उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों के बच्चों को भी कॉन्वेंट स्कूलों में दाखिला मिले, ऐसे इंतजाम कांग्रेस पार्टी ने किए थे। लेकिन प्रदेश की सरकार गरीब परिवारों व उनके बच्चों को शिक्षा के अधिकार से वंचित रखने के कदम उठाने में जुटी है।

सैलजा ने आज कहा कि शिक्षा सत्र एक अप्रैल से शुरू हो चुका है। इसे शुरु हुए 9 महीने बीत चुके हैं, लेकिन आज तक प्राइवेट स्कूलों में गरीब परिवारों के बच्चों के दाखिले नहीं हुए हैं। इन बच्चों के अगले कुछ दिनों में दाखिले हो भी गए तो फिर ये तीन महीने के अंदर किस तरह से अपने सिलेबस को पूरा कर पाएंगे, यह समझ से परे है।

उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों को शिक्षा से वंचित रखने के लिए एक सोची-समझी साजिश के तहत उनके बच्चों के दाखिले नहीं होने दिए जा रहे। प्रदेश सरकार की मंशा है कि ये बच्चे पढ़-लिख कर आगे न बढ़े। इसलिए सिर्फ दाखिला कराना या न कराना का निर्णय लेने में ही आधे से ज्यादा शैक्षणिक सत्र निकाल दिया। अब तीन महीने में एक भी बच्चा किसी भी विषय की इतनी पढ़ई नहीं कर पाएगा कि वह पास होने जितना सिलेबस भी कर सके।इन्हें दाखिले न देने की यह साजिश इन्हें कंपीटिशन में न पहुंचने देने की प्लानिंग का हिस्सा है। क्योंकि, गरीबों के बच्चे पढ़-लिख जाएंगे तो फिर न तो इनका शोषण हो सकेगा और न ही इन्हें दबाया जा सकेगा। 

कुमारी सैलजा ने कहा कि हरियाणा एजुकेशन नियम 134ए के तहत जिन स्कूलों का भी सरकार की तरफ बकाया है, उनका भुगतान प्रदेश सरकार को तुरंत करना चाहिए। सरकार के पास पैसा नहीं है, यह कहना गलत होगा। क्योंकि, मौजूदा प्रदेश सरकार अपनी और अपने नेताओं की ब्रॉनि्डंग और मार्केटिंग पर हजारों करोड़ रुपये खर्च कर रही है। ऐसे में महज 700 करोड़ रुपये की राशि न जारी करने के पीछे का षड्यंत्र कुछ और ही नजर आ रहा है।

उन्होंने कहा कि जिन बच्चों के नाम 134ए के तहत दाखिला पाने वालों की सूची में आ गए हैं, उनमें से कुछ के परिजनों ने पुराने स्कूल से उनके एसएलसी कटवा लिए हैं, लेकिन अब नया अलॉट स्कूल उन्हें दाखिला नहीं दे रहे। ऐसे में इनके सामने तो दोहरी परेशानी भी शुरू हो गई है। इन बच्चों को अगर अब दाखिला नहीं मिला तो इनका साल ही बर्बाद हो जाएगा।

कुमारी सैलजा ने कहा कि गरीब बच्चों को दाखिला न देने वाले स्कूल संचालकों को भाजपा व जजपा नेताओं की शह बताई जा रही है। अगर प्रदेश सरकार ने जल्द ही इन दाखिलों को मुकम्मल नहीं करवाया तो कांग्रेस इस मामले में सड़कों पर उतरने में देर नहीं लगाएगी।