भिवानी : गवर्नमैंट कालेज परिसर में स्थित एसअीबाई बैंक शाखा में एक नकाबपोश युवक ने दिन दहाड़े लूट की घटना को अंजाम दे दिया। आरोपी युवक एक तेजधार के हथियार के साथ बैंक में अकेला घुसा था। उसने पहला वार बैंक के गार्ड ईश्वर सिंह पर किया। पहले वार में ही गार्ड ईश्वर सिंह घायल हो गया। लूटेरे युवक ने इसके बाद इसी हथियार से बैंक मैनेजर अजय गौतम पर हमला किया। पर वें हल्के से पीछे हट गए तो उनको अधिक चोट नहीं आई। युवक ने कैश देने कहा।

बैंक के सभी कर्मचारी इस आक्समिक हुई घटना से सहम गए। पर कैशियर राम निवास ने बड़ी समझदारी से काम लेते हुए कैश की चाबी को टेबल के नीचे रख दिया। लूट करने आए युवक ने बैंक का गेट बंद कर दिया था। जब गार्ड बाहर जाने के लिए गेट की ओर दौड़ा तो लूटेरे ने फिर से उस पर वार किया। इस बार के वार से गार्ड गेट के पास ही गिर गया। फिर लूटेरे युवक ने कैशियर से कैश लेना चाहा। कैशियर राम निवास ने लूज कैश उसके हवाले कर दिया, जो करीब एक लाख रूपया था।

कैश लेने को लूटेरा युवक जैसे ही टेबल के पीछे गया तो मौका पाकर मैनेजर अजय गौतम गेट खोल कर बैंक से बाहर आकर गए और मदद के लिए आवाजे लगाने लगे। पर इसी बीच लूटेरा भी बैंक से बाहर निकल आया और भाग गया। बताया गया है कि बैंक लूटने आए युवक के पास कोई वाहन नहीं था। वो पैदल ही आया बताते हैं और लूट को अंजम देकर पैदल ही भागा है।

गम्भीर रूप से घायल गार्ड को कालेज के छात्र सरकारी अस्पताल ले गए। जंहा उसकी प्राथमिक उपचार देकर रोहतक मेडिकल रैफर कर दिया। लूट की सूचना पाकर एसपी गंगाराम पुनिया सहित दूसरे पुलिस अधिकारी भी घटना स्थल पर पहुंच गए। एसपी गंगाराम पुनिया ने बताया कि उनकी बात बैंक के मैनेजर से हुई है तथा बताया गया है कि एक लाख रुपए की लूट की गई है। उन्होंने यह भी बताया कि बैक के सीसीटीवी कैमरे में एक युवक ही दिखाई दे रहा है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही हेै।

उन्होंने यह भी बताया कि पुलिस की टीमों को भेज दिया गया है वे आरोपी युवक की तलाश में जुट गई है। पूरे क्षेत्र में नाकेबंदी कर दी गई है। समाचार लिखे जाने तक पुलिस अधिकारी वंहा लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाल रही थी। गार्ड र्इंश्वर को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जिस समय नकाबपोश बैक में घूसा तो उसने गार्ड को गंभीर रुप घायल हो।

गंभीर ईश्वर वही तडफता रहा लेकिन किसी ने उसकी सुध नही ली। सभी उसके बहते हुए खून को तो देखते रहे लेकिन किसी ने उसे उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाने की जहमत नही उठाई तभी वहां शोर शराबा सुनकर आसपास खेल रहे कॉलेज के छात्रों ने घायल गार्ड को उठाया तथा अस्पताल पहुंचा दिया। अस्पताल की चिकित्सक महिमा ने बताया कि घायल गंभीर हालत में था प्राथमिक उपचार के बाद रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया।

(दीपक खंडेलवाल)