BREAKING NEWS

निर्भया : घटना के दिन नाबालिग होने का दावा करते हुए पवन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट◾PM मोदी ने मंत्रियों से कहा, कश्मीर में विकास का संदेश फैलाएं और गांवों का दौरा करें ◾भाजपा ने अब तक 8 पूर्वांचलियों पर लगाया दांव◾यूरोपीय संघ के उच्च प्रतिनिधि ने PM मोदी से भेंट की◾दिल्ली पुलिस आयुक्त को NSA के तहत मिला किसी को भी हिरासत में लेने का अधिकार◾न्यायालय से संपर्क करने से पहले राज्यपाल को सूचित करने की कोई जरूरत नहीं : येचुरी◾ममता ने एनपीआर,जनसंख्या पर केन्द्र की बैठक में नहीं लिया भाग◾सिंध में हिंदू समुदाय की लड़कियों के अपहरण को लेकर भारत ने पाक अधिकारी को किया तलब◾नड्डा का 20 जनवरी को निर्विरोध भाजपा अध्यक्ष चुना जाना तय◾हमें कश्मीर पर भारत के रुख को लेकर कोई शंका नहीं है : रूसी राजदूत◾IND vs AUS : भारत की दमदार वापसी, ऑस्ट्रेलिया को 36 रनों से हराया, सीरीज में बराबरी◾दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए 48 और नामांकन दाखिल◾राउत को इंदिरा गांधी के बारे में टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी : पवार◾कश्मीर में शहीद सलारिया का सैन्य सम्मान से अंतिम संस्कार, दो महीने की बेटी ने दी मुखाग्नि ◾बुलेट ट्रेन परियोजना के लिये भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया के खिलाफ याचिकाओं पर न्यायालय करेगा सुनवाई ◾चुनाव में ‘कांग्रेस वाली दिल्ली’ के नारे के साथ प्रचार में उतरी कांग्रेस◾यूपी सीएम योगी ने हिमस्खलन में कुशीनगर के शहीद जवान की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया◾TOP 20 NEWS 17 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾निर्भया के गुनहगारों का नया डेथ वारंट जारी, 1 फरवरी को सुबह 6 बजे होगी फांसी◾दिल्ली चुनाव के लिए BJP ने जारी की 57 उम्मीदवारों की पहली सूची◾

छेड़छाड़ मामले में विकास बराला के खिलाफ कोर्ट में सप्लीमेंट्री चालान पेश

चंडीगढ़ : जिला अदालत में हाईप्रोफाइल केस वर्णिका कुंडू और विकास बराला मामले में सुनवाई हुई। इस दौरान अदालत में मामले में पुलिस द्वारा बनाए गए एक गवाह की गवाही भी हुई। गवाह की पहचान पुलिस कंट्रोल रूम में वारदात के समय वायरलेस सुपरवाइजर बलजीत के रूप में हुई है। वहीं पुलिस ने अदालत में मामले में सप्लीमेंट्री चालान पेश किया। पुलिस ने यह चालान आइपीसी की धारा-354डी (छेड़छाड़), 341 (पीछा करना) 365, 511 (किडनैपिंग की कोशिश) 34 और मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 185 के तहत पेश किया है। 

अब मामले की अगली सुनवाई 13 अगस्त को होगी। अदालत में पेश हुए गवाह बलजीत ने कहा कि घटना के दौरान जो पुलिस कंट्रोल रूम में फोन पर सूचना मिली थी वह सिस्टम मेंं रिकॉर्ड हो जाती है। यह रिकॉर्डिंग उसने मामले के जांच अधिकारी को सीडी में डलवाकर दे दी थी। वहीं पुलिस ने जो चालान पेश किया, उसके साथ पुलिस ने सीएफएसल रिपोर्ट, जीपीआरएस रिपोर्ट भी लगाई है। सीएफएसएल रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपित विकास बराला और आशीष के ब्लड और यूरीन सैंपल में कॉमन पॉयजन डिटेक्ट नहीं हुआ है। 

इसके अलावा पहले की जीपीआरएस जांच में सामने आया था कि वारदात के समय पीडि़ता पंजाब के फतेहपुर में थी। इस बात को आधार बनाते हुए विकास के वकील ने कोर्ट के सामने कहा था कि वारदात के समय तो पीडि़ता पंचकूला और चंडीगढ़ में मौजूद ही नहीं थी। इस बात पर पीडि़ता पक्ष ने टॉवर लोकेशन चेक करने के लिए अपील की थी। इस बार चालान में जीपीआरएस रिपोर्ट में यह बात सामने आई कि पहले जो अगस्त, 2017 में रिपोर्ट आई थी उसमें कुछ ह्यूमन एरर की वजह पीडि़ता की लोकेशन को फतेहपुर दिखा रहा था। 

जबकि पीडि़ता की सही लोकेशन चंडीगढ़ के सेक्टर-4 स्थित एमसी वाटर वर्कस बिल्डिंग के पास मिली। इसके अलावा पुलिस चालान में 14 फरवरी, 2019 को एक गवाह अनुभव गौंरग की गवाही को भी शामिल किया गया। अपनी गवाही में उसने उस वक्त बताया कि दोनों आरोपित गंदे मकसद से पीडि़ता का पीछा कर रहे थे और उसका अपहरण भी कर सकते थे। 4 अगस्त 2017 की रात 12 बजे पुलिस कंट्रोल रूम में हरियाणा के एक आईएएस की बेटी वर्णिका कुंडू ने कॉल कर सूचना दी थी कि कार सवार दो युवक सेक्टर-7 से उसकी गाड़ी का पीछा कर रहे हैं। 

वर्णिका के बताए अनुसार मौके से कुछ दूरी पर हाउसिंग बोर्ड चौंक पर थाना पुलिस और पीसीआर ने दोनों आरोपित युवकों को गिरफ्तार कर लिया। वारदात के समय वर्णिका अकेली कार ड्राइव कर रही थी, जबकि दोनों युवकों की गाड़ी को आरोपित आशीष ड्राइव कर रहा था।