BREAKING NEWS

योगी सरकार को प्रियंका गांधी से डर क्यों लगता है : सुरजेवाला ◾नवजोत सिंह सिद्धू के पूर्व विभाग से महत्वपूर्ण फाइलें गायब◾प्रियंका गांधी ने गेस्ट हाउस में बिताई रात, प्रशासन से दूसरे दौर की बातचीत भी नाकाम◾चंद्रकांत पाटिल का दावा : चुनाव से पहले विपक्ष के कई नेता BJP होंगे शामिल◾एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल नाग का सफल परीक्षण◾सोनभद्र जाने पर अड़ीं प्रियंका गांधी ,जमानत लेने से किया इनकार, बोलीं- जेल जाने को तैयार हूं◾योगी सरकार ने की प्रियंका की ‘गैरकानूनी गिरफ्तारी’, राज्य सरकार में अपराधियों को संरक्षण : कांग्रेस ◾जारी रहेगी MS Dhoni की धूम, मैनेजर बोले - माही की अभी संन्यास लेने की कोई योजना नहीं◾कर्नाटक : विधानसभा विश्वास प्रस्ताव पर मतदान के बिना सोमवार तक स्थगित ◾रॉबर्ट वाड्रा ने BJP सरकार की आलोचना की ,कहा - लोकतंत्र को तानाशाही में न बदलें◾सोनभद्र गोलीकांड : प्रियंका गांधी हिरासत में, कई जगह कांग्रेस का प्रदर्शन ◾किसी विधायक ने मुझसे सुरक्षा नहीं मांगी है : कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष◾कर्नाटक में जारी सत्ता का संघर्ष एक बार फिर शीर्ष अदालत की चौखट पर◾Sensex में साल की दूसरी बड़ी गिरावट, निवेशकों ने दो दिन में गंवाये 3.79 लाख करोड़ रुपये ◾ कुमारस्वामी ने स्पीकर से फ्लोर टेस्ट की डेट सोमवार तक बढ़ाने की अपील की , भाजपा बोली- हम तैयार नहीं◾Top 20 News 19 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾चुनाव याचिका पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटिस जारी ◾BJP विश्वास प्रस्ताव पर मत-विभाजन के लिए आतुर है, क्योंकि वह विधायकों को खरीद चुकी : सिद्धारमैया ◾सोनभद्र में पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही प्रियंका गांधी को रोका, धरने पर बैठीं◾प्रियंका की गैरकानूनी गिरफ्तारी भाजपा सरकार की बढ़ती असुरक्षा का संकेत: राहुल गांधी ◾

हरियाणा

छेड़छाड़ मामले में विकास बराला के खिलाफ कोर्ट में सप्लीमेंट्री चालान पेश

चंडीगढ़ : जिला अदालत में हाईप्रोफाइल केस वर्णिका कुंडू और विकास बराला मामले में सुनवाई हुई। इस दौरान अदालत में मामले में पुलिस द्वारा बनाए गए एक गवाह की गवाही भी हुई। गवाह की पहचान पुलिस कंट्रोल रूम में वारदात के समय वायरलेस सुपरवाइजर बलजीत के रूप में हुई है। वहीं पुलिस ने अदालत में मामले में सप्लीमेंट्री चालान पेश किया। पुलिस ने यह चालान आइपीसी की धारा-354डी (छेड़छाड़), 341 (पीछा करना) 365, 511 (किडनैपिंग की कोशिश) 34 और मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 185 के तहत पेश किया है। 

अब मामले की अगली सुनवाई 13 अगस्त को होगी। अदालत में पेश हुए गवाह बलजीत ने कहा कि घटना के दौरान जो पुलिस कंट्रोल रूम में फोन पर सूचना मिली थी वह सिस्टम मेंं रिकॉर्ड हो जाती है। यह रिकॉर्डिंग उसने मामले के जांच अधिकारी को सीडी में डलवाकर दे दी थी। वहीं पुलिस ने जो चालान पेश किया, उसके साथ पुलिस ने सीएफएसल रिपोर्ट, जीपीआरएस रिपोर्ट भी लगाई है। सीएफएसएल रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपित विकास बराला और आशीष के ब्लड और यूरीन सैंपल में कॉमन पॉयजन डिटेक्ट नहीं हुआ है। 

इसके अलावा पहले की जीपीआरएस जांच में सामने आया था कि वारदात के समय पीडि़ता पंजाब के फतेहपुर में थी। इस बात को आधार बनाते हुए विकास के वकील ने कोर्ट के सामने कहा था कि वारदात के समय तो पीडि़ता पंचकूला और चंडीगढ़ में मौजूद ही नहीं थी। इस बात पर पीडि़ता पक्ष ने टॉवर लोकेशन चेक करने के लिए अपील की थी। इस बार चालान में जीपीआरएस रिपोर्ट में यह बात सामने आई कि पहले जो अगस्त, 2017 में रिपोर्ट आई थी उसमें कुछ ह्यूमन एरर की वजह पीडि़ता की लोकेशन को फतेहपुर दिखा रहा था। 

जबकि पीडि़ता की सही लोकेशन चंडीगढ़ के सेक्टर-4 स्थित एमसी वाटर वर्कस बिल्डिंग के पास मिली। इसके अलावा पुलिस चालान में 14 फरवरी, 2019 को एक गवाह अनुभव गौंरग की गवाही को भी शामिल किया गया। अपनी गवाही में उसने उस वक्त बताया कि दोनों आरोपित गंदे मकसद से पीडि़ता का पीछा कर रहे थे और उसका अपहरण भी कर सकते थे। 4 अगस्त 2017 की रात 12 बजे पुलिस कंट्रोल रूम में हरियाणा के एक आईएएस की बेटी वर्णिका कुंडू ने कॉल कर सूचना दी थी कि कार सवार दो युवक सेक्टर-7 से उसकी गाड़ी का पीछा कर रहे हैं। 

वर्णिका के बताए अनुसार मौके से कुछ दूरी पर हाउसिंग बोर्ड चौंक पर थाना पुलिस और पीसीआर ने दोनों आरोपित युवकों को गिरफ्तार कर लिया। वारदात के समय वर्णिका अकेली कार ड्राइव कर रही थी, जबकि दोनों युवकों की गाड़ी को आरोपित आशीष ड्राइव कर रहा था।