BREAKING NEWS

चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कहा- भविष्य में युद्ध जीतने के लिए नई प्रतिभाओं की भर्ती की जरूरत◾शशि थरूर की महिला सांसदों सग सेल्फी हुई वायरल, कैप्शन लिखा- कौन कहता है लोकसभा आकर्षक जगह नहीं?◾ओवैसी बोले- CAA को भी रद्द करे मोदी सरकार..पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा- इनको कोई गंभीरता से नहीं लेता◾ 'ओमीक्रोन' के बढ़ते खतरे के चलते जापान ने विदेशी यात्रियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की◾IND VS NZ के बीच पहला टेस्ट मैच हुआ ड्रा, आखिरी विकेट नहीं ले पाई टीम इंडिया ◾विपक्ष को दिया बड़ा झटका, एक साथ किया इतने सारे सांसदों को राज्यसभा से निलंबित◾तीन कृषि कानून: सदन में बिल पास कराने से लेकर वापसी तक, जानिये कैसा रहा सरकार और किसानों का गतिरोध◾कृषि कानूनों की वापसी पर राहुल का केंद्र पर हमला, बोले- चर्चा से डरती है सरकार, जानती है कि उनसे गलती हुई ◾नरेंद्र तोमर ने कांग्रेस पर लगाया दोहरा रुख अपनाने का आरोप, कहा- किसानों की भलाई के लिए थे कृषि कानून ◾ तेलंगाना में कोविड़-19 ने फिर दी दस्तक, एक स्कूल में 42 छात्राएं और एक शिक्षक पाए गए कोरोना संक्रमित ◾शीतकालीन सत्र में सरकार के पास बिटक्वाइन को करेंसी के रूप में मान्यता देने का कोई प्रस्ताव नहीं: निर्मला सीतारमण◾विपक्ष के हंगामे के बीच केंद्र सरकार ने राज्यसभा से भी पारित करवाया कृषि विधि निरसन विधेयक ◾कृषि कानूनों की वापसी का बिल लोकसभा में हुआ पारित, टिकैत बोले- यह तो होना ही था... आंदोलन रहेगा जारी ◾बिना चर्चा कृषि कानून बिल वापसी को विपक्ष ने बताया लोकतंत्र के लिए काला दिन, मिला ये जवाब ◾प्रदूषण के मद्दे पर SC ने अपनाया सख्त रुख, कहा- राज्य दिशानिर्देश नहीं मानेंगे, तो हम करेंगे टास्क फोर्स का गठन ◾कांग्रेस का केंद्र पर निशाना -बिल वापसी नहीं हुई चर्चा क्योंकि सरकार को हिसाब और जवाब देना पड़ता◾पीएम मोदी ने निभाया किसानों को दिया वादा, लोकसभा में हंगामे के बीच पास हुआ कृषि कानून वापसी बिल ◾प्रधानमंत्री मोदी की अपील का नहीं हुआ विपक्ष पर असर, हंगामेदार हुई दोनों सदनों की शुरुआत ◾किसानों के समर्थन में संसद के बाहर कांग्रेस का विरोध, राहुल बोले- आज उगाना है अन्नदाता के नाम का सूरज ◾"संसद में सवाल भी हो और शांति भी", सत्र की शुरुआत से पहले बोले मोदी- कुर्सी की गरिमा को रखें बरकरार◾

दमकल केंद्र के रास्ते में खड़े रहते हैं वाहन

मानेसर: आइएमटी मानेसर में अस्थाई तौर पर बनाए गए दमकल केंद्र के रास्ते में पार्किंग होने से किसी भी समय बड़ा हादसा हो सकता है। हरियाणा स्टेट इंडस्ट्रीयल एवं इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कारपोरेशन (एचएसआइआइडीसी) कार्यालय में बनाए गए अस्थाई दमकल केंद्र के वाहनों को रास्तों में पार्किंग से काफी समय तक यहां जाम में फंसना पड़ता है। एचएसआइआइडीसी कार्यालय, मानेसर तहसील और दमकल केंद्र के लिए एक ही मुख्य द्वार बनाया गया है। इस द्वार में तहसील और एचएसआइआइडीसी में आने वाले लोग अपने वाहनों को खड़ा कर देते हैँ। ऐसे समय में दमकल केंद्र के पास फोन आने पर दमकल केंद्र के वाहनों को एकदम से वहां पहुंचने की तैयारी की जाती है। रास्ते में वाहन खड़े रहने से दमकल केंद्र के वाहन यहां से नहीं निकल पाते और आग फैल जाती है।

दमकल वाहन यहां फंसने पर कर्मचारी सामने खड़े वाहनों के चालकों को तलाशते है और इसके बाद ही यहां से दमकल वाहन भेजा जा सकता है। कई बार तो एचएसआइआइडीसी के सफाई के ठेकेदारों के ट्रैक्टर भी यहीं खड़े कर दिए जाते हैं। मुख्य द्वार पर कई बड़े पेड़ हैं। तहसील में आने वाले लोग पेड़ों की छाया में अपनी गाडिय़ों को खड़ा कर देते हैं। छाया के चक्कर में वाहन खड़े करने से दमकल कर्मियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। मानेसर में दमकल केंद्र के प्रभारी रामकेश ने बताया कि रास्ते में वाहन खड़े रहने से कई बार तो काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। काफी समय तक यहां हॉर्न और सायरन बजाने पड़ता है। इसके लिए एक अलग रास्ता बनाया जाना चाहिए या रास्ते में पार्किंग करने से लोगों को रोकना चाहिए।

- संदीप यादव