जींद : इनेलो में अपनों से मिल रही चुनौती पर अप्रत्यक्ष तौर पर कटाक्ष करते हुए प्रतिपक्ष नेता अभय चौटाला ने कहा कि जींद में पिछले दिनों पार्टी कार्यालय के सामने जिन लोगों ने नारे लगाएं उन्होंने कइयों के राजनीतिक भविष्य को बिगाडऩे का काम कर दिया है। नारे लगाने वाले कुछेक लोग अपना उल्लू सीधा करने के चक्कर में है। वहां नारे चौधरी देवीलाल, डॉ. भीमराव अंबेडकर, चौ. ओमप्रकाश चौटाला तथा मायावती के लगाएं जाने चाहिए थे। अभय चौटाला सोमवार को जींद की जाट धर्मशाला में कार्यकत्र्ताओं को संबोधित कर रहे थे।

इस मौके पर प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, बसपा नेता प्रकाश भारती, वेद मुंडे, विधायक परमेंद्र सिंह ढुल, पिरथी नंबरदार, रामपाल माजरा, प्रदीप गिल, कलीराम पटवारी, पूर्व विधायक रामफल कुंडू, सतीश जैन, भूपेंद्र जुलानी, भगवान दास, लखविंद्र चहल, किताब सिंह भनवाला, आनन्द लाठर, प्रो. बलवान पेगां आदि हजारों कार्यकत्र्ता मौजूद थे। इस दौरान अभय चौटाला ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान डॉ. अजय सिंह चौटाला द्वारा अधिकार पाने के लिए प्रदेश भर में दौरा करने के सवाल के जवाब में कहा कि इसका जवाब खुद चौ. ओमप्रकाश चौटाला दे सकते है या फिर प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा।

उन्होंने कायकत्र्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि जब इनेलो और भाजपा का गठबंधन हुआ था, तो भाजपा ने उसे दो कमजोर पार्टियों का गठबंधन करार दिया था। किंतु जब दोनों पार्टियों के नेताओं ने एक साथ हुंकार भरी तो भाजपा घबरा गई और इस गठबंधन को कमजोर करने के लिए षड्यंत्र रचने शुरू कर दिये है। लेकिन इस बार हाथी रूकेगा नहीं और चश्मा पहनकर रूकावटों को रौंदने का काम करेगा।

दुष्यंत के समर्थन में आई बावल चौरासी

अभय चौटाला ने कहा कि चौ. देवीलाल की नीतियों को आगे बढ़ाते हुए जब इनेलो-बसपा का गठबंधन सत्ता में आयेगा, तो पैंशनों को बढ़ाने के साथ-साथ बेटियों के कन्यादान में 5 लाख की आहुति सरकार की ओर से डाली जाएगी। यही नहीं, आम जनता के घरों के बाहर लगाएं गए मीटरों को उखाडक़र जोहड़ों में फैंकवा दिया जाएगा। अभय चौटाला ने कहा कि सरकार आम आदमी के साथ छलावा कर रही है। आम आदमी को चोर समझकर उसके मीटर तो घरों से बाहर लगाएं गए है, जबकि जिंदल जैसे उद्योगपतियों की फैक्टरियों के मीटर अंदर लगे हुए है।

– संजय शर्मा