BREAKING NEWS

बिहार चुनाव : सोनिया बोलीं- दिल्ली और बिहार में बंदी सरकार, ना कथनी सही-ना करनी◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾पाकिस्तान : पेशावर के मदरसे में ब्लास्ट से 7 की मौत, 70 से अधिक घायल◾विश्व में कोरोना मरीजों के आंकड़ों में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी,संक्रमितों की संख्या 4 करोड़ 33 लाख के पार◾TOP 5 NEWS 27 OCTOBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों का आंकड़ा 80 लाख के करीब, एक्टिव केस सवा 6 लाख◾हाथरस मामला : सुप्रीम कोर्ट आज तय करेगा कि सीबीआई जांच की निगरानी SC करेगा या फिर हाईकोर्ट◾ 2+2 वार्ता : भारत और अमेरिका आज महत्वपूर्ण रक्षा समझौते पर करेंगे हस्ताक्षर◾महबूबा मुफ्ती को हवाई टिकट खरीदने चाहिए और अपने परिवार के साथ पाकिस्तान चले जाना चाहिए : नितिन पटेल ◾'भारत-अमेरिका के बीच सैन्य वार्ता सफल, BECA पर करेंगे साइन◾तिरंगे पर महबूबा मुफ्ती के बयान से नाखुश पीडीपी के तीन नेताओं ने पार्टी से दिया इस्तीफा, NC ने भी किया किनारा◾स्ट्रीट वेण्डर आत्मनिर्भर निधि योजना के तहत प्रधानमंत्री कल UP के लाभार्थियों से करेंगे बात ◾साक्षी महाराज ने फिर दिया विवादित बयान, कहा- अनुपात के हिसाब से हो कब्रिस्तान और श्मशान◾राजनाथ सिंह ने अमेरिकी रक्षा मंत्री के साथ की वार्ता, रक्षा तथा सामरिक संबंधों पर हुई चर्चा ◾बिहार चुनाव : प्रचार के आखिरी दिन तेजस्वी पहुंचे हसनपुर, तेजप्रताप के लिए मांगे वोट ◾जेपी नड्डा ने चिराग पर साधा निशाना - कुछ लोग NDA में सेंध लगाना चाहते हैं, कर रहे है षड्यंत्र ◾भारत में कोविड-19 संबंधी मृत्युदर 1.50 प्रतिशत, 108 दिन बाद 500 से कम मौत हुई◾CM नीतीश ने महुआ में RJD पर बोला हमला - कुछ लोगों की भ्रमित करने और ठगने की आदत होती है◾दिल्ली की वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब', पराली जलाए जाने से दिल्लीवासियों पर कहर बरपाएगा प्रदूषण◾SC ने कोर्ट की निगरानी में CBI जांच की मांग वाली दिशा सालियान केस की याचिका को किया खारिज◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

6 साल में सेना ने खरीदा 960 करोड़ का खराब गोला-बारूद, तकरीबन 50 जवानों ने गंवाई जान : रिपोर्ट

हाल ही में एक सैन्य रिपोर्ट सामने आयी है जिसमे कई बेहद चौंकाने वाले खुलासे हुए है। रिपोर्ट के मुताबिक़ हर माह एक भारतीय जवान दुश्मनों के हाथों नहीं, बल्कि खुद के खराब गोला-बारूद से घायल हो जाते हैं या शहीद भी हो जाते हैं। 

गोला-बारूद की आपूर्ति सरकारी आयुध फैक्ट्रियों से की जाती है। सरकारी अधिकारियों के अनुसार, सुरक्षाबलों में एक गोला-बारूद से जुड़ा हादसा औसतन प्रति सप्ताह रिपोर्ट किया जाता है। इससे जवान घायल या हताहत हो जाते हैं या उपकरणों को हानि पहुंचती है। 

मुख्य आपूर्तिकर्ता आयुध फैक्ट्री बोर्ड द्वारा संचालित प्रतिष्ठान हैं। इनके खराब गोला-बारूद की वजह से दुर्घटनाएं होती हैं। इससे सशस्त्र बलों में आत्मविश्वास की कमी हो जाती है, जोकि वायुसेना या नौसेना से ज्यादा गोला-बारूद का प्रयोग करते हैं। 

2020 में, त्रुटिपूर्ण गोला-बारूद से 13 जवान घायल हो गए, जबकि 2019 में 16 दुर्घटनाएं हुईं, जिसमें 28 जवान घायल हो गए और तीन का निधन हो गया। 2018 में, 78 घटनाओं में कम से कम 43 जवान घायल हो गए और तीन ने अपनी जान गंवा दी। 2017 में इस बाबत 53 घटनाएं हुईं, जिसमें एक जवान की मौत हो गई और 18 अन्य घायल हो गए। 

इस मामले में साल 2016 सबसे खराब रहा, जहां इस तरह की 60 घटनाओं में 19 जवान की मौत हो गई और 28 अन्य घायल हो गए। इससे राजकोष को काफी क्षति पहुंचती है। अनुमान के मुताबिक, अप्रैल 2014 से अप्रैल 2019 के बीच इस वजह से 658.58 करोड़ रुपये के गोला-बारूद का शेल्फ लाइफ के बावजूद निस्तारण किया गया। 

सूत्रों ने यह भी कहा कि 303.23 करोड़ रुपये के माइंस का भी उसके शेल्फ लाइफ के दौरान निस्तारण करना पड़ा। इससे पहले महाराष्ट्र के पलगांव में मई 2016 में माइंस दुर्घटना में 18 जवान शहीद हो गए थे। 

सूत्रों ने कहा कि इससे 960 करोड़ रुपये की हानि हुई थी, जिससे 100, 155 एमएम मीडियम आर्टिलरी बंदूक खरीदा जा सकता था। 

यह निश्चित है कि खराब गुणवत्ता वाले गोला-बारूद का जवानों पर बड़ा प्रभाव पड़ता है। दुर्घटना से जानमाल की हानि होती है और साथ ही उपकरणों को प्रयोग से बाहर कर दिया जाता है। 

Source - IANS