BREAKING NEWS

महाराष्ट्र विधान परिषद में मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता दोनों शिवसेना से, लेकिन खेमे अलग◾गडकरी को संसदीय बोर्ड से हटाए जाने पर राकांपा ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- बढ़ते कद की वजह से पद छीना◾थाईलैंड के दौरे पर विदेश मंत्री एस जयशंकर, सबसे पवित्र बौद्ध मंदिर के किए दर्शन ◾बिहार में राजनीतिक घटनाक्रम के बाद लालू प्रसाद का बड़ा बयान, कहा- 2024 में मोदी को हटाना है ◾आदित्य ठाकरे ने एकनाथ शिंदे पर साधा निशाना, कहा- सभी को पता है कि असली मुख्यमंत्री कौन है ◾रेलवे ने सामान बेचने वालों को दिया बड़ा तौहफा, अब डिजाइनर गाड़ियां और कंटेनर भी उपलब्ध कराएगी सरकार ◾अमित शाह ने नीतीश कुमार के आरसीपी सिंह संबंधी दावे को किया खारिज◾राजस्थान सरकार के कुशासन के कारण बदमाशों ने महिला शिक्षिका को जिंदा जलाया : कैलाश चौधरी◾बिहार के महागठबंधन के लिए न्यूनतम साझा कार्यक्रम का एजेंडा होगा तैयार : कांग्रेस ◾आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और सपा अपना गढ़ भी बचा नहीं पाएंगी : केशव प्रसाद मौर्य◾चीनी जहाज 'युआन वांग 5' के कप्तान का बड़ा दावा, कहा- शांति और मैत्री मिशन पर है यह जहाज ◾सीएम धामी ने लॉन्च की अग्निपथ योजना, 19 अगस्त को कोटद्वार में भर्ती रैली◾दिल्लीः कोरोना के मामलों में वृद्धि के बीच अस्पतालों में दो गुना बढ़ी मरीजों की संख्या, जानिए कितने बचे हैं बैड ◾मुझे उन अधिकारियों की सूची दें जो भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं की बात नहीं सुनते : योगी आदित्यनाथ ◾भारत के लिए प्रदूषण बना बड़ी चिंता! दिल्ली में हर साल हजारों की जाती है जान ◾जम्मू-कश्मीरः मुठभेड़ के बाद फरार आतंकवादियों की तलाश में जुटी पुलिस, हाई अलर्ट पर सुरक्षाबल ◾हिमाचल प्रदेश : कांग्रेस के दो विधायकों ने की भाजपा की सदस्यता ग्रहण, मुख्यमंत्री जयराम ने किया स्वागत◾थाईलैंड के विदेश मंत्री के साथ एस. जयशंकर ने की खास बातचीत, जानिए किन मुद्दों पर हुई चर्चा ◾दिल्ली में रोहिंग्या मुसलमानों को फ्लैट देने का नहीं दिया कोई निर्देश : केंद्रीय गृह मंत्रालय ◾दिल्ली के बक्करवाला के अपार्टमेंट में भेजे जाएंगे रोहिंग्या शरणार्थी, पुलिस सुरक्षा भी कराई जाएगी मुहैया : हरदीप सिंह पुरी◾

गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे भीम आर्मी चीफ, कहा- 'किसान की हक की लड़ाई में समर्थन देने आया हूं

कृषि कानूनों के खिलाफ विभिन्न राज्यों के कई किसान और किसान संगठन लगातार विरोध कर रहे हैं, पंजाब-हरियाणा और यूपी के किसान विरोध कर लगातार आंदोलन छेड़े हुए हैं। भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद इन किसानों का समर्थन करने के लिए पहुंचे हैं।

चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि, "किसान की हक की लड़ाई में समर्थन देने आया हूं, वहीं किसान खुद को अकेला महसूस न करें, इसलिए मौजूद हूं। किसान, दलित मजदूर सब एक ही हैं। किसान के घर खेती नहीं होगी, तो मजदूर का घर कैसे चलेगा। मैं मजदूरों के सबसे बड़े वर्ग से आता हूं। मैं इस आंदोलन को कैसे छोड़ सकता हूं।" उन्होंने कहा कि "मैं इस आंदोलन को लीड करने नहीं आया हूं, बस इस आंदोलन में साथ देने आया हूं। किसान खुशी से सड़कों पर नहीं आए हैं।"

भीम आर्मी चीफ ने कहा कि "सरकार 6 दिन बाद ही क्यों बात कर रही है। सरकार दलितों की ताकत को भी जानती है। मेरे यहां आने की जरूरत नहीं पड़ती, अगर सरकार पहले दिन ही बात चीत कर लेती। सर्दियों में किसान सड़कों पर बैठे हुए हैं, आंसू गैस के गोले के छोड़े गए, पानी फेंका गया, किसान की बदौलत ही हर कोई अन्न खाता है।" उन्होंने कहा कि सरकार तानाशाह है और वो किसानों के बारे में भी जानती है ये तैयार होकर आये हैं, सरकार को किसानों की बात माननी होगी।

टिकरी, सिंघु और गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों ने अपना डेरा बनाया हुआ है। दरअसल केंद्र सरकार सितंबर महीने में 3 नए कृषि विधेयक लाई थी, जिन पर राष्ट्रपति की मुहर लगने के बाद वे कानून बन चुके हैं। जिसके खिलाफ किसानों का ये आंदोलन छिड़ा हुआ है। देश के करीब 500 अलग-अलग संगठनों ने मिलकर संयुक्त किसान मोर्चे का गठन किया है। वहीं इन सभी संगठनों ने केंद्र सरकार के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर डेरा जमा रखा है।

किसान आंदोलन : PM आज ही तीनों ‘काले कानूनों’ को निलंबित कर, किसानों पर दर्ज मामले वापस लें - कांग्रेस