BREAKING NEWS

उत्तराखंड की राजनीति में उठापटक जारी, त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राज्यपाल को सौंपा अपना इस्तीफा ◾लोकसभा में बोले कृषि मंत्री - कृषि कानून व्यापार क्षेत्र में किसानों से प्रत्यक्ष खरीद की सुविधा प्रदान करते हैं ◾BJP में ‘बैकबेंचर’ कहे जाने पर सिंधिया का कांग्रेस को जवाब - काश, राहुल उस समय भी इसी तरह चिंतित होते◾त्रिपुरा : PM मोदी ने भारत और बांग्लादेश को जोड़ने वाले ‘मैत्री सेतु’ का किया उद्घाटन ◾बाटला हाउस एनकाउंटर पर राजनीति तेज, रविशंकर का सवाल- क्या देश की जनता के सामने माफी मांगेगा विपक्ष ◾ पूर्व IPS भारती घोष को SC से मिली बड़ी राहत, चुनाव परिणाम आने तक गिरफ्तारी वारंट स्थगित ◾दिल्ली सरकार का 2021-22 का बजट होगा ‘देशभक्ति बजट’, लोगों को मुफ्त मिलेगी कोरोना वैक्सीन◾राहुल गांधी का सुझाव- देश को सीमा से अलग युद्ध के लिए रहना चाहिए तैयार ◾भारत की वैक्सीन डिप्लोमेसी ने IMF का जीता दिल, कहा- कोरोना से निपटने में सबसे आगे रहा इंडिया ◾कोविड-19 : देश में 15388 नए मामलों की पुष्टि, 77 और लोगों ने गंवाई जान ◾किसान प्रदर्शन पर ब्रिटेन के सांसदों की मीटिंग की भारत ने की निंदा, कहा- 'एक तरफा चर्चा में झूठे दावे'◾पंजाब : ईडी की MLA सुखपाल खैरा की संपत्तियों पर छापेमारी, बैंकिंग लेनदेन की भी जांच जारी ◾CM त्रिवेंद्र ने जेपी नड्डा और अनिल बलूनी से की मुलाकात, विधायकों की नाराजगी को दूर करने पर हुई चर्चा ◾कोलकाता : रेलवे के कार्यालय की 13 वीं मंजिल में लगी आग, 9 लोगों की मौत◾विश्व में कोरोना के मामले 11.70 करोड़ के पार, 25.9 लाख से अधिक लोगों की हुई मौत ◾दिल्ली सरकार की नीतियों का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को लाभ पहुंचाना है: केजरीवाल ◾एंटीलिया मामले की जांच का जिम्मा एनआईए को सौंपे जाने पर भड़के उद्धव, बोले- कुछ गड़बड़ है ◾बिहार : खगड़िया में स्कूल की दीवार गिरी, 6 मजदूरों की मौत◾पश्चिम बंगाल में TMC को एक और झटका, 5 विधायक पार्टी छोड़कर बीजेपी में हुए शामिल◾CM ममता का प्रधानमंत्री पर तंज- एक दिन ऐसा आएगा जब देश का नाम नरेन्द्र मोदी के नाम पर रखा जाएगा ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कांग्रेस का प्रधानमंत्री से सवाल, कहा- PM मोदी बताएं कि क्या चीन का भारतीय जमीन पर कब्जा नहीं

कांग्रेस ने कहा है कि चीन ने गलवान घाटी में भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ कर रखी है और देश के सामरिक दृष्टि से कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में उसके सैनिक तैनात है इसलिए अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताना चाहिए कि क्या चीन ने भारतीय जमीन पर कब्जा नहीं किया है।

कांग्रेस प्रवक्ता कपिल सिब्बल ने शनिवार को कहा कि लद्दाख क्षेत्र के कई लोग कहते हैं कि चीनी सेना ने भारतीय क्षेत्र में कब्जा कर रखा है। खुद भारतीय जनता पार्टी के पार्षद कहते हैं कि चीन के लोगों ने भारत के कई हिस्सों में अपना सैन्य साजो सामान सजा रखा है और उसके सैनिक पूरी सैन्य तैयारी के साथ भारतीय जमीन पर खड़े हैं।

उन्होंने कहा कि गलवान घाटी में 18 किलोमीटर हमारी जमीन पर चीन ने कब्जा कर रखा है। भारतीय चरवाहों को वहां जाने नहीं दिया जा रहा है। उनका कहना है कि वे जहां लम्बे समय से अपने पशु चरा रहे थे, वहां अब जा नहीं सकते हैं। उन्हें वहां जाने से रोका जा रहा है। लद्दाख में सोनम वांगचुंग एक इंजीनियर हैं, वह कहते हैं कि भारतीय चरवाहों को गलवान घाटी में जाने की अनुमति नहीं है।

प्रवक्ता ने कहा कि चीन ने 1959 में माना था कि वास्तविक नियत्रंण रेखा के अनुसार पूरी गलवान घाटी भारत की है लेकिन 16 जून 2020 के बाद यह गलवान घाटी चीन के कब्जे में चली गयी है। गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने अपनी ढांचागत व्यवस्था कायम कर ली है लेकिन देश के प्रधानमंत्री कहते हैं कि चीन भारत में नहीं घुसा है और हमारी किसी पोस्ट पर उसका कब्जा नहीं है।

कानपुर मुठभेड़ : विकास दुबे को लेकर UP प्रशासन सख्त, कुख्यात अपराधी का गिराया घर