BREAKING NEWS

वर्ल्ड कप में भारत की पाकिस्तान पर सबसे बड़ी जीत, लगा बधाईयों का तांता, अमित शाह ने बताया एक और स्ट्राइक ◾IMA की हड़ताल में शामिल होंगे दिल्ली के अस्पताल, AIIMS ने किया किनारा ◾ममता आज सचिवालय में जूनियर डॉक्टरों से करेंगी बैठक◾विश्व कप 2019 Ind vs Pak : भारत ने पाकिस्तान को डकवर्थ लुइस नियम के तहत 89 रन से रौंदा◾IMA के आह्वान पर सोमवार को दिल्ली के कई अस्पतालों में नहीं होगा काम ◾सभी वर्गों को भरोसे में लेकर करेंगे सबका विकास : PM मोदी◾PM मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ कूटनीतिक और रणनीतिक रिवायत को बदला : जितेन्द्र सिंह◾प्रणव मुखर्जी से मिले नीतीश कुमार◾बिहार में AES की रोकथाम और इलाज के लिए हरसंभाव सहायता देगा केंद्र : हर्षवर्द्धन◾कश्मीरी अलगाववादी नेताओं को विदेशों से मिला धन, निजी फायदे के लिए उसका किया इस्तेमाल : NIA◾Top 20 News - 16 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾एक राष्ट्र, एक चुनाव पर बात करने के लिए PM मोदी ने सभी दलों के प्रमुखों को किया आमंत्रित◾प्रदर्शनकारी डॉक्टरों ने कहा, CM जगह तय करें लेकिन बैठक खुले में होनी चाहिए ◾बिहार : मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों का आंकड़ा पहुंचा 93 ◾नए चेहरों के साथ संसद में आए नई सोच, तभी बनेगा नया भारत : PM मोदी◾धर्मयात्रा नहीं राजनीति करने आए है उद्धव ठाकरे : इकबाल अंसारी◾मूसा की मौत का बदला लेने के लिए फिर हो सकता है पुलवामा जैसा अटैक, J&K में हाई अलर्ट जारी◾मोदी सरकार के पास राम मंदिर पर फैसला करने की है शक्ति : उद्धव ठाकरे◾बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल का छठा दिन, ममता से बातचीत की जगह पर फैसला होना बाकी◾बिहार में लू का कहर जारी, औरंगाबाद और गया समेत 3 जिले में 56 लोगों की मौत◾

देश

चक्रवाती तूफान कल सुबह गुजरात तट पर देगा दस्तक, सरकार ने जारी किया हाई अलर्ट

अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान वायु ने और गंभीर स्वरूप धारण कर लिया है और इसके पूर्व में अनुमानित की तुलना में और अधिक तीव्रता से गुजरात के सौराष्ट्र के निकट कल सुबह जमीन से टकराने (लैंडफॉल) की संभावना है। सोमनाथ, सासन, कच्छ के पर्यटकों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी गई है। अहमदाबाद मौसम केंद, के निदेशक जयंत सरकार ने बताया कि अब इसने अति गंभीर च्रकवाती तूफान का स्वरूप ले लिया है। 

सुबह यह गुजरात के वेरावल तट से लगभग 340 किमी दक्षिण में स्थित था। यह कल सुबह पोरबंदर से महुवा के बीच वेरावल के आसपास जमीन से टकरायेगा। उस समय इसकी गति पूर्व के अनुमानित 110 से 120 किलोमीटर प्रति घंटा की तुलना में और अधिक 145 से 155 किमी प्रति घंटा रहने की संभावना है तथा इसके साथ कभी कभी पवन की गति 175 किमी प्रति घंटा तक पहुंच जायेगी। इस बीच इसके मद्देजनर तटवर्ती जिलों व्यापक एहतियाती उपाय किये गये हैं। तटवर्ती 11 जिलों के स्कूलों में आज और कल अवकाश की घोषणा कर दी गयी है। 

GRP के जवानों ने की पत्रकार की पिटाई, तोड़ा कैमरा, उतारे कपड़े

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने केवल इसी विषय पर आज कैबिनेट की बैठक आहूत की है। सभी प्रभारी मंत्रियों को उनके जिलों में रहने की ताकीद की गयी है। इसके अलावा सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गयी हैं। हजारों की संख्या में मछुआरों की नौकाएं वापस लौट आयी हैं जबकि घोघा और दहेज के बीच खंभात की खाड़ी में चलने वाली रो रो फेरी सेवा को कल से तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है। लगभग 408 तटवर्ती गांवों ओर निचले इलाकों से लोगों को स्थानांतरित करने का काम आज सुबह शुरू हो गया है। कुल लगभग तीन लाख लोगों को स्थानांतरित किया जायेगा। 

राहत और बचाव के लिए तीनो सेना अलर्ट

राहत और बचाव कार्य के लिए सेना के तीनों अंगों को भी तैयार रखा गया है। एनडीआरएफ की तीस से अधिक टुकड़यिं इन इलाको में तैनात हैं। तूफान के मद्देनजर तटवर्ती इलाकों में भारी वर्षा की आशंका भी व्यक्त की गयी है। समुद, तटों पर लोगों को नहीं जाने की सलाह दी गयी है। उधर तटवर्ती इलाकों समेत राज्य के कई स्थानों पर आज बादलयुक्त वातावरण हैं और कई स्थानों पर बूंदाबांदी भी हुई है। समुद, तट पर ऊंची लहरे उठ रही हैं। गौरतलब है कि इससे पहले दो बार ऐसे तूफानों की चेतावनी अंत में फुस्स साबित हुई थी। वर्ष 2014 के अक्टूबर में नीलोफर तूफान और 2017 दिसंबर में ओखी तूफान गुजरात तट से टकराते समय महज निम्न दबाव के मामूली क्षेत्र में तब्दील हो गये थे। इनसे कोई नुकसान नहीं हुआ था जबकि इससे पहले इनसे निपटने के लिए व्यापक तैयारी की गयी थी और सेना के तीनो अंगों को भी तैयार रखा गया था।