BREAKING NEWS

महाराष्ट्र सरकार गठन : सोमवार को पवार सोनिया गांधी से करेंगे मुलाकात ◾विपक्ष ने संसद में अपनी संख्या बढ़ाई ◾बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर तेज हुई राजनीति◾PM मोदी ने श्रीलंका में चुनाव जीतने पर राजपक्षे को बधाई दी, भारत आने का दिया निमंत्रण◾प्रदूषण के मुद्दे पर केंद्र सोमवार को उत्तरी राज्यों के अधिकारियों के साथ करेगा उच्च स्तरीय बैठक ◾कर्नाटक उपचुनावों में उम्मीदवारों को भविष्य के मंत्री के तौर पर पेश कर रही है भाजपा ◾किसानो पर पुलिस बर्बरता शर्मनाक : प्रियंका◾नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर विपक्ष के विरोध से शीतकालीन सत्र के गर्माने की संभावना ◾TOP 20 NEWS 17 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾मंत्री स्वाती सिंह के कथित आडियो पर प्रियंका गांधी ने सरकार को घेरा ◾अयोध्या मामले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड◾उपभोक्ता खर्च के आंकड़े छिपाने के आरोपों में चिदंबरम का केंद्र सरकार पर निशाना◾प्रियंका गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को वास्तविक मुद्दों पर फोकस करने का दिया निर्देश ◾सर्वदलीय बैठक में बोले PM मोदी- सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए हैं तैयार ◾गोताबेया राजपक्षे ने जीता श्रीलंका के राष्ट्रपति का चुनाव, PM मोदी ने दी बधाई◾उन्नाव में किसानों का प्रदर्शन, UPSIDC के अधिकारियों और वाहनों पर किया हमला ◾संसद के शीतकालीन सत्र से पहले प्रहलाद जोशी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, कई नेता हुए शामिल◾राउत और उद्धव ने बाला साहेब को दी श्रद्धांजलि, फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा-स्वाभिमान की मिली सीख◾बैंकॉक में अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और राजनाथ सिंह के बीच हुई द्विपक्षीय बैठक◾दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में हुआ सुधार, नोएडा और गुरुग्राम में स्थिति फिलहाल गंभीर◾

देश

चक्रवाती तूफान कल सुबह गुजरात तट पर देगा दस्तक, सरकार ने जारी किया हाई अलर्ट

अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान वायु ने और गंभीर स्वरूप धारण कर लिया है और इसके पूर्व में अनुमानित की तुलना में और अधिक तीव्रता से गुजरात के सौराष्ट्र के निकट कल सुबह जमीन से टकराने (लैंडफॉल) की संभावना है। सोमनाथ, सासन, कच्छ के पर्यटकों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी गई है। अहमदाबाद मौसम केंद, के निदेशक जयंत सरकार ने बताया कि अब इसने अति गंभीर च्रकवाती तूफान का स्वरूप ले लिया है। 

सुबह यह गुजरात के वेरावल तट से लगभग 340 किमी दक्षिण में स्थित था। यह कल सुबह पोरबंदर से महुवा के बीच वेरावल के आसपास जमीन से टकरायेगा। उस समय इसकी गति पूर्व के अनुमानित 110 से 120 किलोमीटर प्रति घंटा की तुलना में और अधिक 145 से 155 किमी प्रति घंटा रहने की संभावना है तथा इसके साथ कभी कभी पवन की गति 175 किमी प्रति घंटा तक पहुंच जायेगी। इस बीच इसके मद्देजनर तटवर्ती जिलों व्यापक एहतियाती उपाय किये गये हैं। तटवर्ती 11 जिलों के स्कूलों में आज और कल अवकाश की घोषणा कर दी गयी है। 

GRP के जवानों ने की पत्रकार की पिटाई, तोड़ा कैमरा, उतारे कपड़े

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने केवल इसी विषय पर आज कैबिनेट की बैठक आहूत की है। सभी प्रभारी मंत्रियों को उनके जिलों में रहने की ताकीद की गयी है। इसके अलावा सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गयी हैं। हजारों की संख्या में मछुआरों की नौकाएं वापस लौट आयी हैं जबकि घोघा और दहेज के बीच खंभात की खाड़ी में चलने वाली रो रो फेरी सेवा को कल से तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है। लगभग 408 तटवर्ती गांवों ओर निचले इलाकों से लोगों को स्थानांतरित करने का काम आज सुबह शुरू हो गया है। कुल लगभग तीन लाख लोगों को स्थानांतरित किया जायेगा। 

राहत और बचाव के लिए तीनो सेना अलर्ट

राहत और बचाव कार्य के लिए सेना के तीनों अंगों को भी तैयार रखा गया है। एनडीआरएफ की तीस से अधिक टुकड़यिं इन इलाको में तैनात हैं। तूफान के मद्देनजर तटवर्ती इलाकों में भारी वर्षा की आशंका भी व्यक्त की गयी है। समुद, तटों पर लोगों को नहीं जाने की सलाह दी गयी है। उधर तटवर्ती इलाकों समेत राज्य के कई स्थानों पर आज बादलयुक्त वातावरण हैं और कई स्थानों पर बूंदाबांदी भी हुई है। समुद, तट पर ऊंची लहरे उठ रही हैं। गौरतलब है कि इससे पहले दो बार ऐसे तूफानों की चेतावनी अंत में फुस्स साबित हुई थी। वर्ष 2014 के अक्टूबर में नीलोफर तूफान और 2017 दिसंबर में ओखी तूफान गुजरात तट से टकराते समय महज निम्न दबाव के मामूली क्षेत्र में तब्दील हो गये थे। इनसे कोई नुकसान नहीं हुआ था जबकि इससे पहले इनसे निपटने के लिए व्यापक तैयारी की गयी थी और सेना के तीनो अंगों को भी तैयार रखा गया था।