BREAKING NEWS

JNU छात्र आज फिर उतर सकते है सड़को पर, प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे स्टूडेंट ◾1 दिसंबर से ग्राहकों की जेब पर बढ़ेगा बोझ, ये दूरसंचार कंपनियां बढ़ाएंगी मोबाइल सेवाओं की दरें◾इंदिरा गांधी की जयंती पर PM मोदी, सोनिया, मनमोहन और प्रणब मुखर्जी ने दी श्रद्धांजलि◾महाराष्ट्र : महीनेभर बाद भी एक ही सवाल, कब और कैसे बनेगी सरकार? ◾झारखंड के चुनाव परिणाम बिहार राजग पर डालेंगे असर! ◾ खट्टर ने स्थानीय युवाओं को नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण देने वाला विधेयक न लाने के संकेत दिए ◾सबरीमला में श्रद्धालुओं की जबरदस्त भीड़, 2 महिलायें वापस भेजी गयी ◾जेएनयू छात्रसंघ पदाधिकारियों का दावा, एचआरडी मंत्रालय के अधिकारी ने दिया समिति से मुलाकात का आश्वासन ◾प्रियंका गांधी ने इलेक्टोरल बांड को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾TOP 20 NEWS 18 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद पवार बोले- किसी के साथ सरकार बनाने पर चर्चा नहीं◾INX मीडिया धनशोधन मामला : चिदंबरम ने जमानत याचिका खारिज करने के आदेश को न्यायालय में दी चुनौती ◾मनमोहन सिंह ने कहा- राज्य की सीमाओं के पुनर्निधार्रण में राज्यसभा की अधिक भूमिका होनी चाहिए◾'खराब पानी' को लेकर पासवान का केजरीवाल पर पटलवार, कहा- सरकार इस मुद्दे पर राजनीति नहीं करना चाहती◾संसद का शीतकालीन सत्र : राज्यसभा के 250वें सत्र पर PM मोदी का संबोधन, कहा-इसमें शामिल होना मेरा सौभाग्य◾बीजेपी बताए कि उसे चुनावी बॉन्ड के जरिए कितने हजार करोड़ रुपये का चंदा मिला : कांग्रेस ◾CM केजरीवाल बोले- प्रदूषण का स्तर कम हुआ, अब Odd-Even योजना की कोई आवश्यकता नहीं है ◾महाराष्ट्र: शिवसेना संग गठबंधन पर शरद पवार का यू-टर्न, दिया ये बयान◾ JNU स्टूडेंट्स का संसद तक मार्च शुरू, छात्रों ने तोड़ा बैरिकेड, पुलिस की 10 कंपनियां तैनात◾शीतकालीन सत्र: NDA से अलग होते ही शिवसेना ने दिखाए तेवर, संसद में किसानों के मुद्दे पर किया प्रदर्शन◾

देश

दिल्ली- मुंबई एक्सप्रेस वे पिछड़े और आदिवासी इलाकों से होकर गुजर रहा : नितिन गडकरी

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बृहस्पतिवार को लोकसभा में कहा कि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे देश का पहला ऐसा राजमार्ग है जो पांच राज्यों के पिछड़े और आदिवासी इलाकों से होकर गुजर रहा है। उन्होंने कहा कि यह अगले साढ़े तीन साल में देश को समर्पित होगा।

केंद्रीय मंत्री ने प्रश्नकाल के दौरान इस बारे में एक सवाल के जवाब में कहा कि इस परियोजना के चालू हो जाने से दिल्ली-मुंबई के बीच यात्रा की अवधि घट कर 12 घंटे की हो जाएगी। निचले सदन में एक पूरक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि बड़े शहरों से होकर एक्सप्रेस वे निकालने में परियोजना की लागत भी बढ़ती है। इसलिए बड़े शहरों को सम्पर्क मार्गो के जरिए जोड़ा जाएगा। 

फरीदाबाद में दिनदहाड़े कांग्रेस प्रवक्ता विकास चौधरी की गोली मारकर हत्या

गडकरी ने कहा कि इस परियोजना से दिल्ली से कोटा के बीच की दूरी सिर्फ साढ़े तीन घंटे में पूरी की जा सकेगी। उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली-मुंबई मार्ग पर एक इलेक्ट्रिक केबल का व्यवहार्यता अध्ययन भी किया जा रहा है। गडकरी ने एक अन्य पूरक प्रश्न के जवाब में सभी सांसदों से आग्रह किया कि वे परियोजना के धीमी गति से आगे बढ़ने के कारणों का राज्य सरकार से पता लगाएं। साथ ही, राज्य सरकार से भूमि अधिग्रहण की जानकारी लें। 

उन्होंने यह भी कहा कि भूमि अधिग्रहण में मुआवजे की रकम में अतिरिक्त छूट का सवाल ही नहीं उठता। रोज चार-पांच प्रतिनिधिमंडल उनसे मिलने आते हैं और भूमि अधिग्रहण का अनुरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि भूमि अधिग्रहण के लिए जिला कलेक्टर बाजार आधारित फार्मूला तय करते हैं।