BREAKING NEWS

स्वास्थ्य मंत्रालय ने 6 राज्यों को लिखा पत्र, कोविड संक्रमण पर अंकुश लगाने का किया आग्रह ◾Delhi Weather Update : धुंध की वजह से कम हुई विज़िबिलिटी, आज शाम तक बारिश के आसार, बढ़ेगी ठंड◾मथुरा : 6 दिसंबर से पहले प्रशासन की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, छावनी में तब्दील हुई कृष्ण नगरी◾चीन की बढ़ती क्षमताओं के परिणाम ‘गहरे’ हैं : जयशंकर◾जो ‘नया कश्मीर’ दिखाया जा रहा है, वह वास्तविकता नहीं है : महबूबा◾मछुआरों की चिंताओं और मत्स्यपालन क्षेत्र से जुड़े मुद्दों को राष्ट्रीय स्तर पर उठाएगी कांग्रेस : राहुल गांधी◾ सिद्धू ने फिर अलापा PAK राग! बोले- दोनो देशों के बीच फिर शुरू हो व्यापार◾भारत पर ओमीक्रॉन का वार, कर्नाटक-गुजरात के बाद अब महाराष्ट्र में भी दी दस्तक, देश में अब तक चार संक्रमित ◾गोवा में बोले केजरीवाल- सभी दैवीय ताकतें एकजुट हो रही हैं और इस बार कुछ अच्छा होगा◾मध्य प्रदेश में तीन चरणों में होंगे पंचायत चुनाव, EC ने तारीखों का किया ऐलान ◾कल्याण और विकास के उद्देश्यों के बीच तालमेल बिठाने पर व्यापक बातचीत हो: उपराष्ट्रपति◾वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का हआ निधन, दिल्ली के अपोलो अस्पताल में थे भर्ती◾ MSP और केस वापसी पर SKM ने लगाई इन पांच नामों पर मुहर, 7 को फिर होगी बैठक◾ IND vs NZ: एजाज के ऐतिहासिक प्रदर्शन पर भारी पड़े भारतीय गेंदबाज, न्यूजीलैंड की पारी 62 रन पर सिमटी◾भारत में 'Omicron' का तीसरा मामला, साउथ अफ्रीका से जामनगर लौटा शख्स संक्रमित ◾‘बूस्टर’ खुराक की बजाय वैक्सीन की दोनों डोज देने पर अधिक ध्यान देने की जरूरत, विशेषज्ञों ने दी राय◾देहरादून पहुंचे PM मोदी ने कई विकास योजनाओं का किया शिलान्यास व लोकार्पण, बोले- पिछली सरकारों के घोटालों की कर रहे भरपाई ◾ मुंबई टेस्ट IND vs NZ - एजाज पटेल ने 10 विकेट लेकर रचा इतिहास, भारत के पहली पारी में 325 रन ◾'कांग्रेस को दूर रखकर कोई फ्रंट नहीं बन सकता', गठबंधन पर संजय राउत का बड़ा बयान◾अमित शाह बोले- PAK में सर्जिकल स्ट्राइक कर भारत ने स्पष्ट किया कि हमारी सीमा में घुसना आसान नहीं◾

गूगल ने डूडल बनाकर भारत के 'सैटेलाइट मैन' राव को किया सम्मानित

गूगल ने बुधवार को भारत के 'सैटेलाइट मैन' और प्रसिद्ध वैज्ञानिक स्वर्गीय उडुपी रामचंद्र राव पर डूडल बनाकर उन्हें सम्मानित किया है। गूगल डूडल पर पृथ्वी और चमकदार तारों के बैकग्राउंड के साथ प्रोफेसर राव का एक स्केच है। गूगल ने अपने डिस्क्रिप्शन में लिखा है, "आपके तारकीय तकनीकी प्रगति को गैलेक्सी के पार महसूस किया जाना जारी है।"

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष के रूप में, राव ने भारत के पहले उपग्रह 'आर्यभट्ट' के 1975 के प्रक्षेपण का पर्यवेक्षण किया। 10 मार्च, 1932 को कर्नाटक में जन्मे राव का 2017 में निधन हो गया था। उन्हें 1976 में पद्म भूषण और 2017 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। राव ने अपने करियर की शुरूआत कॉस्मिक रे साइंटिस्ट (ब्रह्मांडीय किरण वैज्ञानिक) के रूप में की और अमेरिका के मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) में भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक डॉ. विक्रम साराभाई के अधीन काम किया।

नासा के जेट प्रोपल्शन लैबोरेटरी ग्रुप के सहयोग से सौर हवा की निरंतर प्रकृति और मैरिनर-2 अवलोकनों का उपयोग करके भू-चुंबकत्व पर इसके प्रभाव को स्थापित करने वाले वह पहले साइंटिस्ट थे। कई 'पॉयनियर' और 'एक्सप्लोरर' अंतरिक्ष यान पर राव के प्रयोगों से सौर ब्रह्मांडीय-किरण घटनाओं और अंतर-ग्रहों के अंतरिक्ष के विद्युत चुम्बकीय स्थिति की पूरी समझ पैदा हुई।

वह अहमदाबाद में भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला के गवनिर्ंग काउंसिल के अध्यक्ष और बेंगलुरु में नेहरू तारामंडल और तिरुवनंतपुरम में भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईएसटी) के चांसलर भी रहे। सोसाइटी ऑफ सैटेलाइट प्रोफेशनल्स इंटरनेशनल द्वारा एक समारोह में राव को 2013 में वाशिंगटन के सैटेलाइट हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया था। इसके साथ ही वह उस श्रेणी में शामिल होने वाले पहले भारतीय बन गए। वह मेक्सिको के ग्वाडलाजारा में प्रतिष्ठित 'आईएएफ हॉल ऑफ फेम' में शामिल होने वाले पहले भारतीय अंतरिक्ष वैज्ञानिक बन गए।

गिरिराज सिंह बोले- बंगाल में रोहिंग्या के साथ-साथ ममता दीदी भी हैं नर्वस, वाह मोदी जी वाह