BREAKING NEWS

DRDO की कोविड-19 रोधी दवा सोमवार को होगी लॉन्च◾चक्रवात तौकते को लेकर अमित शाह ने की गोवा के मुख्यमंत्री से बात◾भाजपा नेता सांप्रदायिक बम फोड़ने का कर रहे हैं प्रयास : अमरिंदर सिंह◾अधीर रंजन चौधरी ने PM मोदी को लिखी चिट्ठी, लॉकडाउन वाले राज्यों में गरीबों को हर महीने 6000 रुपये देने की अपील की ◾महाराष्ट्र में संक्रमण से 974 मरीजों ने तोडा दम, 34 हजार नए मामले की पुष्टि ◾गुजरात में चक्रवात तौकते का खतरा बरकरार, डेढ़ लाख लोगों को निचले तटीय क्षेत्रों में किया गया स्थानांतरित◾कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी खुराक के लिए पहले से लिया गया अप्वाइंटमेंट रहेगा वैध : केंद्र ◾CM केजरीवाल बोले- केंद्र एवं वैक्सीन निर्माताओं को लिखा पत्र, लेकिन दिल्ली को अभी टीका मिलने की कोई उम्मीद नहीं◾दिल्ली में कोरोना संक्रमण दर में आई गिरावट, 24 घंटे में 6456 नए केस और 262 की मौत◾देश में कोविड के 36,18,458 इलाजरत मरीज, संक्रमण दर 16.98 फीसदी: केंद्र सरकार◾केंद्र सरकार ने ग्रामीण एवं शहरों से सटे इलाकों में कोविड प्रबंधन पर जारी किए नए दिशा-निर्देश ◾हरियाणा में लॉकडाउन 24 मई तक बढ़ा, गृह मंत्री अनिल विज ने ट्वीट कर दी जानकारी◾राहुल का केंद्र पर वार- बच्चों की वैक्सीन क्यों भेज दी विदेश, अब मुझे भी करो गिरफ्तार ◾चक्रवाती तूफान के तेज होने की संभावना, कल शाम गुजरात के तट से टकराएगा तौकते, भारी बारिश की चेतावनी◾PM मोदी ने UP सहित चार राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की बात, कोविड प्रबंधन पर हुई चर्चा◾दिल्ली में एक हफ्ते के लिए बढ़ाया गया लॉकडाउन, अब 24 मई सुबह 5 बजे तक रहेंगी पाबंदियां◾चक्रवाती तूफान ''तौकते'' गोवा के तटीय क्षेत्र से टकराया, शाह ने की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक ◾कोरोना को मात देने के लिए अब बनेगी स्पूतनिक v की सिंगल-डोज वैक्सीन, भारत में जल्द आएगा टीके का लाइट वर्जन◾हैदराबाद पहुंचा रुसी वैक्सीन SPUTNIK V का दूसरा जत्था, कोरोना महामारी के नए वेरिएंट पर भी प्रभावी◾देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में गिरावट, पिछले 24 घंटे में 3.11 लाख केस, 4077 मरीजों ने तोड़ा दम◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भारत निश्चित रूप से विश्वसनीय परमाणु प्रतिरोधक क्षमता बनाए रखने में सक्षम: विदेश सचिव

भारत के विदेश सचिव हर्षवर्द्धन श्रृंगला ने सोमवार को कहा कि भारत एक जिम्मेदार परमाणु हथियार सम्पन्न देश के तौर पर, परमाणु हथियारों का पहले उपयोग नहीं करने के रूख के साथ न्यूनतम विश्वसनीय परमाणु प्रतिरोधक क्षमता बनाये रखने को प्रतिबद्ध है। उन्होंने यह भी कहा कि भारत, परमाणु हथियार रहित देशों के खिलाफ इसका उपयोग नहीं करने को प्रतिबद्ध है। निरस्त्रीकरण के विषय पर उच्च स्तरीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए श्रृंगला ने कहा कि भारत सार्वभौमिक, भेदभाव रहित, पुष्टि योग्य परमाणु निरस्त्रीकरण के लक्ष्य के लिये भी प्रतिबद्ध है।

उन्होंने कहा, ‘‘ हमें अपने मतभेदों से ऊपर उठकर सामूहिक लक्ष्य को हासिल करने के लिये सच्चे इरादे एवं राजनीतिक इच्छाशक्ति का प्रदर्शन करने की जरूरत है। ’’विदेश सचिव ने कहा कि निरस्त्रीकरण पर सम्मेलन के एजेंडे में निरस्त्रीकरण से जुड़ी महत्वपूर्ण चुनौतियों और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के समक्ष पेश आने वाली अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा का विषय जुड़ा है। श्रृंगला ने कहा कि भारत समग्र एवं संतुलित कार्यक्रम की वकालत करता है ताकि वैश्विक महत्व के इस विषय पर वार्ता शुरू की जा सके। उन्होंने कहा, ‘‘ भारत, भेदभाव रहित, पुष्टि योग्य परमाणु निरस्त्रीकरण के सार्वभौम लक्ष्य के लिये भी प्रतिबद्ध है । हम चरणबद्ध प्रक्रिया के तहत परमाणु हथियारों को पूरी तरह समाप्त करने की बात करते हैं जो वर्ष 2007 के हमारे परमाणु निरस्त्रीकरण पर कामकाजी पत्र में उल्लिखित है । ’’

श्रंगला ने कहा कि भारत उस कामकाजी दस्तावेज में वर्णित कदमों को आगे बढ़ाने का आह्वान करता है जिसमें समग्र परमाणु हथियार निरस्त्रीकरण संधि पर सम्मेलन को लेकर वार्ता का विषय शामिल है।उन्होंने कहा कि भारत ने विखंडनीय सामग्री निषेध संधि (एफएमसीटी) पर निरस्त्रीकरण सम्मेलन वार्ता तत्काल शुरू करने का समर्थन किया है। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं भारत के, निरस्त्रीकरण सम्मेलन में एफएमसीटी वार्ता में हिस्सा लेने के लिए तैयार होने की बात को दोहराता हूं । ’’

विदेश सचिव ने कहा कि भारत एक जिम्मेदारी परमाणु हथियार सम्पन्न देश के तौर पर पहले उपयोग नहीं करने के रूख के साथ न्यूनतम विश्वसनीय प्रतिरोधक बनाये रखने को प्रतिबद्ध है । उन्होंने यह भी कहा कि भारत, परमाणु हथियार नहीं रखने वाले देशों के खिलाफ भी इसका उपयोग नहीं करने को प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि बाह्य अंतरिक्ष में हथियारों की दौड़ को रोकने का विषय निरस्त्रीकरण सम्मेलन का एक और बहुप्रतिक्षित विषय है और भारत इस विषय पर जल्द बातचीत शुरू होने को लेकर आशान्वित है। इस सम्मेलन का यह उच्च स्तरीय खंड ब्राजील की अध्यक्षता में आयोजित हुआ। श्रृंगला ने अपने संबोधन के दौरान कोविड-19 महामारी और उसके कारण उत्पन्न स्थितियों का जिक्र किया और ऐसे समय में वैश्विक एकजुटता और बहुपक्षीयता को मजबूत बनाने पर जोर दिया। 

उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को भारत निर्मित टीका मानवता को उपलब्ध कराने का वादा पूरा किया है। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के रूप में 2021-22 के दौरान भारत महत्वपूर्ण योगदान कर रहा है। विदेश सचिव ने रूस और अमेरिका के बीच नयी स्टार्ट संधि के विस्तार का स्वागत किया।