BREAKING NEWS

राजधानी में फूटा कोरोना बम, 24 घंटे में आए 19,486 नये मामले और 141 कि हुई मौत◾पश्चिम बंगाल चुनाव : EC ने शाम सात से सुबह 10 बजे तक रैलियों, जनसभाओं पर लगाया प्रतिबंध ◾कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए CICSE ने 10वीं,12वीं की परीक्षा टाली ◾ममता संविधान की रक्षा करने में विफल रहीं, केंद्रीय बलों पर लगा रही है आरोप : नड्डा ◾वीकेंड कर्फ्यू के दौरान ज्यादा अंतराल पर चलेंगी दिल्ली मेट्रो ट्रेनें, इन लाइन्स पर आधे घंटे का होगा इंतजार ◾भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी जल्द आएगा भारत, प्रत्यर्पण की मांग को ब्रिटेन सरकार ने दी मंजूरी◾अदार पूनावाला की अमेरिका से अपील, टीका उत्पादन बढ़ाने के लिए बाइडन हटाए कच्चे माल पर लगा निर्यात प्रतिबंध◾उत्तर प्रदेश में कोविड-19 की बेकाबू रफ़्तार, रिकॉर्ड 27,426 नये मामले, 103 और मरीजों की मौत ◾बंगाल में कोरोना मामलों में बढ़ोतरी के लिए BJP जिम्मेदार, बाहरी लोगों के आने पर रोक लगाए EC : ममता बनर्जी ◾बंगाल में समाज को बांटने का रचा जाता है षड्यंत्र, ममता जी सहित TMC के सभी नेता दलित विरोधी : नड्डा ◾देश में ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर PM मोदी ने की समीक्षा, राज्यों के साथ सहयोग सुनिश्चित करने के दिए निर्देश◾बंगाल में पांचवें चरण में 45 सीटों पर कल होगा मतदान, सुरक्षा के मद्देनजर केन्द्रीय बलों की 853 कम्पनियां तैनात◾यूपी में हर रविवार को होगा कंप्लीट लॉकडाउन, बिना मास्क पकड़े जाने पर 1000 रू जुर्माना : CM योगी ◾अमित शाह ने राहुल को बताया ‘पर्यटक राजनेता’, कहा- दीदी मतुआ समुदाय को नहीं देगी नागरिकता◾डॉ. हर्षवर्धन ने AIIMS का किया दौरा, कहा- कोरोना जंग जीतने के लिए किसी चीज की नहीं है कमी ◾कोरोना से जंग जीतने के लिए केंद्र ने निकाला उपाय, राज्यों को UK मॉडल पर काम करने की दी सलाह ◾केंद्र की कोरोना रणनीति पर राहुल का तंज, 'तुगलकी लॉकडाउन लगाओ-घंटी बजाओ-प्रभु के गुण गाओ'◾रणदीप सुरजेवाला और जिग्नेश मेवाणी कोरोना पॉजिटिव, दिग्विजय सिंह भी हुए संक्रमित◾EC की आज सर्वदलीय बैठक, चुनावी रैलियों में कोविड नियमों के पालन पर होगी चर्चा◾देश में फिर टूटे कोरोना के सारे रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटे में 2 लाख 16 हजार केस, 1185 लोगों की मौत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भारत पेरिस समझौते के लक्ष्यों को हासिल करने की दिशा में सही रास्ते पर : पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को सतत विकास की दिशा में लीक से हटकर काम किए जाने की वकालत करते हुए कहा कि इसके लक्ष्यों को आगे बढ़ाने में भारत अपनी भूमिका निभाने के लिए तैयार है। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत पेरिस समझौते के लक्ष्यों को हासिल करने की दिशा में सही रास्ते पर है। 

वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्‍यम से विश्‍व सतत विकास शिखर सम्‍मेलन-2021 का उद्घाटन करने के बाद अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि आने वाले समय में मानवता की प्रगति दो बातों से निर्धारित होगी। उन्होंने कहा, ‘‘लोगों का स्वास्थ्य और पृथ्वी की सेहत। ये दोनों आपस में जुड़े हुए है। मोदी ने कहा कि लोगों के स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए लगातार चर्चा चल रही है लेकिन यहां पृथ्वी की सेहत पर चर्चा के लिए सभी एकत्रित हुए हैं। 

उन्होंने कहा, ‘‘इस चुनौती की व्यापकता का अंदाजा सभी को है लेकिन इसका समाधान हम पारम्परिक तरीकों से नहीं कर सकते। इसके लिए हमें लीक से हटकर सोचना होगा और सतत विकास की दिशा में काम करना होगा।’’ जलवायु न्याय को जलवायु परिवर्तन से लड़ाई की राह बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इसके मूल में बड़े दिल वाले होने का सिद्धांत है। 

उन्होंने कहा, ‘‘पर्यावरणीय न्याय का मतलब यह भी है कि विकासशील देशों को विकास करने का अवसर दिया जाए।’’ पेरिस समझौते का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि भारत इसके लक्ष्यों को हासिल करने के लिए सही राह पर है। उन्होंने कहा, ‘‘साझा प्रयासों से ही सतत विकास के लक्ष्यों को हासिल किया जा सकता है और इन लक्ष्यों को आगे बढ़ाने में भारत अपनी भूमिका के लिए तैयार है।’’ 

प्रधानमंत्री ने कहा कि प्राकृतिक आपदाएं गरीबों को सबसे ज्यादा प्रभावित करती हैं। उन्होंने कहा कि आठ करोड़ से ज्यादा घरों में उज्जवला योजना के जरिए स्वच्छ ईंधन पहुंचा और भारत इथेनॉल के इस्तेमाल को भी बढ़ा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत ने 2030 तक 450 गीगावॉट का अक्षय उर्जा उत्पादन का लक्ष्य रखा है। 

इस शिखर सम्‍मेलन का मुख्‍य विषय ‘‘सबके लिए सुरक्षित और संरक्षित पर्यावरण और हमारा साझा भविष्‍य’’ है। नई दिल्‍ली स्थित द एनर्जी एंड रिसोर्सेज इंस्टीटयूट (टेरी) की ओर से आयोजित यह 20वां शिखर सम्‍मेलन है, जिसमें विश्‍व में सतत विकास को लेकर दो दिनों तक चर्चा होगी। 

इस शिखर सम्मेलन को वन एवं पर्यावरण मंत्रालय, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय तथा पृथ्‍वी विज्ञान मंत्रालय के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है। केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर भी इस कार्यक्रम में शरीक हुए। 

गुयाना के राष्‍ट्रपति मोहम्‍मद इरफान अली, पापुआ न्‍यू गिनी के प्रधानमंत्री जेम्‍स मारापे, मालदीव की पीपुल्‍स मजलिस के अध्‍यक्ष मोहम्‍मद नशीद, संयुक्‍त राष्‍ट्र की उपमहासचिव अमीना जे मोहम्‍मद भी इस सम्मेलन में शामिल हुए।