BREAKING NEWS

हिंदू-मुसलमान के बीच कटुता के लिए वामपंथी और कांग्रेस जिम्मेदार : CM हिमंत बिस्वा सरमा◾ओमीक्रोन खतरे के बीच दिल्ली पुलिस अलर्ट, सुरक्षा को लेकर दिए कई आदेश◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने 6 राज्यों को लिखा पत्र, कोविड संक्रमण पर अंकुश लगाने का किया आग्रह ◾Delhi Weather Update : धुंध की वजह से कम हुई विज़िबिलिटी, आज शाम तक बारिश के आसार, बढ़ेगी ठंड◾मथुरा : 6 दिसंबर से पहले प्रशासन की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, छावनी में तब्दील हुई कृष्ण नगरी◾चीन की बढ़ती क्षमताओं के परिणाम ‘गहरे’ हैं : जयशंकर◾जो ‘नया कश्मीर’ दिखाया जा रहा है, वह वास्तविकता नहीं है : महबूबा◾मछुआरों की चिंताओं और मत्स्यपालन क्षेत्र से जुड़े मुद्दों को राष्ट्रीय स्तर पर उठाएगी कांग्रेस : राहुल गांधी◾ सिद्धू ने फिर अलापा PAK राग! बोले- दोनो देशों के बीच फिर शुरू हो व्यापार◾भारत पर ओमीक्रॉन का वार, कर्नाटक-गुजरात के बाद अब महाराष्ट्र में भी दी दस्तक, देश में अब तक चार संक्रमित ◾गोवा में बोले केजरीवाल- सभी दैवीय ताकतें एकजुट हो रही हैं और इस बार कुछ अच्छा होगा◾मध्य प्रदेश में तीन चरणों में होंगे पंचायत चुनाव, EC ने तारीखों का किया ऐलान ◾कल्याण और विकास के उद्देश्यों के बीच तालमेल बिठाने पर व्यापक बातचीत हो: उपराष्ट्रपति◾वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का हआ निधन, दिल्ली के अपोलो अस्पताल में थे भर्ती◾ MSP और केस वापसी पर SKM ने लगाई इन पांच नामों पर मुहर, 7 को फिर होगी बैठक◾ IND vs NZ: एजाज के ऐतिहासिक प्रदर्शन पर भारी पड़े भारतीय गेंदबाज, न्यूजीलैंड की पारी 62 रन पर सिमटी◾भारत में 'Omicron' का तीसरा मामला, साउथ अफ्रीका से जामनगर लौटा शख्स संक्रमित ◾‘बूस्टर’ खुराक की बजाय वैक्सीन की दोनों डोज देने पर अधिक ध्यान देने की जरूरत, विशेषज्ञों ने दी राय◾देहरादून पहुंचे PM मोदी ने कई विकास योजनाओं का किया शिलान्यास व लोकार्पण, बोले- पिछली सरकारों के घोटालों की कर रहे भरपाई ◾ मुंबई टेस्ट IND vs NZ - एजाज पटेल ने 10 विकेट लेकर रचा इतिहास, भारत के पहली पारी में 325 रन ◾

ISRO ने ऊंचाई पर वायु में अंतर एवं प्लाज्मा डायनेमिक्स के अध्ययन के लिए साउंडिंग रॉकेट प्रक्षेपित किया

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने ऊंचाई के साथ हवाओं में आने वाले अंतर और प्लाज्मा गतिकी (डायनेमिक्स) का अध्ययन करने के लिए श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से एक परिज्ञापी रॉकेट (साउंडिंग रॉकेट) प्रक्षेपित किया है। 

इसरो के बेंगलुरु स्थित मुख्यालय के मुताबिक , संगठन ने परिज्ञापी रॉकेटों की श्रृंखला विकसित की है जिसे रोहिणी श्रृंखला कहते हैं और इनमें से आरएच-200, आरएच-300 और आरएच-560 महत्वपूर्ण हैं। ये नाम इन रॉकेटों के व्यास को मिलीमीटर में इंगित करते हैं। 

इसरो ने ट्वीट किया, ‘‘ आज (शुक्रवार को) श्रीहरिकोटा स्थित एसडीएससी एसएचएआर से परिज्ञापी रॉकेट (आरएच-560) को ऊंचाई के साथ हवा और प्लाज्मा गतिकी में आने वाले अंतर का अध्ययन करने के लिए प्रक्षेपित किया गया।’’ 

परिज्ञापी राकेट एक या दो चरण वाले ठोस प्रणोदक राकेट हैं जिनका अंतरिक्ष अनुसंधान के लिए और ऊपरी वायुमंडलीय क्षेत्रों के अन्‍वेषण हेतु उपयोग किया जाता है। परिज्ञापी रॉकेट, प्रक्षेपण यान और उपग्रह की उप प्रणाली आदि के परीक्षण के लिए भी वहनीय मंच उपलब्ध कराते हैं।