BREAKING NEWS

हाथरस दुष्कर्म मामले पर विजयवर्गीय बोले - ‘‘UP में कभी भी पलट सकती है कार’’ ◾हाथरस गैंगरेप मामला : लड़की के साथ जो हैवानियत हुई, वो हमारे समाज पर कलंक - सोनिया◾KKR vs RR ( IPL 2020 ) : केकेआर की ‘युवा ब्रिगेड’ ने दिलाई रॉयल्स पर शाही जीत, राजस्थान को 37 रन से हराया◾पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा - दोनों देशों ने छठे दौर की वार्ता के नतीजों का सकारात्मक मूल्यांकन किया◾बंगाल BJP के वरिष्ठ नेता 1 अक्टूबर को करेंगे अमित शाह से मुलाकात◾सोमनाथ ट्रस्ट की बैठक में शामिल हुए PM मोदी◾बाबरी विध्वंस फैसले पर जमीयत का सवाल- जब मस्जिद तोड़ी गई तो फिर सब निर्दोष कैसे, क्या यह न्याय है?◾अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स : 15 अक्टूबर से सिनेमा हाल, स्विमिंग पूल और मनोरंजन पार्क खोलने की अनुमति ◾अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स : 15 अक्टूबर से सिनेमा हाल, स्विमिंग पूल और मनोरंजन पार्क खोलने की अनुमति ◾बाबरी विध्वंस मामला : सीबीआई कानूनी विभाग से विमर्श के बाद करेगी फैसले को चुनौती देने का निर्णय ◾मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मस्थान परिसर से नहीं हटेगी शाही ईदगाह, अदालत में खारिज हुई याचिका◾हाथरस बलात्कार कांड: CM योगी ने युवती के पिता से की बात , 25 लाख रुपए, घर और नौकरी का भी ऐलान◾आईपीएल-13 RR vs KKR : राजस्थान ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का किया फैसला ◾हाथरस घटना : सीएम योगी पर बरसी प्रियंका गांधी, पूछा - कैसे मुख्यमंत्री हैं आप, इतनी अमानवीयता◾दिल्लीवासियों के लिए राहत : कोरोना के मद्देनजर पानी के बिल पर 25 से लेकर 100 फीसदी तक की छूट ◾हाथरस घटना को लेकर संजय राउत ने दागा सवाल - क्या न्याय सिर्फ अभिनेत्री के लिए मांगा जाता है ?◾भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में सीमा गतिरोध पर एक और दौर की वार्ता हुई ◾जेपी नड्डा ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए फडणवीस को किया चुनाव प्रभारी नियुक्त ◾बाबरी विध्वंस पर अदालत के फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती देगा मुस्लिम पक्ष : जफरयाब जिलानी ◾बाबरी विध्वंस पर विशेष अदालत का फैसला 'तर्कविहीन निर्णय', उच्च अदालत में अपील दायर होनी चाहिए : कांग्रेस ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

करीबियों पर रेड को लेकर बोले कमलनाथ- विपक्ष को डराने की कोशिश

आयकर विभाग की टीमों द्वारा रविवार तड़के मध्य प्रदेश में मारे गए छापों पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि हार सामने नजर आ रही है, इसलिए विपक्ष को डराने इस तरह की कार्रवाई की जाने लगी है। राज्य में आयकर विभाग द्वारा मारे गए छापों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ की ओर से एक बयान जारी किया गया है।

इसमें कहा गया है कि आयकर छापो की सारी स्थिति अभी स्पष्ट नहीं हुई है। सारी स्थिति स्पष्ट होने पर ही इस पर कुछ कहना उचित होगा। लेकिन पूरा देश जानता है कि संवैधानिक संस्थाओं का किस तरह व किन लोगों के खिलाफ एवं कैसे इस्तेमाल ये लोग पिछले पांच वर्षो में करते आए हैं।

 

कमलनाथ का आरोप है कि संस्थाओं का उपयोग कर डराने का काम करते हैं। जब इनके पास विकास पर अपने काम पर कुछ कहने को बोलने को नहीं बचता है तो ये विरोधियों के खिलाफ इस तरह के हथकंडे अपनाते हैं। जब लोकसभा चुनाव में भाजपा को अपनी हार सामने नजर आने लगी है तो इस तरह की कार्रवाई जानबूझकर चुनाव में लाभ लेने के लिए की जाने लगी है।

\"raid

कमलनाथ के करीबियों के ठिकानों पर IT की छापेमारी, बड़ी मात्रा में अवैध नकदी बरामद

कमलनाथ ने आगे कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में भी इन्होंने इसी तरह के सभी हथकंडे अपनाए थे। कई राजनीतिक दल व कई राज्य पिछले पांच वर्ष में इनके द्वारा अपनाए गए हथकंडों के गवाह हैं। हम भी इसके लिए तैयार थे। हर चीज की निष्पक्ष जांच हो। इस तरह के हथकंडों से हमें कोई फर्क नहीं पड़ता है।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा, \"इन घटनाओं से विकास के पथ पर हमारे कदम रुकेंगे नहीं, डिगेंगे नहीं, हम डरेंगे नहीं, बल्कि और तेजी से विकास के पथ पर हम अग्रसर होंगे। प्रदेश की जनता सब सच्चाई जानती है। लोकसभा चुनाव में प्रदेश की जनता इन हरकतों का मुंहतोड़ जवाब देगी।\"

आयकर विभाग की टीमों ने रविवार तड़के मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी (विशेष कार्याधिकारी) प्रवीण कक्कड़ तथा अन्य लोगों के भोपाल और इंदौर स्थित निजी आवास और अन्य ठिकानों पर छापे मारे हैं। छापों में बड़ी मात्रा में नकदी मिलने की बात सामने आ रही है।