प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सियासी प्रतिद्वंद्विता स्वतंत्रता दिवस पर आसमान में नजर आएगी जब दोनों नेताओं के चित्रों वाली पतंगें एक दूसरे से जम कर पेंच लड़ाने के लिए कभी तो ऊंची उड़ान भरेंगीं और कभी अचानक गोता लगाएंगी। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले यह आखिरी स्वतंत्रता दिवस होगा।

लिहाजा देश के गर्म सियासी तापमान का खुमार पतंगों पर भी पड़ा है। मोदी और राहुल के चित्र वाली पतंगें बाजार में छाई हुई हैं। देश में, खासकर उत्तर भारत में 15 अगस्त को पतंगबाजी की रवायत रही है। इस दिन लोग अपने घरों की छतों और पार्कों से दिन भर पतंगबाजी करते हैं।

kites of rahul and modi

राजनेताओं के अलावा बाजार में सरकार की योजनाओं की, बॉलीवुड अभिनेता एवं अभिनेत्रियों, फिल्मों, कार्टूनों, तिरंगा आदि की तस्वीर वाली पतंगें भी हैं। पुरानी दिल्ली के लाल कुआं में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर हर साल पतंग बाजार लगता है, जहां देश के अलग-अलग हिस्सों से पतंग विक्रेता आते हैं।

BJP के खिलाफ महागठबंधन, दुल्हे के बिना बैंड, बाजा, बारात की तरह : नकवी

यहां पतंग का कारोबार करने वाले मोहम्मद शब्बीर ने बताया कि कई साल बाद, इस दफा नेताओं की तस्वीर वाली पतंगें बाजार में आई हैं। इससे पहले 2014 में मोदी-ओबामा और वसुंधरा की तस्वीर वाली पतंगें आई थीं।

obama_modi_kites

बीते कुछ सालों से सिर्फ फिल्मों और सिने जगत के कलाकारों के चित्रों वाली पतंगें ही बाजार में आ रही थीं। उन्होंने बताया कि बाजार में उम्मीद से विपरीत दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तस्वीर वाली पतंग नहीं है।

‘किस में कितना है दम’

शब्बीर ने बताया कि इस बार प्रधानमंत्री मोदी और राहुल गांधी के चित्रों वाली दो तरह की पतंगे ही अब तक बाजार में आई हैं। पहली पतंग में ‘मोदी और राहुल’ की तस्वीर है जिस पर अंग्रेजी में ‘वी’ और हिन्दी में ‘किस में कितना है दम’ लिखा है। वहीं दूसरी पतंग पर भी मोदी और राहुल की फोटो है और उस पर बीच में हिन्दी में ‘महासंग्राम’ लिखा है।

kites of modi and rahul

 

उन्होंने बताया कि एक पतंग पर सिर्फ मोदी की तस्वीर के साथ लाल किले और तिरंगे की तस्वीर है और इस पर हिन्दी में ‘नई सोच, नई उम्मीद’ लिखा है। पतंग कारोबारी हिमांशु गुप्ता ने बताया कि जिस तरह का माहौल देश में होता है उसी तरह की पतंगें बाजार में आती हैं। अगले साल लोकसभा चुनाव होने हैं, इसलिए इस बार मोदी और राहुल गांधी की तस्वीर वाली नई पतंगें आई हैं। इसके अलावा ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का नारा लिखी पतंगें भी है।

kites of modi

उन्होंने बताया कि मोदी और राहुल गांधी की तस्वीर वाली बड़ी पतंग की कीमत 12 रुपये है जबकि छोटी पतंग पांच रूपये की है। अन्य पतंग व्यापारी मोहम्मद आमिर ने बताया कि बाजार में, सलमान खान, आमिर खान, शाहरूख खान, दीपिका पाडुकोण, कैटरीना कैफ, प्रियंका चोपड़ा, करीना कपूर आदि के चित्रों वाली पतंगें भी हैं। उन्होंने बताया कि बच्चों के लिए कार्टून पतंगें हैं जैसे छोटा भीम, डोरीमोन, शिजुका आदि के चित्र वाली पतंगें हैं।

लोकसभा चुनाव 2019 : कांग्रेस-सपा-बसपा हुए मोदी के खिलाफ एक जुट

दुकानदार ने बताया कि पतंग उड़ाने के लिए दो तरह की डोर इस्तेमाल की जाती है। एक डोर सादी, सफेद रंग की होती है जिसमें कुछ नहीं लगा होता। जबकि पतंगों को काटने के लिए या पेंच लड़ाने के लिए सादी डोर में आगे मांझा लगाया जाता है। मांझा बरेली का अच्छा होता है । बाजार में अलग अगल गुणवत्ता और किस्म का मांझा मौजूद है। इसकी एक रील (करीब 900 मीटर डोर की) चरखी 70 रुपये से 150 रुपये में मिल रही है।