BREAKING NEWS

ममता बनर्जी पर हमलावर हुए BJP विधायक सुरेंद्र सिंह, बोले- होगा चिदंबरम जैसा हश्र◾International Day of Democracy: ममता का मोदी सरकार पर वार, आज के दौर को बताया 'सुपर इमरजेंसी'◾इमरान खान ने माना, भारत से हुआ युद्ध तो हारेगा पाकिस्तान◾मंत्रियों के अटपटे बयानों से अर्थव्यवस्था का कल्याण नहीं होगा : यशवंत सिन्हा◾अर्थव्यवस्था में सुस्ती पर बोले नितिन गडकरी - मुश्किल वक्त है बीत जाएगा◾शिवपाल यादव की कमजोरी में खुद की मजबूती देख रही समाजवादी पार्टी◾चिन्मयानंद मामला : पीड़िता ने एसआईटी को सौंपे 43 वीडियो, स्वामी को बताया 'ब्लैकमेलर'◾हरियाणा के लिए कांग्रेस ने गठित की स्क्रीनिंग कमेटी ◾काशी, मथुरा में मस्जिद हटाने के लिए दी जाएगी अलग जमीन : स्वामी ◾सारदा मामला : कोलकाता के पूर्व पुलिस आयुक्त CBI के समक्ष नहीं हुए पेश◾कांग्रेस 2 अक्टूबर को करेगी पदयात्रा◾अमित शाह 18 सितंबर को जामताड़ा से रघुवर दास की जनआशीर्वाद यात्रा करेंगे शुरू◾PAK ने आतंकवाद को नहीं रोका तो उसके टुकड़े होने से कोई नहीं रोक सकता : राजनाथ ◾मॉब लिंचिंग : NCP ने मोदी सरकार पर साधा निशाना , कहा - ऐसी घटना पहले कभी सुनाई नहीं देती थी लेकिन अब अक्सर सुन सकते हैं◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्विट्जरलैंड में महात्मा गांधी की आवक्ष प्रतिमा का किया अनावरण ◾मारा गया ओसामा बिन लादेन का बेटा हमजा लादेन, बुलाया जाता था 'क्राउन ऑफ टेरर', 7 करोड़ का था इनाम◾प्रधानमंत्री ने कश्मीर से 370 हटाकर किया आतंकवाद का खात्मा : CM योगी◾TOP 20 NEWS 14 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾कांग्रेस ने BJP पर साधा निशाना : अर्थव्यवस्था के संकट पर बेखबर हैं निर्मला, सरकार के पास कोई दृष्टि नहीं◾ओड-इवन पर मनोज तिवारी ने CM केजरीवाल को लिखा पत्र, कहा- कृपया दिल्ली की जनता को बख्श दें◾

देश

लोकसभा चुनाव 2019 : प्रज्ञा ठाकुर, आजम खान और मुनमुन सेन जैसे नेता अपने बयानों से सुर्खियों में छाये रहे

लोकसभा चुनाव 2019 के प्रचार के दौरान कुछ ऐसे उम्मीदवार भी सुर्खियों में बने रहे जिन्होंने चुनावी रैलियों में या सोशल मीडिया पोस्टों या मीडिया के सवालों के जवाब में विवादास्पद टिप्पणियां कीं। पूर्व से पश्चिम तक और उत्तर से दक्षिण तक कई उम्मीदवार विभिन्न मुद्दों पर अपनी टिप्पणियों से विवादास्पद बने रहे।

समाजवादी पार्टी के आजम खान और भाजपा के गिरिराज सिंह जैसे राजनेता अपने बड़बोलेपन और भाजपा की प्रज्ञा सिंह ठाकुर और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कन्हैया कुमार जैसे अन्य नेता अपने आपत्तिजनक बयानों से लोगों का ध्यान आकर्षित करते रहे।

Sadhvi Pragya Thakur

वर्ष 2008 के मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी प्रज्ञा ठाकुर भोपाल लोकसभा सीट से चुनाव लड़ीं और उन्होंने पिछले सप्ताह महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को एक ‘‘देशभक्त’’ बताकर सात चरण के लोकसभा चुनाव के अंतिम दौर में एक तीखी बहस छेड़ दी।

कांग्रेस ने इस पर आरोप लगाया था कि ‘‘शहीदों का अपमान करना भाजपा के डीएनए में है।’’ हालांकि बाद में ठाकुर ने अपने बयान को लेकर माफी मांगी थी। उन्होंने 26/11 हमले के शहीद आईपीएस अधिकारी हेमंत करकरे पर दिये बयान पर भी माफी मांगी थी। ठाकुर ने कहा था कि उन्हें प्रताड़ित करने और विस्फोट मामले में उन्हें फर्जी तरीके से फंसाने के लिए उन्होंने करकरे को शाप दिया था।

लोकसभा चुनाव 2019 : हिन्दी भाषी राज्यों की चाभी से खुलेगा केंद्र में आगामी सत्ता का द्वार !

उनके चुनावी प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के दिग्विजय सिंह भी विवादों में बने रहने के लिए जाने जाते है। इस वर्ष मार्च में जब देश चुनाव की तैयारी कर रहा था, दिग्विजय ने कहा कि पुलवामा हमला एक ‘‘दुर्घटना’’ थी। उत्तर प्रदेश में सपा के नेता आजम खान ने रामपुर सीट पर अपनी प्रतिद्वंद्वी अभिनेत्री-राजनीतिज्ञ जयाप्रदा के खिलाफ अश्लील टिप्पणी कर व्यापक स्तर पर लोगों की नाराजगी का सामना किया था।

digvijay singh

आजम खान ने उनका नाम लिये बगैर अपनी चुनाव रैली में कहा था, ‘‘रामपुर वालों, उत्तर प्रदेश वालों, हिन्दुस्तान वालों, उसकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लग गये। मैं 17 दिनों में पहचान गया कि वह खाकी रंग का अंडरवियर पहनती है।’’ इस बयान के लिए खान के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई।

बिहार में वैचारिक रूप से एक दूसरे के विरोधी माने जाने वाले दो उम्मीदवारों गिरिराज सिंह और कन्हैया कुमार के बीच बेगूसराय में तनातनी देखने को मिली। गिरिराज ने एक रैली में मुस्लिम समुदाय पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘जो वंदेमातरम नहीं कह सकते या मातृभूमि का सम्मान नहीं कर सकते है उन्हें माफ नहीं किया जायेगा।"

उनके प्रतिद्वंद्वी और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार ने ट्विटर पर कहा, "भाजपा के लोगों के लिए गोडसे एक देशभक्त हैं। उनसे अपेक्षा की जाती है कि वे हमारे जैसे लोगों को देशद्रोही कहेंगे। भगवान का शुक्र है कि भाजपा हमें देशभक्त नहीं मानती है।" दक्षिण में, कर्नाटक में दक्षिण कन्नड़ से मौजूदा सांसद नलिन कुमार कतील भी गोडसे विवाद में कूदे थे।

giriraj_kanhaiya

सटीक नहीं होता लोकसभा चुनाव का एग्जिट पोल, जानिए पिछले ट्रैक रिकॉर्ड !

उन्होंने कहा था, "गोडसे ने एक को मारा, मुम्बई हमले के दोषी अजमल कसाब ने 72 को, राजीव गांधी ने 17,000 लोगों को मारा। आप अंदाजा लगा सकते है कि इसमें कौन अधिक निर्दयी है।" हालांकि बाद में उन्होंने अपना बयान वापस ले लिया था। भाजपा के युवा नेता और कर्नाटक की बेंगलुरू दक्षिण सीट से चुनाव लड़े तेजस्वी सूर्या ने भी पिछले लगभग एक वर्ष में कई विवादित बयान दिये और इनमें से कुछ उन्होंने वापस लिये और कुछ को उन्होंने हटा दिया।

आसनसोल संसदीय सीट से तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार मुनमुन सेन से मतदान दिवस पर संसदीय क्षेत्र में हिंसा के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने बड़े हल्के अंदाज में मीडिया से कहा, "उन्होंने मुझे बेड टी बहुत देर से दी, इसलिए मैं बहुत देर से उठी। मैं क्या कह सकती हूँ? मैं वास्तव में नहीं जानती।"

गुरदासपुर सीट से भाजपा उम्मीदवार और बॉलीवुड अभिनेता सनी देओल ने भी इसी तरह का जवाब दिया था जब उनसे बालाकोट स्ट्राइक के बारे में पूछा गया था। उन्होंने कहा था कि वह ज्यादा कुछ नहीं जानते है और केवल लोगों की सेवा करना चाहते है। लोकसभा चुनाव के लिए मतगणना 23 मई को होगी।