BREAKING NEWS

भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾महाराष्ट्र : शिवसेना का समर्थन करना है या नहीं, इस पर राकांपा से और बात करेगी कांग्रेस ◾महाराष्ट्र : राज्यपाल ने दिया शिवसेना को झटका, और वक्त देने से किया इनकार◾CM गहलोत, CM बघेल ने रिसॉर्ट पहुंचकर महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित विधायकों से मुलाकात की ◾दोडामार्ग जमीन सौदे को लेकर आरोपों पर स्थिति स्पष्ट करें गोवा CM : दिग्विजय सिंह ◾सरकार गठन फैसले से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती◾महाराष्ट्र: सरकार गठन में उद्धव ठाकरे को सबसे बड़ी परीक्षा का करना पड़ेगा सामना !◾महाराष्ट्र गतिरोध: उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से की मुलाकात, सरकार गठन के लिए NCP का मांगा समर्थन ◾अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा, बोले- महाराष्ट्र में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले नवाब मलिक- कांग्रेस के साथ सहमति बना कर ही NCP लेगी फैसला◾CWC की बैठक खत्म, महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर शाम 4 बजे होगा फैसला◾कांग्रेस का महाराष्ट्र पर मंथन, संजय निरुपम ने जल्द चुनाव की जताई आशंका◾महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर कांग्रेस-NCP ने नहीं खोले पत्ते, प्रफुल्ल पटेल ने दिया ये बयान◾BJP अगर वादा पूरा करने को तैयार नहीं, तो गठबंधन में बने रहने का कोई मतलब नहीं : संजय राउत◾महाराष्ट्र सरकार गठन: NCP ने बुलाई कोर कमेटी की बैठक, शरद पवार ने अरविंद के इस्तीफे पर दिया ये बयान ◾संजय राउत का ट्वीट- रास्ते की परवाह करूँगा तो मंजिल बुरा मान जाएगी◾शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने मंत्री पद से इस्तीफे की घोषणा की◾BJP द्वारा सरकार बनाने से इंकार किए जाने के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में उभर रहे नए राजनीतिक समीकरण◾

देश

ममता आज सचिवालय में जूनियर डॉक्टरों से करेंगी बैठक

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सोमवार अपराह्न तीन बजे 14 मेडिकल कॉलेज एवं अस्पतालों के जूनियर डॉक्टरों के 28 प्रतिनिधियों के साथ सचिवालय ‘नबन्ना’ में बैठक करेंगी। 

सुश्री बनर्जी ने आज दिन में ही हड़ताली डॉक्टरों की बाचतीत की पेशकश स्वीकार की थी। बैठक के दौरान मुख्य सचिव,अतिरिक्त प्रधान सचिव और चिकित्सा शिक्षा के निदेशक भी उपस्थित रहेंगे। 

अपने एक साथी चिकित्सक के साथ हुई मारपीट के बाद पिछले छह दिनों से हड़ताल कर रहे जूनियर डाक्टरों ने इससे पहले कहा था कि जहां मुख्यमंत्री तय करेंगी वे उनसे उसी स्थान पर बातचीत करने को तैयार हैं।

डॉक्टरों की ओर से हालांकि मुख्यमंत्री के साथ सचिवालय में बैठक में शामिल होने की पुष्टि नहीं की गयी है। इससे पहले दिन में उन्होंने राजभवन या राज्य सचिवालय में बातचीत करने से इनकार कर दिया था। 

आज सुबह पांच घंटे तक चली जनरल बाडी मीटिंग के बाद जूनियर चिकित्सकों ने कहा था कि वे मुख्यमंत्री से कैमरा सुपरविजन में होने वाली बैठक के पक्ष में हैं और कोई भी बातचीत बंद कमरे में नहीं की जाएगी। उनक कहना था ‘‘ हम सुश्री बनर्जी से कहीं भी मिलने को तैयार हैं लेकिन नबन्ना या राजभवन में नहीं और यह मुलाकात कैमरे के सामने होगी। ’’ 

इससे पहले हड़ताली डॉक्टरों ने शनिवार को नबन्ना में बातचीत के मुख्यमंत्री की ताजी पेशकश को ठुकरा दिया था और उनका कहना था कि सुश्री बनर्जी को एनआरएस में आकर ही बातचीत करनी चाहिए। 

पश्चिम बंगाल में एनआरएस अस्पताल में एक डाक्टर की पिटाई के बाद विरोध स्वरूप हड़ताल पर गए जूनियर डाक्टरों की हड़ताल के छठे दिन मरीजों का हाल बेहाल है। 

इन चिकित्सकों की अमानवीयता का एक पहलू यह भी देखने में सामने आया है कि मिदनापुर में हड़ताल की वजह से उपयुक्त उपचार नहीं मिल पाने के कारण एक नवजात शिशु की मौत हो गयी है। उसके माता-पिता ने बच्चे का शव लेकर इन डॉक्टरों के सामने प्रदर्शन किया लेकिन शायद इसका भी कोई असर उन पर नहीं पड़ा। 

सबसे दुखद बात यह है कि राजधानी दिल्ली के एम्स और सफदरजंग तथा अन्य अस्पतालों के चिकित्सक इन हड़ताली चिकित्सकों के प्रति एकजुटता दिखा रहे हैं। सुश्री बनर्जी ने बार-बार जूनियर डाक्टरों से काम पर लौटने का आग्रह करते हुए कहा था कि उनकी अधिकतर मांगे मान ली गयी हैं। 

सुश्री बनर्जी ने शनिवार को कहा था कि उनकी सरकार हड़ताली डॉक्टरों पर एस्मा नहीं लगाएगी और उनकी अधिकतम मांगें मान ली गयी हैं, इसलिए उन्हें काम पर लौट आना चाहिए। 

सुश्री बनर्जी ने यहां नबन्ना में मुख्य सचिव मलय डे की उपस्थिति में पत्रकारों से कहा,‘‘मैं राज्य में हड़ताली चिकित्सकों पर एस्मा नहीं लगाना चाहती हूं और जूनियर डाक्टरों से काम पर लौटने का आग्रह करती हूं क्योंकि उनकी अधिकतर मांगें मान ली गई हैं।’’