BREAKING NEWS

टारगेट किलिंग पर ओवैसी का फूटा गुस्सा, केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा- पंडितों को सुरक्षा प्रदान करने में विफल रहा◾ Haryana: मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर बोले- विदेशी निवेशकों की पहली पसंद बन रहा है हरियाणा◾Mother Dairy hikes Today: मदर डेयर दूध के भी बढ़े दाम, दो रूपये लीटर की हुई बढ़ोतरी, कल से होगा लागू◾खनन से प्रभावित लोगों की भलाई के लिए बड़ा कदम उठाने जा रही है मोदी सरकार, जानिए पूरी जानकारी ◾ट्रंप की संपत्ति से जुड़ी जानकारी छिपा रहा न्याय विभाग, जांच में नुकसान होने का दिया हवाला ◾Rajasthan: गहलोत का सचिन पायलट पर कटाक्ष, कहा- जुमला बन गया है कार्यकर्ताओं का मान-सम्मान◾जम्मू-कश्मीरः सुरक्षाबलों की मौत पर राष्ट्रपति मुर्मू ने जताया दुख, घायलों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना की ◾Ratan Tata Invests : वरिष्ठ नागरिकों के सहयोग के लिए स्टार्टअप गुडफेलोज में किया निवेश◾कश्मीरी पंडित की हत्या पर उमर अब्दुल्ला सहित कई राजनेताओं ने जताया दुख, जानिए क्या कहा? ◾Amul Milk Price Hiked: देश में महंगाई का कहर! अमूल मिल्क के बढ़े दाम, इतने लीटर महंगा हुआ दूध◾राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने की मुलाकात ◾नीतीश को घेरने के लिए बीजेपी आलाकमान ने बुलाई बैठक, बिहार इकाई के प्रमुख नेता होंगे शामिल ◾WPI मुद्रास्फीति घटकर 13.93 फीसदी, खाद्य वस्तुओं सहित विनिर्मित उत्पादों की कीमतों में बड़ी गिरावट ◾WPI मुद्रास्फीति घटकर 13.93 फीसदी, खाद्य वस्तुओं सहित विनिर्मित उत्पादों की कीमतों में बड़ी गिरावट ◾मुम्बई में बारिश को लेकर मौसम विभाग का बड़ा अलर्ट, 24 घंटे के अंदर होगी झमाझम बारिश ◾Bihar Politics : नीतीश मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार , तेज प्रताप समेत RJD से 16 मंत्री बने ◾गहलोत के अर्धसैनिक बलों के ट्रकों में 'अवैध धन' ले जानें वाले बयान पर बीजेपी का पलटवार, जानिए मामला◾NSE Phone Tapping Case : मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त की जमानत अर्जी पर ED को नोटिस जारी◾J-K News: जम्मू कश्मीर के पहलगाम में दर्दनाक हादसा, 39 जवानों की बस खाई में गिरी, 6 की मौत, जानें स्थिति ◾जम्मू-कश्मीर : आतंकियों ने दो कश्मीरी पंडित भाइयों पर बरसाई गोलियां, एक की मौत, एक घायल◾

CBSE Board Exams 2020 : 10वीं और 12वीं की परीक्षा छात्रों के लिए MHRD मंत्री ने की बड़ी घोषणा

कोविड-19 के मद्देनजर लागू लॉकडाउन के दौरान जो बच्चे अपने गृह जिलों या अन्य प्रदेश में चले गये हैं, उन्हें अधिक परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि सीबीएसई उनकी 10वीं और 12वीं की परीक्षा उन्हीं जिलों मे करवाने का प्रयास कर रही है। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने यह जानकारी दी । 

निशंक ने कहा, ‘‘ कोविड-19 संकट के कारण हजारों बच्चे अपने गृह प्रदेश में चले गए थे। ऐसी स्थिति में बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होने जा रहे विद्यार्थियों की समस्या को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने यह फैसला लिया है कि ऐसे विद्यार्थी बोर्ड परीक्षा अपने गृह जिले में ही दे सकते हैं।’’ 

मंत्री ने कहा कि छात्रों को परीक्षा देने के लिये बोर्ड द्वारा पूर्व में निर्धारित किए गये परीक्षा केंद्र आने की जरूरत नहीं पड़ेगी और इस बारे में छात्रों को अनुरोध पंजीकृत कराने के लिये सीबीएसई रूपरेखा की घोषणा करेगा । 

निशंक ने कहा कि छात्र स्कूल को इस बारे में सूचना दे कि वह किस जनपद में है और कहां से अपनी परीक्षा देना चाहता है। । उन्होंने कहा कि सीबीएसई बोर्ड कोशिश कर रहा है कि उनकी सुविधा के अनुसार परीक्षा की व्यवस्था करे। उन्होंने बताया कि जून के प्रथम सप्ताह में इस बारे में छात्रों को पता चल जायेगा कि उन्हें कहां परीक्षा देनी है? 

गौरतलब है कि कोविड-19 के प्रसार के कारण स्कूल बंद होने और फिर 25 मार्च से राष्ट्रव्यापी लाकडाउन लागू के कारण परीक्षा स्थगित कर दी गई थी और अब यह परीक्षा 1 से 15 जुलाई के बीच होगी । 12वीं कक्षा की लंबित परीक्षा पूरे देश में होगी जबकि 10वीं कक्षा की लंबित परीक्षा केवल उत्तर पूर्व दिल्ली में होगी । 

चीन के साथ तनातनी पर रविशंकर प्रसाद बोले - नरेंद्र मोदी के भारत को कोई भी आंख नहीं दिखा सकता