BREAKING NEWS

CBI ने हेमंत बिस्व सरमा से पूछताछ नहीं की , राजीव कुमार ने कलकत्ता HC से कहा◾कुमारस्वामी सरकार का हटना कर्नाटक की जनता के लिए खुशखबरी : BJP◾लोकतंत्र, ईमानदारी और कर्नाटक की जनता हार गई : राहुल ◾अमित शाह ने कर्नाटक को लेकर पार्टी नेताओं से किया मशविरा◾कुमारस्वामी ने राज्यपाल वजूभाई वाला को सौंपा अपना इस्तीफा ◾BJP के शीर्ष नेताओं से सलाह के बाद राज्यपाल से मिलूंगा : येदियुरप्पा ◾अब 5 राज्यों-केंद्रशासित प्रदेशों में ही बची कांग्रेस की सरकार ◾‘किंगमेकर’ माने जाने वाले कुमारस्वामी बने ‘किंग’, लेकिन राजगद्दी जल्दी ही हाथ से निकली ◾कर्नाटक में गिरी कुमारस्वामी सरकार, विश्वास प्रस्ताव के पक्ष पड़े 99 वोट , BJP पेश करेगी सरकार बनाने का दावा ◾येदियुरप्पा के शपथ लेने के बाद मुम्बई से लौटेंगे कर्नाटक के बागी विधायक◾कश्मीर के बारे में ट्रंप के प्रस्ताव पर भारत की प्रतिक्रिया से चकित हूं : इमरान खान ◾खुशी से पद छोड़ने को तैयार हूं : कुमारस्वामी ◾बोरिस जॉनसन बने ब्रिटेन के नए PM, यूरोपीय संघ से देश को बाहर निकालना होगी बड़ी चुनौती◾कश्मीर मुद्दे पर नरेंद्र मोदी और इमरान खान को मिलकर करनी चाहिए पहल - फारुख अब्दुल्ला◾Top 20 News 23 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾भाजपा ने ट्रंप के दावे पर विपक्ष के रूख को गैर जिम्मेदाराना बताया ◾कर्नाटक संकट: भाजपा ने कुमारस्वामी पर करदाताओं का पैसा बर्बाद करने का लगाया आरोप◾गृह मंत्रालय ने घटाई लालू यादव, चिराग पासवान समेत कई बड़े नेताओं की सुरक्षा◾SC ने NRC प्रकाशन की समय सीमा बढ़ाई, 20 फीसदी नमूनों के पुन: सत्यापन का अनुरोध ठुकराया◾PM मोदी देश को बताएं कि उनकी ट्रंप से क्या बात हुई थी : राहुल गांधी◾

देश

जापान पहुंचे PM मोदी, भारतीय समुदाय ने किया गर्मजोशी से स्वागत

ओसाका : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिये यहां पहुंचने पर जापान में भारतीय समुदाय ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। 


मोदी ने ट्वीट किया, “जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने ओसाका पहुंचा। शानदार स्वागत के लिये भारतीय समुदाय का शुक्रगुजार हूं।” 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह छठा जी-20 शिखर सम्मेलन है। जापान के ओसाका शहर में 28-29 जून को इस शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। आने वाले दिनों में जी-20 शिखर सम्मेलन, द्विपक्षीय और बहुपक्षीय वार्ताएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंतजार कर रहे हैं। वह वैश्विक महत्व के कई मुद्दों पर जोर देने के साथ ही भारत का नजरिया पेश करेंगे।” ओसाका में 28-29 जून को हो रही जी-20 शिखर वार्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छठी शिखर वार्ता है।


विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर कहा, “जी-20 शिखर सम्मेलन में शामिल होने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओसाका के कंसाई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुंचे। अगले तीन दिनों तक, वैश्विक मंच पर भारत के नजरिये को रखने के लिये प्रधानमंत्री कई द्विपक्षीय और बहुपक्षीय चर्चाओं का हिस्सा होंगे।” जापान रवाना होने से पहले अपने बयान में उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण, कृत्रिम बुद्धिमता और आतंकवाद जैसी चुनौतियों से निपटने के लिये साझा प्रयास एजेंडे में प्रमुख होगा। 

मोदी ने कहा, ‘‘शिखर सम्मेलन सुधरे हुए बहुपक्षवाद के लिये हमारे मजबूत समर्थन को फिर से दोहराने और सुदृढ़ करने का महत्वपूर्ण अवसर देगा, जो आज की तेजी से बदलती दुनिया में नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को संरक्षित रखने में बेहद अहम है।’’ उन्होंने कहा कि यह शिखर सम्मेलन बीते पांच सालों में भारत के विकास के मजबूत अनुभवों को साझा करने का भी एक मंच होगा, क्योंकि इसी के आधार पर भारत के लोगों ने इस सरकार को अगले पांच सालों तक प्रगति और स्थायित्व के पथ पर काम जारी रखने के लिये प्रचंड बहुमत दिया। 

पाकिस्तान समेत एशिया-प्रशांत समूह के सभी देशों ने किया भारत का समर्थन

प्रधानमंत्री ने कहा कि ओसाका शिखर सम्मेलन भारत द्वारा 2022 में नयी दिल्ली में जी-20 शिखर सम्मेलन के आयोजन की दिशा में अहम साबित होगा। उन्होंने कहा, ‘‘2022 में हम अपनी आजादी के 75वें वर्ष पर ‘नए भारत’ से उनकी भेंट कराएंगे।’’ मोदी ने कहा कि वह इस सम्मेलन के दौरान दुनिया के प्रमुख नेताओं के साथ भी महत्वपूर्ण द्विपक्षीय और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा करेंगे। 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं कार्यक्रम से इतर रूस, भारत और चीन (आरआईसी) के अगले अनौपचारिक शिखर सम्मेलन की मेजबानी के लिये उत्सुक हूं और इसके साथ ही ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण-अफ्रीका) तथा ‘जय’ (जापान, अमेरिका और भारत) की अगली अनौपचारिक बैठक में भी हिस्सा लूंगा।’’ ट्रंप के अलावा प्रधानमंत्री मोदी चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, रूसी राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन और अन्य नेताओं के साथ भी जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान मिलेंगे।