BREAKING NEWS

CBI ने हेमंत बिस्व सरमा से पूछताछ नहीं की , राजीव कुमार ने कलकत्ता HC से कहा◾कुमारस्वामी सरकार का हटना कर्नाटक की जनता के लिए खुशखबरी : BJP◾लोकतंत्र, ईमानदारी और कर्नाटक की जनता हार गई : राहुल ◾अमित शाह ने कर्नाटक को लेकर पार्टी नेताओं से किया मशविरा◾कुमारस्वामी ने राज्यपाल वजूभाई वाला को सौंपा अपना इस्तीफा ◾BJP के शीर्ष नेताओं से सलाह के बाद राज्यपाल से मिलूंगा : येदियुरप्पा ◾अब 5 राज्यों-केंद्रशासित प्रदेशों में ही बची कांग्रेस की सरकार ◾‘किंगमेकर’ माने जाने वाले कुमारस्वामी बने ‘किंग’, लेकिन राजगद्दी जल्दी ही हाथ से निकली ◾कर्नाटक में गिरी कुमारस्वामी सरकार, विश्वास प्रस्ताव के पक्ष पड़े 99 वोट , BJP पेश करेगी सरकार बनाने का दावा ◾येदियुरप्पा के शपथ लेने के बाद मुम्बई से लौटेंगे कर्नाटक के बागी विधायक◾कश्मीर के बारे में ट्रंप के प्रस्ताव पर भारत की प्रतिक्रिया से चकित हूं : इमरान खान ◾खुशी से पद छोड़ने को तैयार हूं : कुमारस्वामी ◾बोरिस जॉनसन बने ब्रिटेन के नए PM, यूरोपीय संघ से देश को बाहर निकालना होगी बड़ी चुनौती◾कश्मीर मुद्दे पर नरेंद्र मोदी और इमरान खान को मिलकर करनी चाहिए पहल - फारुख अब्दुल्ला◾Top 20 News 23 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾भाजपा ने ट्रंप के दावे पर विपक्ष के रूख को गैर जिम्मेदाराना बताया ◾कर्नाटक संकट: भाजपा ने कुमारस्वामी पर करदाताओं का पैसा बर्बाद करने का लगाया आरोप◾गृह मंत्रालय ने घटाई लालू यादव, चिराग पासवान समेत कई बड़े नेताओं की सुरक्षा◾SC ने NRC प्रकाशन की समय सीमा बढ़ाई, 20 फीसदी नमूनों के पुन: सत्यापन का अनुरोध ठुकराया◾PM मोदी देश को बताएं कि उनकी ट्रंप से क्या बात हुई थी : राहुल गांधी◾

देश

Modi सरकार कृषि क्षेत्र में ढांचागत सुधार के लिए गठित करेगी उच्च स्तरीय कार्यबल

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज नीति आयोग की संचालन परिषद की बैठक में कृषि क्षेत्र में ढांचागत सुधार के लिए मुख्यमंत्रियों और केन्द्रीय मंत्रियों का उच्च स्तरीय कार्यबल बनाने की घोषणा की। 

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार और मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने शनिवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित बैठक के बाद देर रात यहां संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी दी। कार्यबल कृषि क्षेत्र में ढांचागत सुधारों पर दो -तीन महीने में अपनी रिपोर्ट देगा। कार्यबल में कुछ राज्यों के मुख्यमंत्री और केन्द्रीय मंत्री शामिल होंगे।

उन्होंने बताया कि अगले दो तीन दिनों में कार्यबल के गठन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी जाएगी। बैठक में कृषि क्षेत्र पर ध्यान देने की आवश्यकता बताते हुये कईं मुख्यमंत्रियों ने कृषि प्रसंस्करण और निवेश पर ध्यान देने पर जोर दिया। 

श्री कुमार ने कहा कि पूर्वोत्तर जल संरक्षण एवं प्रबंधन को लेकर उनकी अध्यक्षता में एक समिति बनी थी जिसे इस बैठक में अनुमोदित किया गया और पूर्वोत्तर के सभी राज्यों ने इसकी सराहना की। 

उन्होंने कहा कि कुछ मुख्यमंत्रियों ने देश में सूखे की स्थिति के मद्देजनर आपदा राहत के नियमों की समीक्षा किये जाने पर जोर दिया। आकांक्षी जिलों को लेकर चल रहे कार्यक्रमों की राज्यों ने सराहना की। राज्यों ने अपने जिलों और तहसीलों के बीच भी प्रतिस्पर्धा की बात कही। 

बैठक में नक्सल प्रभावित क्षेत्रों और जम्मू-कश्मीर की स्थिति पर विस्तृत विचार विमर्श किया गया। जम्मू -कश्मीर के राज्यपाल सत्य पाल मलिक ने राज्य में आतंकी गतिविधियों पर विस्तार से जानकारी दी और कहा कि राज्य में विकास गतिविधियों में आयी तेजी से भी आतंकवाद को हतोत्साहित किया जा रहा है। आतंकियों के बारे में आम लोग जानकारी देने लगे हैं। लोग अपने यहां आतंकियों को पनाह देने से मना करने लगे हैं। 

श्री कुमार ने बताया कि गृह मंत्री अमित शाह ने नक्सल प्रभावित राज्यों में नक्सली हिंसा के बारे में विस्तार से बताया। नक्सल प्रभावित राज्यों में विकास गतिविधियों के साथ ही सुरक्षा बढ़ये जाने से हिंसा में कमी आयी है। राज्यों के बीच सूचनाओं के आदान प्रदान पर भी जोर दिया गया। केन्द, सरकार नक्सलवाद से निपटने के लिए हर संभव मदद देगी। 

श्री कांत ने बताया कि बैठक में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पिछले पांच वर्षों में केन्द्रीय राजस्व में से राज्यों की दी जाने वाली हिस्सेदारी में 97 प्रतिशत की बढोतरी हुयी है। पहले यह 22 लाख करोड़ रूपए था जो अब बढ़कर 41 लाख करोड़ हो गया है। 

देश से बाहर होने की वजह से हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री बैठक में शामिल नहीं हो सके। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अचानक बीमार होने की वजह से नहीं आ पाये। 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पहले ही इसमें आने से मना चुकी थी। इनके अलावा सभी राज्यों के मुख्यमंत्री, केंद्र शासित प्रदेशों के उप राज्यपाल और जम्मू कश्मीर के राज्यपाल इसमें शामिल हुए।