BREAKING NEWS

Punjab: पंजाब में दिल दहला देने वाला मामला, ट्रेन की चपेट में आने से तीन की मौत, जानें पूरी स्थिति◾Delhi: हाई कोर्ट ने कहा- मसाज पार्लर की आड़ में होने वाली वेश्यावृत्ति रोकने के लिए कदम उठाए दिल्ली पुलिस◾Bihar News: उमेश कुशवाहा को फिर मिला मौका, बने रहेंगे जदयू की बिहार इकाई के अध्यक्ष◾Maharashtra: महाराष्ट्र में दर्दनाक हादसा, रेलवे स्टेशन फुटओवर ब्रिज का गिरा एक हिस्सा, इतने लोग हुए घायल◾Mainpuri bypoll: डिंपल की अपील, मतदान से पहले अपने घर में ना सोएं सपा के नेता और कार्यकर्ता◾कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा- पार्टी के नेता नर्सरी के छात्र नहीं, जो एक दूसरे से बात नहीं कर सकते◾2019 Jamia violence: कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से मांगा स्पष्टीकरण◾दिल्ली पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, दो हथियार सप्लायरों को किया गिरफ्तार, बिश्नोई गैंग से है संबंध◾Pakistan: इमरान खान ने कहा- वजीराबाद में तीन शूटरों मुझे जाने से मारने की कोशिश की थी◾भाजपा का दावा, केजरीवाल के करीबी लोग सत्येंद्र जैन के वीडियो करा रहे हैं लीक◾बीजेपी सरकारें बिना तुष्टीकरण के सशक्तीकरण करती हैं: मुख्तार अब्बास नकवी◾ब्लेक गोवर्स की शानदार हैट्रिक से पस्त हुई टीम इंडिया, ऑस्ट्रेलिया ने 7-4 से दी पटखनी◾UP News: गाजीपुर में बड़ी सड़क दुर्घटना, अज्ञात वाहन ने कार को बुरी तरह कुचला, मौके पर 3 की मौत◾गुजरात ATS का एक्शन, पीएम मोदी को आपत्तिजनक ई-मेल भेजने वाले बदायूं के युवक को पकड़ा ◾कनाडा में भारतीय छात्र की मौत, रोड क्रॉस करते हुए ट्रक ने साइकिल को कुचला, पुलिस ने लिया तुरंत एक्शन◾अशोक गहलोत और सचिन पायलट के मसले को सुलझाने के लिए जयराम लेंगे कठोर निर्णय◾आजम खान का गंभीर आरोप, कहा- सपा कार्यकर्ताओं को धमकाने के लिए पुलिस, प्रशासन का उपयोग कर रही भाजपा◾Delhi News : भागीरथ पैलेस में लगी आग को बुझाने का अभियान चौथे दिन भी जारी◾दिल्ली: MCD चुनाव पर भाजपा की रणनीति, BJP अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा- संविदा शिक्षकों को करेंगे नियमित◾सियासी पिच पर जीतने का प्रयास, ओडिशा के पदमपुर उपचुनाव के लिए तेज हुआ प्रचार◾

देश का लगभग 42 फीसदी हिस्सा सूखाग्रस्त

भारत का लगभग 42 फीसदी हिस्सा 'असामान्य रूप से सूखाग्रस्त' है, जो बीते साल की तुलना में छह फीसदी अधिक है। सूखा पूर्व चेतावनी प्रणाली (डीईडब्ल्यूएस) ने यह जानकारी दी है।

 

सूखे पर निगरानी रखने वाले डीईडब्ल्यूएस के 28 मई के अपडेट में असामान्य रूप से सूखाग्रस्त इलाके का हिस्सा बढ़कर 42.61 फीसदी हो गया है, जो एक हफ्ते पहले (21 मई) 42.18 फीसदी था। 

यह वृद्धि 28 अप्रैल के अपडेट से 0.45 फीसदी है। 28 अप्रैल को यह 42.16 फीसदी था। यह स्थिति 27 फरवरी को थोड़ी बेहतर थी, जब 41.30 फीसदी इलाका असामान्य रूप से सूखाग्रस्त था। 

सूखा सूचकांक बीते साल के मुकाबले बदतर हो गया है, जब देश का 36.74 फीसदी इलाका असामान्य रूप से 28 मई, 2018 को सूखे की चपेट में था। 

'गंभीर रूप से सूखे' की श्रेणी के इलाके में वृद्धि हुई है। यह एक हफ्ते पहले 15.93 फीसदी था, जो 28 मई को 16.18 फीसदी हो गया। 

सबसे बुरी तरह से प्रभावित इलाकों में तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात व राजस्थान शामिल हैं। असामान्य रूप से सूखे वाली श्रेणी में बीते साल के 0.68 फीसदी के मुकाबले इस साल 5.66 फीसदी की वृद्धि हुई है। 

केंद्रीय जल आयोग की 30 मई की नवीनतम विज्ञप्ति में कहा गया है कि 91 जलाशयों में पानी का भंडारण 31.65 बीसीएम है, जो कि क्षमता का 20 फीसदी है। हालांकि, विज्ञप्ति में कहा गया है कि बीते साल की इसी अवधि की तुलना में समग्र भंडारण स्थिति बेहतर है। 

सभी की नजरें अब मॉनसून पर हैं। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने अपने दूसरे शुरुआती अनुमान में दावा किया है कि यह एक सामान्य मॉनसून होगा। लेकिन उत्तरपश्चिम भारत और पूर्वोत्तर भारत में सामान्य से कम बारिश होने की संभावना है। 

दीर्घावधि औसत (एलपीए) में पूरे देश में मॉनसून के दौरान 96 फीसदी औसत बारिश हो सकती है। सामान्य बारिश का औसत 96 फीसदी से 104 फीसदी होता है, जिसका यह निचला स्तर है। 

उत्तरपश्चिम भारत में 94 फीसदी व पूर्वोत्तर में 91 फीसदी बारिश होने की संभावना है। मध्य भारत में 100 फीसदी और प्रायद्वीपीय भारत में 97 फीसदी बारिश होने की संभावना है।