BREAKING NEWS

World Corona : वैश्विक महामारी से दुनियाभर में हाहाकार, संक्रमितों की संख्या 67 लाख के पार◾UP में कोरोना संक्रमितों की संख्या में सबसे बड़ा उछाल, पॉजिटिव मामलों का आंकड़ा दस हजार के करीब ◾कोरोना वायरस : देश में महामारी से संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 36 हजार के पार, अब तक 6642 लोगों की मौत ◾प्रियंका गांधी ने लॉकडाउन के दौरान यूपी में 44,000 से अधिक प्रवासियों को घर पहुंचने में मदद की ◾वैश्विक महामारी से निपटने में महत्त्वपूर्ण हो सकती है ‘आयुष्मान भारत’ योजना: डब्ल्यूएचओ ◾लद्दाख LAC विवाद : भारत और चीन वार्ता के जरिये मतभेदों को दूर करने पर हुए सहमत◾बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 1330 नए मामले आए सामने , मौत का आंकड़ा 708 पहुंचा ◾हथिनी की मौत पर विवादित बयान देने पर केरल पुलिस ने मेनका गांधी के खिलाफ दर्ज की FIR◾दिल्ली हिंसा: पिंजरा तोड़ ग्रुप की सदस्य और JNU स्टूडेंट के खिलाफ यूएपीए के तहत मामला दर्ज◾राहुल गांधी ने लॉकडाउन को फिर बताया फेल, ट्विटर पर शेयर किया ग्राफ ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 2,436 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 80 हजार के पार◾लद्दाख तनाव : कल सुबह 9 बजे मालदो में होगी भारत और चीन के बीच ले. जनरल स्तरीय बातचीत ◾पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा : मुंह में गहरे घावों के कारण दो हफ्ते भूखी थी गर्भवती हथिनी, हुई दर्दनाक मौत◾केंद्रीय गृह मंत्रालय की मीडिया विंग में भारी फेरबदल, नितिन वाकणकर नये प्रवक्ता नियुक्त किये गए ◾भाजपा नेता और टिक टोक स्टार सोनाली फोगाट ने हिसार मंडी समिति के सचिव को पीटा , वीडियो वायरल ◾सैन्य बातचीत से पहले बोला चीन-भारत के साथ सीमा विवाद को उचित ढंग से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध◾PM मोदी के 'आत्मनिर्भर भारत' के ऐलान को कपिल सिब्बल ने बताया 'जुमला'◾दिल्ली के पीतमपुरा में एक मेड से 20 लोगों को हुआ कोरोना, 750 से ज्यादा लोग हुए सेल्फ क्वारंटाइन◾कोरोना संकट पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, नई योजनाओं पर मार्च 2021 तक लगी रोक◾गुजरात में कांग्रेस को तीसरा झटका, एक और विधायक ने दिया इस्तीफा◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

देशद्रोह के आरोपी शरजील को बिहार से दिल्ली ले जाने की तैयारी

भड़काऊ भाषण देने के आरोपी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र शरजील इमाम को मंगलवार को जहानाबाद जिले के काको थाना क्षेत्र से दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम ने बिहार पुलिस के सहयोग से गिरफ्तार कर लिया। शरजील को अब दिल्ली ले जाया जा रहा है। 

जहानाबाद के पुलिस अधीक्षक मनीष ने बताया कि शरजील को पुलिस ने मंगलवार को काको थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसे जहानाबाद के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में पेश किया, जहां से ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद उसे पटना ले जाया जा रहा है, वहां से उसे दिल्ली ले जाया जाएगा। 

पुलिस मुख्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शरजील की गिरफ्तारी एक बड़ी सफलता है। उन्होंने बताया कि 25 जनवरी को ही दिल्ली पुलिस बिहार आ गई थी और उसने बिहार पुलिस से सहयोग मांगा था। 

उन्होंने बताया कि 25 जनवरी 2020 को शाम करीब 7-8 बजे के बीच शरजील इमाम को अंतिम बार बिहार की राजधानी फुलवारीशरीफ में एक मीटिंग में आखिरी बार देखा गया था। उसके बाद से वह अपना मोबाइल फोन बंद कर वापस काको पहुंच गया। 

इधर, सूत्रों का कहना है कि शरजील को मंगलवार दोपहर उस समय पकड़ा, जब वह एक कार से कहीं भागने की फिराक में था। 

उल्लेखनीय है कि दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच शरजील के पैतृक आवास काको में सोमवार की रात छापेमारी कर उसके भाई मुजम्मिल इमाम को हिरासत में लिया था और उसकी निशानदेही पर लगातार छापेमारी कर रही थी। 

शरजील की तलाश में कई और जिलों में दबिश डाली जा रही थी। पटना हवाईअड्डे समेत राज्य के प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर निगरानी बढ़ा दी गई थी। बिहार और नेपाल सीमा पर भी पुलिस को चौकस रहने का निर्देश दिया गया था। शरजील के नेपाल भागने की भी आशंका व्यक्त की गई थी। 

गौरतलब है कि शरजील के खिलाफ अरुणाचल, असम, उत्तर प्रदेश और दिल्ली पुलिस ने देशद्रोह सहित कई धाराओं में केस दर्ज किए थे, तभी से शरजील फरार चल रहा था। 

शरजील की मां अफशां परवीन ने सोमवार को आरोप लगाया था कि उनके बेटे के बयान को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया है। उन्होंने दावा किया कि उनका बेटा जैसा दिखाया जा रहा है, वैसा नहीं है। उन्होंने कहा था, 'मेरे बेटे को फंसाया जा रहा है। वह केवल एनआरसी का विरोध कर रहा था।' परवीन ने कहा कि कई दिनों से उनकी अपने बेटे से बातचीत नहीं हो रही है, लेकिन वह कोई चोर-उचक्का नहीं है कि वह फरार है, वह जल्द ही सामने आएगा। 

शरजील के परिवार के सदस्यों का राजनीति से गहरा नाता रहा है। उसके पिता मोहम्मद अकबर इमाम का इंतकाल करीब चार साल पहले हो गया था। वे जद (यू) के टिकट पर 2005 का विधानसभा चुनाव भी जहानाबाद से लड़े थे। हालांकि, चुनाव हार गए थे। अकबर इमाम इससे पहले कांग्रेस पार्टी में थे।