BREAKING NEWS

नागरिकता संशोधन विधेयक देश के मुसलमानों के खिलाफ नहीं : BJP◾कांग्रेस ने एक व्यक्ति के निजी हित के लिए द्विराष्ट्र के सिद्धान्त को किया स्वीकार : गोयल◾शिवसेना सरकार ने पहले से चल रही परियोजनाओं को रोकने के अलावा कुछ नहीं किया : फडणवीस◾एकनाथ खडसे ने CM उद्धव ठाकरे से की मुलाकात, कहा- भाजपा से कोई दिक्कत नहीं ◾19 साल में मारे गए 22 हजार आतंकी, 370 हटने के बाद भी जारी है घुसपैठ◾शाह की हरी झंडी के बाद होगा कर्नाटक कैबिनेट का विस्तार : मुख्यमंत्री ◾हैदराबाद एनकाउंटर : पुलिस ने दुष्कर्म आरोपियों के एनकाउंटर की रिपोर्ट एनएचआरसी को सौंपी◾TOP 20 NEWS 10 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾उन्नाव रेप मामला : पूर्व बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर पर 16 दिसंबर को कोर्ट सुनाएगा फैसला◾सीएबी बिल पर उद्धव ठाकरे बोले- जब तक कुछ बातें स्पष्ट नहीं होतीं, हम नहीं करेंगे समर्थन◾दिल्ली से लेकर असम तक CAB के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन, मालीगांव में सुरक्षाबलों से भिड़े लोग◾नागरिकता विधेयक का समर्थन करना भारत की बुनियाद को नष्ट करने का प्रयास होगा : राहुल गांधी◾दिल्ली हाई कोर्ट ने अरविंद केजरीवाल के खिलाफ आपराधिक मानहानि मामले की सुनवाई पर लगाई रोक◾लोकसभा में बोले शाह- J&K में हिरासत में लिए गए नेताओं को छोड़ने का निर्णय स्थानीय प्रशासन लेगा◾पीएमओ में सत्ता का केंद्रीकरण अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा नहीं : शिवसेना◾दिल्ली : किराड़ी इलाके के गोदाम में लगी आग, मौके पर पहुंची 8 दमकल की गाड़ियां◾'असंवैधानिक' नागरिकता विधेयक पर लड़ाई सुप्रीम कोर्ट में होगी : चिदंबरम◾हरियाणा : होमवर्क पूरा न करने पर दलित लड़की का मुंह काला कर स्कूल में घुमाया गया ◾नागरिकता संशोधन विधेयक को JDU के समर्थन से प्रशांत किशोर निराश◾अनुच्छेद 370 को खत्म किये जाने के खिलाफ याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट आज से करेगा सुनवाई ◾

देश

राष्ट्रपति कोविंद ने भगवान अत्तिवरदर के किए दर्शन, 40 साल में एक बार निकाले जाते हैं सरोवर से बाहर

 ramnath kovind

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भगवान अत्तिवरदर के शुक्रवार को यहां दर्शन किए जिन्हें 40 साल में एक बार मंदिर के सरोवर से बाहर निकाला जाता है। राष्ट्रपति और उनके परिवार का मंदिर के रीति-रिवाजों के अनुरूप स्वागत किया। चेन्नई में आगमन के बाद वह हेलीकॉप्टर से यहां पहुंचे। 

तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित कोविंद के साथ उपस्थित थे। राष्ट्रपति के दौरे को देखते हुए नगर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। भगवान अत्तिवरदर को 40 साल में एक बार मंदिर पुष्करणी (सरोवर) से बाहर लाया जाता है जिसे श्रद्धालुओं के लिए एक बड़ा अवसर माना जाता है और लाखों लोग उनके दर्शन को पहुंचते हैं। 

कर्नाटक संकट : SC ने कहा - बागी विधायकों के इस्तीफे को लेकर मंगलवार तक कोई फैसला न लें अध्यक्ष

भगवान की यह प्रतिमा अंजीर की लकड़ी से बनी है जिसे तमिल में ‘अत्ति’ कहा जाता है। पुष्करणी से इन्हें 27 जून को निकाला गया और उस दिन से 48 दिन के लिए खुल गए हैं। भगवान अत्तिवरदर के दर्शन के लिए लाखों श्रद्धालु कांचीपुरम पहुंचे हैं और राज्य सरकार एवं स्थानीय प्रशासन ने इसके लिए विशेष प्रबंध किए हैं। 

तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश के 12 से 15 जुलाई के अपने दौरे के दौरान राष्ट्रपति शनिवार को चेन्नई में आधिकारिक कार्यक्रम में शामिल होंगे। वह आंध्र प्रदेश के तिरुमला-तिरुपति में भगवान वेंकटेश्वर के मंदिर के भी रविवार को दर्शन करेंगे। बाद में कोविंद भारत के चंद्र मिशन ‘चंद्रयान दो’ के 15 जुलाई के प्रक्षेपण के लिए श्रीहरिकोटा के लिए रवाना होंगे।