BREAKING NEWS

दिल्ली के किसानों की फसल बर्बाद, मुआवजा देने के नाम पर CM का झूठ का खेल पंजाब तक चालू : दिल्ली कांग्रेस◾मुंबई : ACB ने तीसरी बार पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को किया तलब, पिछले दो समन पर नहीं हुए थे पेश ◾ केंद्र सरकार ने देश के 407 में संक्रमण दर 10 फीसदी से ज्यादा होने पर कोविड प्रतिबंध 28 फरवरी तक बढ़या◾पंजाब में सिद्धू या चन्नी में से कौन होगा मुख्यमंत्री का फेस ?राहुल गांधी ने दिया यह जवाब...◾चौधरी चरण सिंह मेरे आदर्श, जाट समुदाय भाजपा से नाराज नहीं रह सकता : राजनाथ◾ दिल्ली में कोविड-19 के 4,291 नये मामले, 34 और लोगों की महामारी से मौत◾ विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर COVID19 पॉजिटिव हुए, कांटेक्ट में आए लोगों को दी एहतियात बरतने की सलाह◾यूपी चुनाव : बीजेपी अध्यक्ष नड्डा कल शाहजहांपुर में करेंगे जन संपर्क अभियान, कार्यक्रम को करेंगे संबोधित ◾दिल्ली के बाद चंडीगढ़ में कोविड प्रतिबंधों में ढील, 10वीं से 12वीं तक के लिए स्कूल खोलने की अनुमति ◾भारत-मध्य एशिया शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने की मेजबानी, अफगानिस्तान को लेकर कही यह बात ◾SP ने जारी की 56 प्रत्याशियों की लिस्ट, गैर यादव OBC नेताओं पर खास ध्यान, जानें किसे कहां से मिला टिकट ◾यूपी चुनाव : आजम खान ने सीतापुर की जेल से ही भरा नामांकन, SP ने रामपुर से ही दिया टिकट◾आखिरकार टाटा के पास पहुंचा 'महाराजा' का स्वामित्व, अब एयरलाइन में बड़े बदलाव करेगा समूह◾उत्तराखंड चुनाव: कांग्रेस-BJP में जारी है रूठों को मनाने की कवायद, जानें पार्टियों में क्या हुए बदलाव? ◾1971 में मुख्यमंत्री टी एन सिंह को गोरखपुर के लोगों ने हराया था, अब फिर से इतिहास दोहराएंगे : चंद्रशेखर ◾UP में शाह ने भरी हुंकार, विपक्ष पर हुए हमलावर, कहा- माफियाओं पर कार्रवाई से अखिलेश के होता दर्द ◾अब खुले बाजार में मिलेंगी Covishield और Covaxin, पर मेडिकल स्टोर से नहीं ले सकेंगे◾अंसारी के असहिष्णुता वाले बयान पर छिड़ा राजनीतिक बवाल, BJP-VHP ने की कड़ी निंदा, जानें क्या कहा ◾पंजाब चुनाव को लेकर बीजेपी ने कैंडिडेट्स की एक और लिस्ट की जारी , जानिए किसे कहां से मिला टिकट◾अरुणचल प्रदेश से लापता लड़के की हुई 'वतन वापसी', कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट कर दी जानकारी ◾

देशभर में इन प्रमुख जगहों पर नागरिकता कानून के खिलाफ हुआ प्रदर्शन

नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हुए और इस दौरान देश के विभिन्न स्थानों पर परेशानी हुई, जो इस प्रकार है - 

दिल्ली : लाल किला - लाल किला इलाके में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लागू होने के कारण संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे सैकड़ों लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया। हिरासत में लिये गए लोगों में स्वराज अभियान के अध्यक्ष योगेंद्र यादव तथा छात्र नेता उमर खालिद शामिल। 

मंडी हाउस- सीताराम येचुरी, डी राजा, नीलोत्पल बसु और बृंदा करात समेत तमाम वाम नेता हिरासत में। जंतर मंतर- मंडी हाउस और लाल किले से प्रदर्शनकारियों को निकाले जाने के बाद झंडा लहराते सैकड़ों छात्र और कार्यकर्ता एकत्र हुए।

 

उत्तर प्रदेश : लखनऊ - प्रदर्शनकारियों ने पथराव किया और पुलिस थाने के बाहर खड़े वाहन को फूंका । मदेयगंज इलाके में स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े । लगभग 20 लोगों को हिरासत में लिया गया । संभल : एक सरकारी बस आग को आग लगायी गयी, दूसरे को क्षतिग्रस्त किया । कुछ प्रदर्शनकारियों ने पुलिस थाने पर पथराव किया । इंटरनेट सेवायें निलंबित । 

बिहार : पटना - जन अधिकार पार्टी कार्यकर्ताओं ने बसों और कारों में तोड़ फोड़ की सड़कों पर टायर जला कर वाहनों की आवाजाही को बाधित किया। रेल पटरी को जाम किया । एआईएसएफ और आइसा समेत वाम छात्र संगठनों के कार्यकर्ता राजेंद्र नगर टर्मिनस में प्रवेश कर गए और रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया जिससे ट्रेनों का परिचालन लगभग आधे घंटे तक बाधित रहा । जहानाबाद : भाकपा-माले कार्यकर्ताओं ने काको मोड़ पर सड़क जाम किया जिससे राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 110 एवं 83 पर यातायात बाधित रहा । 

CAA के खिलाफ कई स्थानों पर विरोध प्रदर्शन, यूपी, कर्नाटक व बिहार में हिंसा, तीन लोगों की मौत

कर्नाटक : बेंगलुरू- लेखक एवं इतिहासकार राम चंद्र गुहा समेत सैकड़ों लोग हिरासत में लिये गए। मेंगलुरू -पुलिसकर्मियों पर पथराव के बाद प्रदर्शन हिंसक हुआ, इसके बाद लाठी चार्ज करनी पड़ी। 

तेलंगाना : हैदराबाद- छात्रों समेत सैकड़ों प्रदर्शनकारी एहतियातन हिरासत में लिये गए। 

पश्चिम बंगाल : कोलकाता - मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता के रानी रशमोनी में एक रैली को संबोधित किया । वाम दलों ने रामलीला मैदान से पार्क सर्कस तक मार्च किया। 

गुजरात : अहमदाबाद - सरदार बाग इलाके में एकत्र लोगों पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया। 

महाराष्ट्र : राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं एवं छात्रों ने ऐतिहासिक अगस्त क्रांति मैदान में प्रदर्शन किया। नागपुर एवं पुणे में भी इसी प्रकार का विरोध प्रदर्शन किया गया।