BREAKING NEWS

आज का राशिफल (28 सितम्बर 2020)◾IPL 2020 : राजस्थान रायल्स ने किंग्स इलेवन पंजाब को 4 विकेट से हराया ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कोहराम बरकरार, बीते 24 घंटे में 18,056 नए केस, 380 की मौत ◾IPL 2020 RR vs KXIP : पंजाब की तूफानी बल्लेबाजी, राजस्थान को दिया 224 रनों का लक्ष्य◾मप्र उपचुनाव : कांग्रेस ने 9 और उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट की जारी, भाजपा के तीन नेताओं को मिला टिकट◾कोविड-19 : सत्येंद्र जैन ने कहा- पिछले 10 दिनों में दिल्ली में मृत्यु दर एक फीसदी से नीचे रही◾संसद से पारित तीनों कृषि संबंधी विधेयकों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी मंजूरी◾IPL 2020 RR vs KXIP : राजस्थान ने जीता टॉस, पंजाब को दिया बल्लेबाजी का न्योता◾फिल्मकार अनुराग कश्यप की गिरफ्तारी में देरी होने पर पायल घोष ने उठाए सवाल ◾बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय जेडीयू में हुए शामिल, कहा- नहीं समझता राजनीति◾विधानसभा चुनाव के लिए बिहार में तैनात होंगे 30,000 जवान, गृह मंत्रालय ने दिए निर्देश◾मतदाताओं को लुभाने की कवायद में जुटे राजनीतिक दल, तेजस्वी ने 10 लाख युवाओं को नौकरी देने का किया वादा◾पूर्व सैन्य अधिकारी होने के बावजूद एक दक्ष नेता के तौर पर जसवंत ने हमेशा दिखाई राजनीतिक ताकत◾चीन को जवाब देने के लिए भारत पूरी तरह तैयार, लद्दाख में तैनात किए T-90 और T-72 टैंक◾मन की बात : PM मोदी बोले-देश का कृषि क्षेत्र, हमारे किसान, गांव आत्मनिर्भर भारत का आधार◾जिस गठबंधन में शिवसेना और अकाली दल नहीं, मैं उसको NDA नहीं मानता : संजय राउत◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 60 लाख के करीब, पिछले 24 घंटे में 1124 लोगों की मौत◾राहुल गांधी का PM मोदी पर तंज- काश, कोविड एक्सेस स्ट्रैटेजी ही मन की बात होती◾क्या ड्रग चैट्स का होगा खुलासा, एनसीबी ने दीपिका, सारा और श्रद्धा के फोन किए जब्त ◾पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, पीएम मोदी ने शोक व्यक्त किया◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

गरीबी रेखा से नीचे वाले लोगों को रेलवे दे छूट : प्रो. रणवीर नंदन

पटना : जनता दल यूनाइटेड के विधान पार्षद प्रो रणबीर नंदन ने गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों के लिए रेलवे किराए में छूट की मांग की है। उन्होंने कहा कि नया फरमान बेटिकट यात्रियों को लेकर है जिसमें 1000 रुपए का फाइन वसूलने की योजना है। अब ये तो सामाजिक समस्या है और इसके प्रति ऐसी आर्थिक दंडनीति लागू करने से पहले पंचायत स्तर तक जागरूकता अभियान चलाना होगा। यह भी समझना होगा कि अमूमन बेटिकट यात्री गरीब ही होते हैं। उनके पास जीने के साधन जुटाना ही मुश्किल है तो टिकट की रकम और बेटिकट पकड़े जाने पर 1000 रुपए का फाइन लगाना सामाजिक तौर पर अन्याय होगा।

प्रो. नंदन ने कहा कि ऐसे फाइन थोप देने से पहले रेल मंत्रालय को जागरूकता पर विशेष ध्यान देना होगा। साथ ही यह भी देखना होगा कि क्या रेलवे यात्रियों को वो सुविधाएं देता है जिसके लिए यात्रियों से हर दिन बड़ी कमाई रेलवे प्रशासन करता है। रेल मंत्रालय को ऐसे फरमान देने से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र में प्रॉफिट-लॉस की बैलेंस शीट लागू करना लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। रेल मंत्रालय इन दिनों ऐसी ही बैलेंस शीट लेकर योजनाएं बना रहा है। टिकट नहीं मिल रही है तो तत्काल कोटा में लीजिए और इसमें भी अधिक उगाही के लिए प्रीमियम तत्काल कोटा शुरू हो गया है। मतलब ये कि टिकट तो मिल जाएगी लेकिन अपनी सीट पर बैठकर जाने के लिए मोटी रकम खर्च करनी होगी।

उन्होंने कहा कि बैलेंस शीट में रेलवे का मुनाफा बढ़ेगा, यह और बात होगी कि यात्रियों के सुविधाओं पर इस बैलेंस शीट में खास पहल दिखती नहीं है। आबादी का 30 प्रतिशत माध्यम वर्ग हैए 50 फीसदी से अधिक निम्न मध्यम वर्ग है और इस पूरी आबादी के लिए ट्रेन ही सफर का माध्यम है। लेकिन रेलवे सारे प्रयोग इस आबादी की दबा कर अपनी तिजोरी भरने का प्रयास करती है जो अन्याय है। फ्लाइट तो इस वर्ग के लोगों से दूर है ही राजधानी जैसी ट्रेनें भी फ्लोटिंग किराया सिस्टम में पहुंच से बाहर हैं। यह फौरन बंद होना चाहिए। प्रो. नंदन ने मांग की है कि गरीबी रेखा के नीचे वालों के लिए छूट देने के साथ रेलवे प्रशासन जनोपयोगी योजनाओं को तबज्जों दी।