BREAKING NEWS

जम्मू-कश्मीर : पुलवामा में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, तीन आतंकियों को किया ढेर◾राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास की पहली बैठक आज◾केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह बोले - कश्मीरी पंडितों का पुनर्वास सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता◾पासवान ने केजरीवाल को साफ पानी मुहैया करवाने की याद दिलाई◾J&K में पंचायतों के उपचुनाव सुरक्षा कारणों से स्थगित किए गए : जम्मू कश्मीर CEO◾मारिया खुलासे को लेकर BJP ने विपक्ष पर बोला हमला ,पूछा - क्या भगवा आतंकवाद साजिश कांग्रेस व ISI की संयुक्त योजना थी ?◾कोरोना वायरस से प्रभावित वुहान से और भारतीयों को वापस लाने, दवाएं पहुंचाने के लिए C-17 विमान भेजेगा भारत◾INX मीडिया मामले में CBI को आरोपपत्र से कुछ दस्तावेज चिदंबरम, कार्ति को सौंपने के निर्देश ◾मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त राकेश मारिया का दावा : लश्कर की योजना मुंबई हमले को हिंदू आतंकवाद के तौर पर पेश करने की थी◾ट्रम्प यात्रा को लेकर कांग्रेस ने BJP पर साधा निशाना , कहा - गरीबी को दीवार के पीछे छिपाने का प्रयास कर रही है सरकार◾संजय हेगड़े , साधना रामचंद्रन और वजाहत हबीबुल्लाह जाएंगे शाहीन बाग, शुरू होगी मध्यस्थता की कार्यवाही◾झारखंड और दिल्ली विधानसभा चुनाव में हार के बाद चिंतित बीजेपी बदल सकती है रणनीति◾ट्रंप को साबरमती आश्रम के दौरे के समय महात्मा गांधी की आत्मकथा, चित्र और चरखा भेंट किये जाएंगे◾जामिया वीडियो वार : नए वीडियो से मामले में आया नया मोड़ ◾अमर सिंह ने अमिताभ बच्चन से मांगी माफी, आपत्त‍िजनक टिप्पणियों को लेकर जताया खेद ◾UP आम बजट को कांग्रेस ने बताया किसानों और युवाओं के साथ धोखा◾जामिया हिंसा मामले में पुलिस ने दायर की चार्जशीट, कुल 17 लोगों की हुई गिरफ्तारी◾उत्तर प्रदेश : योगी सरकार ने 5 लाख 12 हजार करोड़ का बजट किया पेश, जानें क्या रहा खास◾CAA-NRC दोनों अलग, किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं : उद्धव ठाकरे◾संजय सिंह का बड़ा बयान, बोले-अमित शाह के तहत बिगड़ रही है कानून और व्यवस्था की स्थिति ◾

गरीबी रेखा से नीचे वाले लोगों को रेलवे दे छूट : प्रो. रणवीर नंदन

पटना : जनता दल यूनाइटेड के विधान पार्षद प्रो रणबीर नंदन ने गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों के लिए रेलवे किराए में छूट की मांग की है। उन्होंने कहा कि नया फरमान बेटिकट यात्रियों को लेकर है जिसमें 1000 रुपए का फाइन वसूलने की योजना है। अब ये तो सामाजिक समस्या है और इसके प्रति ऐसी आर्थिक दंडनीति लागू करने से पहले पंचायत स्तर तक जागरूकता अभियान चलाना होगा। यह भी समझना होगा कि अमूमन बेटिकट यात्री गरीब ही होते हैं। उनके पास जीने के साधन जुटाना ही मुश्किल है तो टिकट की रकम और बेटिकट पकड़े जाने पर 1000 रुपए का फाइन लगाना सामाजिक तौर पर अन्याय होगा।

प्रो. नंदन ने कहा कि ऐसे फाइन थोप देने से पहले रेल मंत्रालय को जागरूकता पर विशेष ध्यान देना होगा। साथ ही यह भी देखना होगा कि क्या रेलवे यात्रियों को वो सुविधाएं देता है जिसके लिए यात्रियों से हर दिन बड़ी कमाई रेलवे प्रशासन करता है। रेल मंत्रालय को ऐसे फरमान देने से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र में प्रॉफिट-लॉस की बैलेंस शीट लागू करना लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। रेल मंत्रालय इन दिनों ऐसी ही बैलेंस शीट लेकर योजनाएं बना रहा है। टिकट नहीं मिल रही है तो तत्काल कोटा में लीजिए और इसमें भी अधिक उगाही के लिए प्रीमियम तत्काल कोटा शुरू हो गया है। मतलब ये कि टिकट तो मिल जाएगी लेकिन अपनी सीट पर बैठकर जाने के लिए मोटी रकम खर्च करनी होगी।

उन्होंने कहा कि बैलेंस शीट में रेलवे का मुनाफा बढ़ेगा, यह और बात होगी कि यात्रियों के सुविधाओं पर इस बैलेंस शीट में खास पहल दिखती नहीं है। आबादी का 30 प्रतिशत माध्यम वर्ग हैए 50 फीसदी से अधिक निम्न मध्यम वर्ग है और इस पूरी आबादी के लिए ट्रेन ही सफर का माध्यम है। लेकिन रेलवे सारे प्रयोग इस आबादी की दबा कर अपनी तिजोरी भरने का प्रयास करती है जो अन्याय है। फ्लाइट तो इस वर्ग के लोगों से दूर है ही राजधानी जैसी ट्रेनें भी फ्लोटिंग किराया सिस्टम में पहुंच से बाहर हैं। यह फौरन बंद होना चाहिए। प्रो. नंदन ने मांग की है कि गरीबी रेखा के नीचे वालों के लिए छूट देने के साथ रेलवे प्रशासन जनोपयोगी योजनाओं को तबज्जों दी।