BREAKING NEWS

CJI गोगोई ने सेवानिवृत्त होने से पहले अयोध्या पर फैसले के साथ इतिहास के पन्नों में नाम दर्ज कराया ◾प्रधानमंत्री ने प्रदूषण की ‘आपात स्थिति’ पर मुख्यमंत्रियों के साथ कितनी बैठकें कीं?: कांग्रेस ◾दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए सभी एजेंसियों को साथ मिलकर काम करना होगा : जावड़ेकर ◾प्रदूषण पर संसदीय समिति की बैठक में नहीं आने पर गंभीर की सफाई◾महाराष्ट्र : चन्द्रकांत पाटिल बोले- भाजपा के पास 119 विधायकों का समर्थन, जल्दी ही सरकार बनाएंगे◾TOP 20 NEWS 15 NOV : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾प्रियंका गांधी बोली- भाजपा सरकार भी डींगें हांकने के लिए डाटा छिपाने में लगी है◾प्रदूषण को लेकर SC ने 4 राज्यों के चीफ सेक्रेटरी को किया तलब, कहा- ऑड-ईवन स्थायी समाधान नहीं◾INX मीडिया : दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज की चिदंबरम की जमानत याचिका ◾राहुल बोले- 'मोदीनॉमिक्स' ने इतना नुकसान कर दिया कि सरकार को अपनी रिपोर्ट छिपानी पड़ रही है◾शरद पवार बोले-शिवसेना, NCP और कांग्रेस की सरकार 5 साल का कार्यकाल पूरा करेगी◾ऑड-ईवन योजना की अवधि बढ़ाए जाने पर सोमवार को होगा फैसला : केजरीवाल◾NCP नेता नवाब मलिक बोले- शिवसेना को किया गया अपमानित, निश्चित रूप से CM उनका ही होगा◾SC ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवकुमार की जमानत के खिलाफ ED की याचिका की खारिज◾5 साल की बात क्यों, हम चाहते हैं 25 साल रहे शिवसेना का CM : संजय राउत◾दिल्ली-NCR में आज भी प्रदूषण की स्थिति गंभीर, आसमान में छाई धुंध की चादर◾ऑड-ईवन योजना का अंतिम दिन आज, स्कीम को आगे बढ़ाने पर संशय बरकरार◾तीस हजारी कांड : पथराव करने वाले वकील ही थे, क्या गारंटी?◾INX मीडिया मामला: चिदंबरम की जमानत याचिका पर आज आ सकता है कोर्ट का फैसला◾महाराष्ट्र में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के गठबंधन के खिलाफ SC में याचिका दायर◾

देश

राजनाथ ने केंद्रीय विभागों के पुन आवंटन पर मंत्री समूह की अध्यक्षता की

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने नए मंत्रालयों के गठन के बाद केंद्रीय विभागों के पुन आवंटन को लेकर बने मंत्री समूह की शनिवार को हुई बैठक की अध्यक्षता की।

सूत्रों ने बताया कि बैठक में गृहमंत्री अमित शाह, आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी, प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह और वरिष्ठ नौकरशाह शामिल हुए। 

अधिकारियों ने बताया कि विभिन्न मंत्रालयों को मिलाने और कुछ को अलग करने पर विभिन्न विभागों को नए मंत्रालयों के साथ काम करना होगा। उन्होंने बताया कि मंत्रीसमूह का गठन इस पुन:आवंटन को सुगमता से क्रियान्वित करने के लिए किया गया है। 

वर्ष 2017 में केंद्र सरकार ने शहरी विकास और आवास एवं शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय को मिलाकर आवास एवं शहरी मामलों को मंत्रालय बनाया था। हाल में कृषि मंत्रालय से अलग कर मत्स्य पालन मंत्रालय और पशु पालन एवं डेयरी मंत्रालय का गठन किया गया। जन संसाधन और पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय को मिलाकर हाल में नया जल शक्ति मंत्रालय बनाया गया।