BREAKING NEWS

74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से सातवीं बार पीएम मोदी का संबोधन, जानें बड़ी बातें◾कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम के साथ आयोजित हुआ स्वतंत्रता दिवस समारोह◾लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री का आत्मनिर्भर भारत, लोकल के लिये वोकल का संकल्प लेने का आह्वान ◾74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने ‘नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन’ शुरू करने की घोषणा की ◾स्वाधीनता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री ने ‘राष्ट्रीय इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन परियोजना’ की घोषणा की ◾74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी का नया नारा - मेक इन इंडिया के साथ मेक फार वर्ल्ड ◾लाल किले की प्राचीर से बोले पीएम : संप्रभुता पर आंख उठाने वालों को देश, सेना ने उन्हीं की भाषा में जवाब दिया◾130 करोड़ देशवासियों की संकल्प शक्ति से कोरोना वायरस को हराएगा भारत: पीएम मोदी ◾स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली सरकार के होंगे 7 खास मेहमान◾चीन को भारत की खरी खरी कहा- सीमा पर बने हालात से तय होगा रिश्तों का भविष्य◾महाराष्ट्र में कोरोना का प्रकोप जारी, 12 हजार से अधिक नए मामले की पुस्टि, 364 लोगों की मौत ◾देश में अशांति पैदा करने वालों को माकूल जवाब देंगे : राष्ट्रपति ◾स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में केंद्र और राज्य सरकारों की तारीफ की◾कांग्रेस ने सुरजेवाला ने कहा- राजस्थान का ‘विश्वासमत’ प्रजातंत्र के लिए नई रोशनी लेकर आया है◾चीन से तनातनी के बीच बोले रक्षामंत्री - अगर दुश्मन हम पर हमला करता है तो मुंहतोड़ जवाब देंगे◾विधानसभा कार्यवाही के बाद बोले पायलट-पहले मैं सरकार का हिस्सा था, लेकिन अब नहीं◾गृहमंत्री अमित शाह ने कोरोना को दी मात, कोविड टेस्ट रिपोर्ट आई निगेटिव ◾गहलोत सरकार ने हासिल किया विश्वास मत, 21 अगस्त तक के लिए विधानसभा स्थगित◾राजस्थान विधानसभा में सरकार के बचाव में खड़े हुए सचिन पायलट, खुद को बताया सबसे मजबूत योद्धा◾कोर्ट की अवमानना मामले में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण दोषी करार◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

राजनाथ सिंह ने CDS और तीनों सैन्य प्रमुखों के साथ की अहम बैठक, LAC स्थिति पर हुई चर्चा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर स्थिति की समीक्षा करने के लिए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत और तीन सैन्य प्रमुखों से मुलाकात की। इस दौरान सिंह को छह जून को दोनों देशों के सैन्य कमांडरों की बैठक के दौरान हुए विचार-विमर्श के बारे में भी बताया गया। एक सूत्र ने कहा, "वार्ता और भविष्य की रणनीति पर एक आकलन के लिए रक्षा मंत्री के साथ बैठक बुलाई गई थी।"

बैठक के दौरान, उन मुद्दों से निपटने के लिए एक योजना तैयार की गई, जो भारत के लिए चिंता का विषय है। यह बैठक एक घंटे से अधिक समय तक चली, जहां जनरल बिपिन रावत ने सिंह को आगे की कार्रवाई के बारे में जानकारी दी। भारत के विदेश मंत्रालय ने रविवार को कहा था कि भारत और चीन विभिन्न द्विपक्षीय समझौतों के अनुसार लद्दाख में आमने-सामने की स्थिति को शांतिपूर्वक तरीके से हल करने के लिए सहमत हुए हैं। मंत्रालय ने यह भी जोर दिया कि पूर्वी लद्दाख में मौजूदा स्थिति को हल करने के लिए सैन्य और राजनयिक बातचीत जारी रहेगी।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, "दोनों पक्षों ने स्थिति को सुलझाने और सीमा क्षेत्रों में शांति सुनिश्चित करने के लिए सैन्य और राजनयिक बातचीत जारी रखेंगे।" मंत्रालय ने दोनों देशों के सैन्य प्रतिनिधियों के बीच शनिवार को एक बैठक के दौरान हुए विचार-विमर्श के आधार पर एक बयान जारी किया। मंत्रालय ने कहा था कि लेह स्थित कोर कमांडर और चीनी कमांडर के बीच शनिवार को चुशुल-मोल्दो क्षेत्र में एक बैठक आयोजित की गई थी।

इस बैठक का नेतृत्व भारत की ओर से लेह स्थित 14 कॉर्प लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह ने किया, जबकि चीन का नेतृत्व दक्षिण शिनजियांग सैन्य क्षेत्र के कमांडर मेजर जनरल लियू लिन ने किया। मंत्रालय ने कहा कि यह बैठक सौहार्दपूर्ण और सकारात्मक माहौल में हुई। मंत्रालय ने एक बयान में कहा, "दोनों पक्ष विभिन्न द्विपक्षीय समझौतों के अनुसार, सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति से समाधान करने के लिए सहमत हुए और नेताओं के बीच समझौते को ध्यान में रखते हुए कि भारत-चीन सीमा क्षेत्रों में शांति द्विपक्षीय संबंधों के समग्र विकास के लिए आवश्यक है।"

नकवी का कांग्रेस पर कटाक्ष, कहा- कुछ पार्टियां खानदान के दायरे में सिमटीं, जबकि BJP बनी समावेशी परिवार

मंत्रालय ने आगे जोर देकर कहा कि दोनों देशों ने नोट किया कि इस वर्ष दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ है। मंत्रालय ने कहा, "दोनों देश इस बात पर सहमत हुए हैं कि एक प्रारंभिक प्रस्ताव रिश्ते के आगे के विकास में योगदान देगा।" भारत और चीन के बीच लद्दाख क्षेत्र में विशेष रूप से पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे पर स्थिति को सुलझाने के लिए बातचीत हो रही है, जहां चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने यथास्थिति को बदलने का प्रयास किया है।

चीन ने भारतीय नियंत्रण वाले क्षेत्रों में शिविर स्थापित करके यथास्थिति को बदलने का प्रयास किया है। इस वार्ता से पहले दोनों देशों के बड़े रैंक के अधिकारियों के बीच दो जून को हुई वार्ता में कोई निर्णय नहीं निकल सका था। पैंगोंग झील के पास पांच मई को एक झड़प हुई थी, जिसमें दोनों सेनाओं के दोनों तरफ के सैनिक घायल हुए थे।