BREAKING NEWS

PM मोदी की अपील पर आज रात 9 बजे 9 मिनट के लिए देश भर की लाइट होंगी बंद◾जमातियों का जमघट : देर रात इंडोनेशियाई की 5 महिला मौलवी सहित मस्जिद में छिपे 15 दबोचे गए◾कोरोना वायरस : देश में संक्रमितों की संख्या 3,300 के पार, 77 लोगों की मौत की पुष्टि ◾अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण मामलों की संख्या 3 लाख के पार हुई, इटली में 15362 लोगों की मौत ◾कोविड-19: दिल्ली में संक्रमण के मामले बढ़कर हुए 445, उनमें से 301 लोग हुए थे निजामुद्दीन के कार्यक्रम में शामिल ◾लॉकडाउन : शहर में फंसे विदेशियों के लिए ट्रांजिट पास जारी करेगी दिल्ली सरकार◾ कोरोना वायरस : राष्ट्रपति ट्रम्प ने दी मास्क पहन कर घर से बाहर निकलने की सलाह, खुद नहीं पहनेंगे मास्क ◾PM मोदी ने की उच्चाधिकार प्राप्त समूहों की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता◾तिहाड़ जेल कैदियों ने जेल में ही बना डाले 75000 मास्क, सेनेटाइजर◾महाराष्ट्र के मंत्री जितेंद्र आव्हाड का दावा : गृह मंत्रालय ने ही दी थी तबलीगी जमात को अनुमति◾कोविड-19 का प्रकोप : दुनियाभर में कोरोना के मामले 11 लाख के पार, 59 हजार से अधिक लोगों की मौत ◾स्वास्थ्य मंत्रालय : देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3,072 तक पहुंची, अब तक 75 लोगों की मौत ◾दिल्ली में 445 लोग COVID-19 से संक्रमित, और बढ़ सकते हैं मामलें : CM केजरीवाल◾तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद ने क्राइम ब्रांच को भेजा जवाब, कहा- अभी सेल्फ क्वारनटीन में हूं, बाकी सवाल बाद में◾स्वास्थ्य मंत्रालय का बयान : देश के कुल कोरोना संक्रमित मामलों में 30 फीसदी तबलीगी जमात के लोग◾राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾कोविड-19 पर सरकार ने जारी किया परामर्श, चेहरे और मुंह के बचाव के लिए घर में बने सुरक्षा कवर का करे प्रयोग◾जानिये क्यों, पीएम की 9 मिनट लाइट बंद करने की अपील के बाद अलर्ट मोड पर है बिजली विभाग की कंपनियां◾तबलीगी जमातियों पर भड़के राज ठाकरे,कहा- ऐसे लोगों को गोली मार देनी चाहिए ◾PM मोदी ने अटल बिहारी बाजपेयी की कविता को शेयर करते हुए कहा- आओ दीया जलाएं◾

JNU परिसर में हमला ‘‘आतंकवादी वामपंथी छात्रों’’ की करतूत : राम माधव

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने शनिवार को आरोप लगाया कि दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हिंसा की घटना कुछ ‘‘आतंकवादी वामपंथी छात्रों’’ की करतूत है जो दशकों से वहां हजारों छात्रों की पढ़ाई और शोध बाधित कर रहे हैं। उन्होंने पांच जनवरी को जेएनयू में हुई हिंसा को “वामपंथी और उनके समर्थकों की साजिश” करार दिया। 

राम माधव ने आरोप लगाया, ‘‘दशकों से हजारों छात्रों को वामपंथी छात्रों के आतंक की वजह से जेएनयू में प्रताड़ना का सामना करना पड़ रहा है। जो हिंसा अभी दिखी है वह इसी का नतीजा है। कुछ आतंकवादी वामपंथी छात्र हमेशा उन हजारों छात्रों के अधिकारों को बाधित करते हैं, जो जेएनयू में पढ़ते हैं और शोध करते हैं। 

मायावती का प्रियंका गांधी पर वार, कहा- यूपी में घड़ियाली आंसू बहाने आतीं है

उल्लेखनीय है कि रॉड और डंडों से लैस नकाबपोश लोगों ने 5 जनवरी की रात छात्रों और शिक्षकों पर हमला किया और सार्वजनिक संपत्ति में तोड़फोड़ की। इस घटना में कई लोग घायल हुए थे। वामपंथी छात्र संगठनों और आरएसएस से संबद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) हिंसा के लिए एक दूसरे को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। 

जम्मू-कश्मीर के हालात के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में राम माधव ने दावा किया कि केंद्र शासित प्रदेश में स्थिति सामान्य हो रही है, काफी हद तक इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई है और हिरासत में लिए गए स्थानीय नेता रिहा किए जा रहे हैं।  उन्होंने दावा किया कि अब केवल 20 से 25 नेता ही हिरासत में हैं और उन्हें चरणबद्ध तरीके से रिहा किया जाएगा। 

राम माधव ने कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर में लोग सामान्य जीवन जी रहे हैं। वहां पर दो बड़ी पाबंदिया है। पहला, इंटरनेट पर रोक जिसे हटाने की तैयारी है। काफी हद तक मोबाइल सेवा बहाल कर दी गई है। वहीं हिरासत में लिए गए अधिकतर नेता बाहर हैं और मेरा विश्वास है कि सरकार बचे हुए 20-25 नेताओं को चरणबद्ध तरीके से रिहा कर देगी।’’ 

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर पर विशेष चर्चा करने की जरूरत नहीं हैं जैसा कि पहले वह देश के अन्य राज्यों की तरह नहीं था। बीजेपी नेता ने कहा कि विदेशी प्रतिनिधिमंडल को अशांत क्षेत्र में जाने की अनुमति देना दुनिया में जम्मू-कश्मीर के बारे में फैलाई गई भ्रांतियों को दूर करने के प्रयासों का हिस्सा है। 

JNU के पूर्व VC सुधीर कुमार सोपोरी ने कैंपस में हिंसा की घटनाओं को बताया निराशाजनक

राम माधव ने कहा, ‘‘सभी को स्थिति के अनुरूप जाने की अनुमति दी जाएगी।’’ उन्होंने यह बात विपक्षी नेताओं को जम्मू-कश्मीर जाने की अनुमति नहीं दिए जाने के सवाल पर कही।’’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की प्रशंसा करते हुए राम माधव ने दावा किया कि 90 फीसदी लोग जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 के प्रावधानों को निरस्त करने, राम मंदिर और संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) सहित केंद्र के फैसलों का समर्थन कर रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि सीएए भेदभावपूर्ण नहीं है जिसके खिलाफ पूरे देश में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। राम माधव ने कहा, ‘‘ नागरिकता अलग कानून नहीं है। सभी को कुछ अर्हताओं को पूरी कर नागरिकता हासिल करने का अधिकार है। यह संशोधन कुछ वर्गों को जल्द नागरिकता देने के लिए किया गया लेकिन लोगों को दुष्प्रचार के जरिये भ्रमित किया जा रहा है।’’ उन्होंने ने कहा, ‘‘कुछ लोग जो राजनीतिक रूप से मोदीजी का मुकाबला नहीं कर पा रहे हैं वे आतंकवाद और झूठ का इस्तेमाल कर देश में अव्यवस्था पैदा कर रहे हैं।’’