BREAKING NEWS

CM केजरीवाल ने कहा- डेंगू नियंत्रण पर उठाएंगे कई कदम, स्कूली छात्र होंगे शामिल◾ महाराष्ट्र : शिंदे की पीएफआई कार्यकर्ताओं को दो टूक, कहा - बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे' ◾अमित शाह के वार पर RJD प्रमुख का पलटवार, बोले- भाजपा का होगा सफाया ◾ राजस्थान : कांग्रेस समर्थित निर्दलीय विधायक के बेटों को रिश्वत लेते हुए एसीबी ने किया गिरफ्तार ◾पीएफआई हिंसा पर विजयन का बड़ा बयान, कहा - पूर्व नियोजित थी हिंसा, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा ◾दक्षिण में 2024 की तैयारी का जायजा लेने के लिए केरल के दो दिवसीय दौरे पर जाएंगे जेपी नड्डा ◾ 'आप' का राज्यपाल पर बड़ा आरोप, कहा - बीजेपी के इशारे पर कर रहे हैं काम◾Himachal Pradesh: कांग्रेस को झटका! आश्रय शर्मा बीजेपी में होंगे शामिल◾यूपी में मर्यादा तार -तार कक्षा तीन की छात्रो को प्रिंसिपल ने दिखाया अश्लील वीडीयो, मामला दर्ज◾हिजाब विवाद में फंसा ईरान, तेजी के साथ पूरे देश में फैल रही हैं प्रदर्शन की आग ◾Punjab News: होशियारपुर में गैस संयंत्र में धमाका, एक की मौत◾चीन में सैन्य तख्तापलट का मंडराया खतरा ! शी जिनपिंग नजरबंद, चीन में चर्चाओं ने पकड़ी गति◾Pune: पीएफआई कार्यकर्ताओं ने लगाए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे, भाजपा ने की एक्शन लेने की मांग◾दिल्ली में बोले लालू-'नीतीश और मैं सोनिया से मिलेंगे, विपक्ष को एकजुट करने की करेंगे कोशिश'◾संदीप दीक्षित ने AAP सरकार के शिक्षा मॉडल को घेरा, जानें क्या कहा .... ◾हिमाचल की युवा शक्ति ने हमेशा देश को गौरवान्वित होने का अवसर दिया : PM मोदी◾ पीएफआई के गुंडों को दुकानदार ने दिखाई हैसियत, दुकान बंद करने से किया इनकार, वीडीयो वायरल◾अगर हो गई है ट्रेन लेट तो जानें IRCTC का ये नियम, यात्रा में मिलेगा बिल्कुल मुफ्त में खाना◾Congress President Election: गहलोत -थरूर में मुकाबला पक्का, थरूर ने मंगवाया नामांकन पत्र ◾सरकार की नीतियों की गलत व्याख्या कर जनमानस में पीएफआई ने फैलाई नफरत : एनआईए ◾

वायु प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिए SC ने केंद्र को दिया निर्देश, मंगलवार तक मांगा एक्शन प्लान

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को केंद्र और राज्य सरकारों से 24 घंटे के भीतर एक कार्य योजना मांगी है, जिसमें वाहनों के यातायात, निर्माण कार्य, पराली जलाने, भारी वाहनों का प्रवेश, धूल, बिजली संयंत्रों से होने वाले वायु प्रदूषण को रोकने के लिए टास्क फोर्स द्वारा उठाए गए कदमों का विवरण देने को कहा गया है।

मुख्य न्यायाधीश एन.वी. रमन्ना की अध्यक्षता वाली पीठ ने केंद्र और राज्य सरकारों की ओर से पेश वकील से कहा, "कल शाम तक एक एक्शन प्लान की आवश्यकता है। इसके लिए एक बैठक करें।" शीर्ष अदालत ने केंद्र और राज्यों से लोगों को घर से काम करने की अनुमति देने को भी कहा। पीठ में न्यायमूर्ति डी.वाई. चंद्रचूड़ और सूर्य कांत भी शामिल थे। उन्होंने कहा कि केंद्र ने अपने हलफनामे में कहा है कि पराली जलाने से राजधानी में वायु प्रदूषण का स्तर गंभीर नहीं होता है, बल्कि कृषि अपशिष्ट सामग्री को जलाने से पीएम 2.5 और पीएम 10 में केवल 11 प्रतिशत का योगदान होता है।

शीर्ष अदालत ने केंद्र से कहा कि वह वायु प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए तत्काल उपाय करने के लिए पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश सरकारों की मंगलवार को एक आपात बैठक बुलाए। शीर्ष अदालत ने राज्य सरकारों से कहा कि वे किसानों के खिलाफ कार्रवाई न करें, बल्कि उन्हें पराली जलाने से रोकने के लिए राजी करें।

पीठ ने कहा, "किसानों के खिलाफ कार्रवाई न करें, उन्हें मनाएं।" पीठ ने जोर देकर कहा कि वाहनों के प्रदूषण, औद्योगिक प्रदूषण और धूल नियंत्रण उपायों पर कार्रवाई की आवश्यकता है, जो वायु प्रदूषण में लगभग 76 प्रतिशत योगदान देता है। दिल्ली सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि वह स्थानीय उत्सर्जन को नियंत्रित करने के लिए पूर्ण लॉकडाउन जैसे कदम उठाने के लिए तैयार है, जिससे राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण को कम करने में मदद मिलेगी, लेकिन साथ ही कहा कि इसका सीमित प्रभाव ही होगा।

एक हलफनामे में, दिल्ली सरकार ने कहा, "जीएनसीटीडी स्थानीय उत्सर्जन को नियंत्रित करने के लिए पूर्ण लॉकडाउन जैसे कदम उठाने के लिए तैयार है। हालांकि, ऐसा कदम सार्थक होगा यदि इसे पड़ोसी राज्यों में एनसीआर क्षेत्रों में लागू किया जाता है। दिल्ली के कॉम्पैक्ट आकार को देखते हुए, लॉकडाउन का वायु गुणवत्ता व्यवस्था पर सीमित प्रभाव पड़ेगा।"

केजरीवाल सरकार का हलफनामा- पूर्ण लॉकडाउन लगाने के लिए दिल्ली तैयार, SC ने जमकर लगाई फटकार