BREAKING NEWS

प्रशांत ने नीतीश के दावे को बताया 'झूठा'◾बस ने ऑटो रिक्शा को मारी टक्कर, दोनों वाहन कुएं में गिरे, 15 से अधिक लोगों की मौत , 20 से ज़्यादा जख्मी◾भाजपा चुनाव को साम्प्रदायिक बनाना चाहती है : कांग्रेस◾अंडर-19 विश्व कप : ऑस्ट्रेलिया को हराकर भारत सेमीफाइनल में◾कन्हैया कुमार से ज्यादा खतरनाक बयान दिया है शरजील ने - शाह◾जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर BSF को ड्रोन रोधी प्रणाली से लैस किया जाएगा◾भारत ने हिन्दू लड़की के अपहरण पर पाक उच्चायोग के अधिकारी को किया तलब, आपत्ति पत्र जारी किया◾प्रशांत किशोर को अमित शाह के कहने पर जदयू में शामिल किया : नीतीश कुमार ◾NPR के प्रारूप में जोडे गए नए कॉलम को हटाने का आग्रह करेंगे पार्टी सांसद : नीतीश कुमार ◾बजट सत्र के मद्देनजर राज्यसभा के सभापति ने शुक्रवार को बुलाई सर्वदलीय बैठक ◾राहुल ने किया नेशनल रजिस्टर आफ अनएम्पलायमेंट पोस्टर का विमोचन ◾राजद्रोह का आरोपी शरजील इमाम बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार◾नरेंद्र मोदी ने देश की भाईचारे और एकता की छवि को नुकसान पहुंचाया : राहुल गांधी◾एनसीसी के कार्यक्रम में PM मोदी बोले- पाक को धूल चटाने में 10 दिन भी नहीं लगेंगे'◾कांग्रेस ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- प्रति व्यक्ति कर्ज 27 हजार रुपये बढ़ा, सरकार बजट में बताए कि यह बोझ कैसे कम होगा ◾2002 गुजरात दंगे के 14 दोषियों को सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत◾केजरीवाल की चुनौती को अमित शाह ने स्वीकारी, 8 सांसदों को स्कूलों में भेजकर खोली पोल ◾सीएए के तहत भारतीय नागरिकता पाने के लिए लोगों को देना होगा धर्म का सबूत◾क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए एक-दूसरे की संवेदनाओं को समझना आवश्यक : राजनाथ सिंह◾पाक के लाहौर में मारा गया खालिस्तानी नेता 'हैप्पी PhD’, RSS नेताओं की हत्या का था आरोपी◾

वैज्ञानिकों ने रोबोट को बना दिया नेता, साल 2020 में लड़ेगा चुनाव

न्यूजीलैंड के वैज्ञानिकों ने एक रोबोट को नेता बना दिया है। आपको बता दे कि इसमें नेता वाली सारी खूबियां होंगी । वही , ये दुनिया में इस तरह का पहला रोबोट होगा ।

वैज्ञानिकों ने दुनिया का पहला कृत्रिम बुद्धि वाला राजनीतिज्ञ विकसित किया है जो आवास, शिक्षा, आव्रजन संबंधी नीतियों जैसे स्थानीय मुद्दों पर पूछे गए सवालों के जवाब दे सकता है। इतना ही नहीं, उसे 2020 में न्यूजीलैंड में होने वाले आम चुनाव में उम्मीदवार बनाने की तैयारियां भी जोरों पर हैं।

इस आभासी राजनीतिज्ञ का नाम सैम (एसएएम) रखा गया है और इसके रचनाकार न्यूजीलैंड के 49 वर्षीय उद्यमी निक गेरिट्सन हैं। उन्होंने कहा ऐसा लगता है कि फिलहाल राजनीति में कई पूर्वाग्रह हैं।। 1 प्रतीत होता है कि दुनिया के देश जलवायु परिवर्तन एवं समानता जैसे जटिल मुद्दों का हल नहीं निकाल पा रहे हैं। कृत्रिम बुद्धि वाला राजनीतिज्ञ फेसबुक मेसेन्जर के जरिए लोगों को प्रतिक्रिया देना लगातार सीख रहा है।

गेरिट्सन मानते हैं कि एल्गोरिदम में मानवीय पूर्वाग्रह असर डाल सकते हैं। लेकिन उनके विचार से पूर्वाग्रह प्रौद्योगिकी संबंधी समाधानों में चुनौती नहीं हैं। टेक इन एशिया की खबर में कहा गया है कि प्रणाली भले ही पूरी तरह सटीक न हो, लेकिन यह कई देशों में बढ़ते राजनीतिक एवं सांस्कृतिक अंतर को भरने में मददगार हो सकती है।

न्यूजीलैंड में साल 2020 के आखिर में आम चुनाव होंगे। गेरिट्सन का मानना है कि तब तक सैम एक प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरने के लिए तैयार हो जाएगा।