BREAKING NEWS

भारत के रिकॉर्ड टीकाकरण का अमेरिका ने भी माना लोहा, कहा- महामारी को हराने में दुनिया की होगी मदद ◾दुनिया ने भारत पर किया शक लेकिन देश ने सबसे पहले 100 करोड़ वैक्सीन लगाकर दिया जवाब : PM मोदी ◾सिंघु बॉर्डर पर फ्री में चिकन नहीं देने पर तोड़ी युवक की टांग, पुलिस ने निहंग नवीन को किया गिरफ्तार◾कल से तीन दिवसीय जम्मू-कश्मीर दौरे पर होंगे अमित शाह, टारगेट किलिंग पर करेंगे हाईलेवल मीटिंग ◾बांग्लादेश : कॉक्स बाजार से गिरफ्तार हुआ हिन्दुओं के खिलाफ हिंसा भड़काने वाला आरोपी◾Coronavirus : देश में पिछले 24 घंटे में 15786 नए मामलों की पुष्टि, 231 लोगों ने गंवाई जान ◾हॉलीवुड स्टार एलेक बाल्डविन ने गलती से सेट पर चला दी गोली, महिला कैमरामैन की मौत, एक घायल◾महामारी पर पीएम मोदी का लेख: ‘‘चिंता से आश्वासन’’ की ओर यात्रा है कोरोना टीकाकरण अभियान◾मायावती का तंज- समझना होगा कि जनता से छल व वादाखिलाफी के कारण कांग्रेस के आए बुरे दिन◾World Corona : दुनियाभर में महामारी का कहर बरकरार, संक्रमितों का आंकड़ा 25 करोड़ के करीब◾सुबह 10 बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे PM मोदी, क्या रिकॉर्ड वैक्सीनेशन पर करेंगे चर्चा ◾इतिहास रचा, भारत में अब कोविड से लड़ने का मजबूत सुरक्षा कवच है : PM मोदी◾स्मृति ईरानी एवं हेमा मालिनी पर टिप्पणी कों लेकर EC से कांग्रेस की शिकायत◾उप्र विधानसभा चुनाव जीतने के लिए नफरत फैला रही है भाजपा, हो सकता है भारत का विघटन : फारूक अब्दुल्ला◾एनसीबी के सामने पेश हुईं अभिनेत्री अनन्या पांडे, कल सुबह 11 बजे फिर होगा सवालों से सामना ◾सिद्धू का अमरिंदर सिंह पर पलटवार - कैप्टन ने ही तैयार किये है केन्द्र के तीन काले कृषि कानून◾हिमाचल के छितकुल में 13 ट्रैकरों की हुई मौत, अन्य छह लापता◾कांग्रेस का PM से सवाल- जश्न से जख्म नहीं भरेंगे, ये बताएं 70 दिनों में 106 करोड़ टीके कैसे लगेंगे ◾केरल - वरिष्ठ माकपा नेता पर बेटी ने ही लगाया बच्चा छीनने का आरोप, मामला दर्ज ◾‘विस्तारवादी’ पड़ोसी को सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब, संप्रभुता से कभी समझौता नहीं करेगा भारत : नित्यानंद राय ◾

सरकार का सेना को तोहफा : 10 साल से कम की सेवा देने वाले सैनिकों को भी मिलेगी पेंशन

रक्षा मंत्रालय ने 10 साल से कम की भी सेवा देने वाले सशस्त्र बलों के कर्मियों के लिये बुधवार को अशक्त पेंशन की अनुमति दे दी। अभी तक यह पेंशन सशस्त्र बलों के सिर्फ उन कर्मियों को दी जाती थी, जिन्होंने 10 साल से अधिक की सेवा दी है और उन कारणों से अशक्त हुए हैं जो सैन्य सेवा से संबद्ध नहीं हैं। 

यदि अशक्त होने के समय किसी सैनिक की सेवा 10 साल से कम की होती थी, तो अब तक उसे सिर्फ अशक्त ग्रेच्युटि का ही भुगतान किया जाता था। मंत्रालय ने बुधवार को कहा, ‘‘सरकार ने 10 साल से कम की सेवा देने वाले सशस्त्र बलों के कर्मियों को भी अशक्त पेंशन देने का फैसला किया है।’’ 

इसमें कहा गया है कि सशस्त्र बल का कोई कर्मी, जिसकी सेवा 10 साल से कम की है और जो किसी शारीरिक या मानसिक कमजोरी के कारण अशक्त हो गया है और जिसका (अशक्तता का) संबंध सैन्य सेवा से कहीं से नहीं है तथा जिस कारण उसे स्थायी रूप से सैन्य सेवाओं एवं असैन्य पुनर्नियुक्ति से हटा दिया गया है, वे इस फैसले से लाभान्वित होंगे। 

मंत्रालय ने कहा, ‘‘इस प्रस्ताव को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंजूरी प्रदान की है। इस फैसले से सशस्त्र बलों के वे कर्मी लाभान्वित होंगे जो चार जनवरी 2019 को सेवा में थे, या उसके बाद से सेवा में हैं।’’ 

डीएसी बैठक में सशस्त्र बलों को हथियार खरीदने के लिए 300 करोड़ रुपये का इमरजेंसी फंड मंजूर