भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सोमवार को कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने राफेल सौदे पर राहुल गांधी के “झूठ” का पर्दाफाश कर दिया है। पार्टी ने दावा किया कि लोग चाहते हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की “छवि खराब” करने के लिए माफी मांगे। उच्चतम न्यायालय ने आज स्पष्ट किया कि राफेल सौदे पर उसके फैसले के बारे में राहुल गांधी द्वारा की गयी टिप्पणियां गलत तरीके से शीर्ष अदालत के मत्थे मढ़ी गयी हैं। इसके बाद केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकर ने संवाददाता सम्मेलन में गांधी पर निशाना साधा।

सुप्रीम कोर्ट भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी की तरफ से गांधी के खिलाफ दायर अवमानना याचिका पर सुनवाई कर रहा था। यह याचिका उन खबरों के आधार पर दायर की गई थी जिनके मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष ने कथित तौर पर कहा था कि शीर्ष अदालत ने स्वीकार किया है कि राफेल लड़ाकू विमान सौदे में भ्रष्टाचार हुआ है और मोदी ने उद्योगपति अनिल अंबानी को 30,000 करोड़ रुपये दिए।

Rahul Gandhi

राहुल गांधी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना नोटिस जारी कर मांगा जवाब

जावड़ेकर ने कहा, “उच्चतम न्यायालय ने गांधी के झूठ का पर्दाफाश कर दिया है। वह रोजाना झूठ बोलते हैं और उनमें से एक झूठ का पर्दाफाश हो गया है, लोगों की मांग है कि वह माफी मांगे।” उन्होंने गांधी पर मोदी एवं संस्थानों की छवि खराब करने के लिए अदालत का प्रयोग करने का आरोप लगाया और कहा कि गांधी परिवार यह स्वीकार नहीं कर पा रहा है कि मोदी ऐसी ईमानदार सरकार चला सकते हैं जबकि संप्रग सरकार घोटालों में डूबी हुई थी।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा कि गांधी राजनीति के स्तर को निम्नतम स्तर पर ले जाने के लिए जिम्मेदार हैं। भाजपा नेता ने कांग्रेस अध्यक्ष का उपहास उड़ाते हुए कहा कि लोगों को पहले ऐसा लगता था कि वह अपनी कम समझ की वजह से गलत बयान देते हैं लेकिन अब यह साफ हो गया है कि वह “जानबूझ कर ऐसी गलतियां” करते हैं।