BREAKING NEWS

ट्रंप को भेंट की जाएगी 90 वर्षीय दर्जी की सिली हुई खादी की कमीज◾‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में हिस्सा लेने से पहले साबरमती आश्रम जाएंगे राष्ट्रपति ट्रम्प ◾तंबाकू सेवन की उम्र बढ़ाने पर विचार कर रही है केंद्र सरकार ◾TOP 20 NEWS 23 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾मौजपुर में CAA को लेकर दो गुटों में झड़प, जमकर हुई पत्थरबाजी, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले◾दिल्ली : सरिता विहार और जसोला में शाहीन बाग प्रदर्शन के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग◾पहले शाहीन बाग, फिर जाफराबाद और अब चांद बाग में CAA के खिलाफ धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी ◾ट्रम्प की भारत यात्रा पहले से मोदी ने किया ट्वीट, लिखा- अमेरिकी राष्ट्रपति का स्वागत करने के लिए उत्साहित है भारत◾सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसलों ने देश के कानूनी और संवैधानिक ढांचे को किया मजबूत : राष्ट्रपति कोविंद ◾Coronavirus के प्रकोप से चीन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 2400 पार ◾शाहीन बाग प्रदर्शन को लेकर वार्ताकार ने SC में दायर किया हलफनामा, धरने को बताया शांतिपूर्ण◾मन की बात में बोले PM मोदी- देश की बेटियां नकारात्मक बंधनों को तोड़ बढ़ रही हैं आगे◾बिहार में बेरोजगारी हटाओ यात्रा के खिलाफ लगे पोस्टर, लिखा-हाइटैक बस तैयार, अतिपिछड़ा शिकार◾भारत दौरे से पहले दिखा राष्ट्रपति ट्रंप का बाहुबली अवतार, शेयर किया Video◾CAA के विरोध में दिल्ली के जाफराबाद में प्रदर्शन जारी, भारी संख्या में पुलिस बल तैनात ◾जाफराबाद में CAA के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर कपिल मिश्रा का ट्वीट, लिखा-मोदी जी ने सही कहा था◾US में निवेश कर रहे भारतीय निवेशकों से मुलाकात करेंगे Trump◾कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने पाक राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से की मुलाकात◾J&K के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों की जल्द रिहाई के लिए प्रार्थना करता हूं : राजनाथ सिंह◾1 मार्च से नहीं मिलेंगे 2000 रुपये के नोट, इस सरकारी बैंक ने लिया बड़ा फैसला !◾

चुनाव मैदान में उतरने से पहले विस का अंतिम सत्र अहम

रायपुर : छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र राजनीतिक नजरिए से अहम माना जा रहा है। कार्यकाल का अंतिम सत्र होने की वजह से भी सत्तापक्ष और विपक्ष की गतिविधियों पर नजरें टिकी हुई है। वहीं दूसरी ओर राजनीतिक तौर पर प्रदेश में संदेश देने की भी कोशिशें होगी। सदन में परफार्मेंस के बाद विधायकों को मुकाबले के लिए चुनावी मैदान में उतरना होगा। यही वजह है कि सदन में मुद्दों को उठाने के बाद क्षेत्रों में इसे भुनाने में भी कोई कसर बाकी नहीं छोडऩे पर जोर दिया जा रहा है।

इसके बाद नए कार्यकाल का ही पहला सत्र होगा। सत्र में विपक्ष की ओर से मुद्दों पर धारदार हमले होंगे वहीं दूसरी ओर सरकार की कोशिशें ठोस जवाब देकर बैकफुट पर धकेलने की कोशिशें होगी। सरकार की ओर से लाए जाने वाले अनुपूरक बजट को भी निर्णायक माना जा सकता है। मुख्य बजट पारित होने के बाद चार माह बाद ही अनुपूरक बजट को चुनावी वादों और घोषणाओं को पूरा करने की कोशिशें होगी। सरकार की ओर से चुनावी घोषणाओं को आचार संहिता प्रभावी होने से पहले ही अमलीजामा पहनाने की कोशिशें हैं।

आम तौर पर कार्यकाल के अंतिम वर्ष में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जाता रहा है। प्रदेश में ज्वलंत मुद्दों और घटनाओं के चलते विपक्ष ने इस बार साल भर पहले अविश्वास जताकर संदेश दिया था। एक बार फिर प्रस्ताव के जरिए हमले की तैयारी है। अंतिम सत्र में दोनों ही दलों के विधायकों की कोशिशें एक दूसरे पर हावी होने की रहेगी। इसके बाद सीधे विधायकों को चुनावी मैदान में दो-दो हाथ करना होगा।

बीते विधानसभा चुनाव के बाद सदन में बड़ी तादाद में नए विधायक चुनकर आए थे। वहीं दिग्गजों को मात झेलनी पड़ी थी। चुनावी दांव में इस बार भी राजनीतिक दलों की कोशिश नए चेहरों को सामने लाने है। मानसून सत्र की अवधि केवल पांच दिनों की है। इसमें विपक्ष पहले ही दिन सरकार को चौतरफा घेरने के मूड में है।