BREAKING NEWS

पश्चिम बंगाल: कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते कोलकाता में फिर से लग सकता है लॉकडाउन ◾CBSE का बड़ा ऐलान, अगले साल 9वीं से 12वीं क्लास के सिलेबस में 30 फीसदी की होगी कटौती, बोर्ड ने ट्वीट कर दी जानकारी◾भारत में कोरोना टेस्टिंग का आंकड़ा पहुंचा 1 करोड़ के पार, मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम : स्वास्थ्य मंत्रालय◾राहुल के आरोपों पर AgVa कंपनी का जवाब, कहा- वह डॉक्टर नहीं है, दावा करने से पहले करनी चाहिए थी पड़ताल◾यथास्थिति बहाल होने तक LAC से भारत को एक इंच भी पीछे नहीं हटना चाहिए : कांग्रेस◾राहुल का केंद्र सरकार से सवाल, कहा- भारतीय जमीन पर निहत्थे जवानों की हत्या को कैसे सही ठहरा रहा चीन?◾भारत-चीन बॉर्डर पर IAF ने दिखाया अपना दम, चिनूक और अपाचे हेलीकॉप्टर ने रात में भरी उड़ान◾विकास दुबे की तलाश में जुटी पुलिस की 50 टीमें, चौबेपुर थाने में 10 कॉन्स्टेबल का हुआ तबादला◾कोरोना वायरस : देश में मृतकों का आंकड़ा 20 हजार के पार, संक्रमितों की संख्या सवा सात लाख के करीब ◾पुलवामा में एनकाउंटर के दौरान सुरक्षा बलों ने 1 आतंकी मार गिराया, सेना का एक जवान भी हुआ शहीद ◾चीन मुद्दे पर US ने एक बार फिर किया भारत का समर्थन, कहा- अमेरिकी सेना साथ खड़ी रहेगी◾विश्वभर में कोविड-19 मरीजों की संख्या 1 करोड़ 15 लाख से अधिक, मरने वालों का आंकड़ा 5 लाख 3 हजार के पार ◾US में कोरोना संक्रमितों की संख्या 29 लाख के पार, अब तक 1 लाख 30 हजार से अधिक लोगों ने गंवाई जान◾गृह मंत्रालय से विश्वविद्यालयों को मिली हरी झंडी, परीक्षाएं कराने की मिली अनुमति◾महाराष्ट्र में कोरोना के 5,368 नए मामले आये सामने, 204 और मरीजों की मौत◾वांग - डोभाल बातचीत के बाद बोला चीन - LAC पर सैनिकों को पीछे हटाने का काम जल्द से जल्द किया जाना चाहिए ◾दिल्ली में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1 लाख के पार, देशभर में 7 लाख से ऊपर पहुंची संक्रमितों की संख्या◾कांग्रेस का पलटवार - चीन के खिलाफ मजबूत होती सरकार तो नड्डा को ‘झूठ’ नहीं बोलना पड़ता◾निलंबित DSP देविंदर सिंह समेत छह लोगों खिलाफआतंकी गतिविधियों के लिये NIA द्वारा चार्जशीट दायर ◾चीन के पीछे हटने से एक दिन पहले NSA डोभाल और चीनी विदेश मंत्री के बीच हुई थी बातचीत◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जिला उद्योग केंद्र में पीठाधीश बनकर अपने-अपने मनमाफिक तरीके से काम चला रहे है अधिकारी

लुधियाना : बेरोजगारों को रोजगार देने के नाम पर पंजाब सरकार द्वारा लगाए गए उदघाटनी मेले के दौरान लुधियना के 5 कांग्रेसी विधायकों ने जिला उद्योग केंद्र के जीएम अमरजीत सिंह की जमकर लताड़ लगाते हुए कहा कि सुधर जाओं... वरना कही बेराजगारों की लाइन में आप को दुबारा खड़ा ना होना पड़े। विधायकों ने शिकायत के लहज में कहा कि सरकार द्वारा जारी इस कार्यक्रम की रूपरेखा कई दिनों पहले तैयार होने के बावजूद ऐन आखिरी वक्त उन्हें संदेश देकर कार्यक्रम में आने का निमंत्रण दिया गया। उनके आरोप भी थे कि आयोजन स्थल पर पहुंचने के लिए उन्हें इधर-उधर भटकना पड़ा और इंडस्ट्री विभाग के किसी भी अधिकारी ने उनकी सुध ना ली।

यहां तक कि लुधियाना शहर के कांग्रेसी विधायक संजय तलवाड़ जिसे 42 हजार से ज्यादा लोगों ने वोट डालकर विधानसभा में भेजा है, को भी इंडस्ट्री के अधिकारी पहचानते तक नहीं। विधायकों की मौजूदगी में कांग्रेसी विधायक भारत भूषण आशु ने इंडस्ट्री महा प्रबंधक अमरजीत सिंह से जाकर पूछा कि सर क्या आप मुझे पहचानते है तेा उन्होंने आशु को पहचानने से इंकार कर दिया, इसी बीच विधायक महोदय ने अन्य विधायक संजय तलवाड़ की तरफ दुबारा इशारा करते हुए पूछा तो नही में गर्दन पुन: हिलाते ही आशु भडक़ उठे और गुस्से में उन्होंने कहा कि अगर आप सरकारी अधिकारी होने के बावजूद जनता के चुने हुए जनप्रतिनिधियों को नहीं पहचानते तो आप शहर के आम कारोबारियों को कैसे पहचानोंगे? जिक्र योग है कि पंजाब के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल द्वारा जिला उद्योग केंद्र में बतौरे विशेष अतिथि के तौर पर पहुंचे थे और जिला उद्योग के स्टाफ की नालायकी के चलते किसी ने भी स्थानीय विधायक को वित्तमंत्री के पहुंचने की समय पर सूचना ना दी।

हालांकि विधायक सुरेंद्र डाबर सुबह जिला उद्योग केंद्र में सबसे पहले पहुंचे थे जबकि मनप्रीत सिंह बादल 11 बजे के बाद पहुंचे। जिला उद्योग केंद्र की तरफ से शहर के उद्यमियों को भी इस आयोजित कार्यक्रम के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई जबकि स्वयं इस खबर के प्रतिनिधि के सामने पंजाबी और अंग्रेजी अखबार के प्रतिष्ठित पत्रकारों ने महाप्रबंधक अमरजीत सिंह को लुधियाना के आठों कांग्रेसी विधायकों के टेलीफोन नंबर और पते चार दिन पहले दे दिए थे। विधायकों को यह भी पता चला कि इंडस्ट्री डिपार्टमेंट में पीठाधीश बनकर काम कर रहे कुछ कर्मचारी और अधिकारी उद्योग केंद्र को अपने मनमाफिक फायदे के लिए चला रहे है जबकि सरकार द्वारा चलाएं जा रहे कार्यक्रमों को बदअंजामी तक पहुंचाने में उनकी भूमिका रही है और इस वक्त भी वे अकाली-भाजपा के इशारे पर काम कर रहे है।

- सुनीलराय कामरेड