BREAKING NEWS

राजस्थान: सियासी उठापटक के बीच कल सुबह दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे सचिन पायलट ◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 2.67 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 6,741 नए केस◾कानपुर शूटआउट : गिरफ्तार शशिकांत पांडेय का खुलासा, विकास के कहने पर ही हुई 8 पुलिसकर्मियों की हत्या◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में कोरोना के 50 फीसदी मामले महाराष्ट्र और तमिलनाडु से◾बिहार में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए 16 से 31 जुलाई तक लगाया गया लॉकडाउन ◾राज्यपाल से मुलाकात के बाद बोले गहलोत- कुछ लोग 'आ बैल मुझे मार' रवैये के साथ कर रहे थे काम◾सचिन पायलट की अध्यक्ष पद से बर्खास्ती के बाद गोविंद सिंह डोटासरा को सौंपा गया कार्यभार◾कांग्रेस के एक्शन के बाद सचिन पायलट ने किया ट्वीट- सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं ◾पूर्वी लद्दाख विवाद : भारत और चीन ने पैंगोग झील, देपसांग से सैनिकों को हटाने पर की वार्ता ◾कांग्रेस का सचिन पायलट पर बड़ा एक्शन, प्रदेश अध्यक्ष पद और उपमुख्यमंत्री के पद से किया बर्खास्त◾राजस्थान के मौजूदा संकट के लिए उमा भारती ने कांग्रेस और राहुल को बताया जिम्मेदार◾केजरीवाल ने प्लाज्मा बैंक का किया उद्धाटन, बोले- दिल्ली में कोरोना पीड़ित जरूरतमंदों को प्लाज्मा मिला ◾CBSE 10वीं का रिजल्ट कल होगा जारी, HRD मंत्री पोखरियाल ने की घोषणा ◾अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर पर चीन के दावे को किया खारिज, कही ये बात◾पायलट का गहलोत के खिलाफ बगावती सुर बरकरार, मनाने में जुटा कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व◾कानपुर मुठभेड़ : एक और आरोपी शशिकांत गिरफ्तार, पुलिस को विकास दुबे के घर पर मिली AK-47◾भगवान राम को नेपाली बताने वाले बयान पर भड़के सिंघवी, बोले-ओली का बिगड़ गया है मानसिक संतुलन◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 9 लाख के पार, अब तक 24 हजार के करीब लोगों ने गंवाई जान ◾दुनियाभर में कोरोना का कहर, वैश्विक महामारी से संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 30 लाख से अधिक हुई ◾राहुल ने किया ट्वीट- इस हफ्ते हमारे देश में आंकड़ा 10,00,000 पार कर जाएगा◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

लद्दाख तनाव : कल सुबह 9 बजे मालदो में होगी भारत और चीन के बीच ले. जनरल स्तरीय बातचीत

पूर्वी लद्दाख में महीने भर से जारी सीमा गतिरोध को हल करने के अपने पहले बड़े प्रयास के तहत भारत और चीन की सेनाएं शनिवार को लेफ्टिनेंट जनरल स्तरीय बातचीत करेंगी। हालांकि दोनों सेनाएं ऊंचाई वाले क्षेत्र के संवेदनशील इलाकों में आक्रामक मुद्रा में बनी हुयी हैं। 

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह करेंगे। सिंह लेह स्थित 14वीं कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग हैं। चीनी पक्ष का नेतृत्व तिब्बत सैन्य जिला कमांडर करेंगे। यह बातचीत मालदो में सीमा कर्मी बैठक स्थान पर होगी। दोनों पक्षों के मध्य पहले ही स्थानीय कमांडरों के बीच कम से कम 12 दौर की तथा मेजर जनरल स्तरीय अधिकारियों के बीच तीन दौर की बातचीत हो चुकी है। लेकिन चर्चा से कोई सकारात्मक नतीजा नहीं निकला। 

उम्मीद है कि शनिवार की बैठक में भारतीय पक्ष पैंगोंग त्सो और गलवान घाटी में यथास्थिति बहाल रखने पर जोर देगा ताकि पांच मई को दोनों पक्षों के बीच हिंसक झड़प के बाद चीन द्वारा बनाए गए अस्थायी शिविरों को हटाते हुए तनाव में धीरे-धीरे कमी लायी जा सके। 

भारतीय प्रतिनिधिमंडल, अप्रैल 2018 में वुहान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच पहले अनौपचारिक शिखर सम्मेलन में लिए गए निर्णयों के अनुरूप, दोनों सेनाओं द्वारा जारी रणनीतिक दिशानिर्देशों के कार्यान्वयन पर जोर देगा। समझा जाता है कि दोनों पक्ष गतिरोध दूर करने के लिए राजनयिक स्तर पर भी प्रयासरत हैं। 2017 के डोकलाम प्रकरण के बाद दोनों पक्षों के बीच यह सबसे गंभीर सैन्य गतिरोध है। 

पिछले महीने गतिरोध शुरू होने के बाद भारतीय सैन्य नेतृत्व ने फैसला किया कि भारतीय सेना पैंगोंग त्सो, गलवान घाटी, डेमचोक और दौलत बेग ओल्डी के सभी विवादित क्षेत्रों में चीनी सैनिकों की आक्रामक मुद्रा से निपटने के लिए दृढ़ दृष्टिकोण अपनाएगी। 

समझा जाता है कि चीन पैंगोंग त्सो और गलवान घाटी में लगभग 2,500 सैनिकों को तैनात करने के अलावा धीरे-धीरे अस्थायी बुनियादी ढांचे का निर्माण कर रहा है और हथियारों की तैनाती बढ़ा रहा है। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि उपग्रह द्वारा लिए गए चित्रों से चीन द्वारा अपनी ओर रक्षा संबंधी बुनियादी ढांचे को विकसित करने जानकारी मिली है। 

उन्होंने कहा कि चीन ने उत्तरी सिक्किम और उत्तराखंड में वास्तविक नियंत्रण रेखा से लगे कुछ क्षेत्रों में भी अपनी उपस्थिति बढ़ायी है, जिसके बाद भारत भी अतिरिक्त सैनिकों को भेजकर अपनी उपस्थिति बढ़ा रहा है। 

सैन्य बातचीत से पहले बोला चीन-भारत के साथ सीमा विवाद को उचित ढंग से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध