BREAKING NEWS

चुनाव के बाद एग्जिट पोल के नतीजे, भाजपा ने राहुल को मारा ताना ◾पकिस्तान द्वारा डाक मेल सेवा पर रोक लगाने के लिए रवि शंकर प्रसाद ने की आलोचना ◾सम्राट नारुहितो के राज्याभिषेक समारोह में शामिल होने जापान पहुंचे राष्ट्रपति कोविंद ◾गृह मंत्री अमित शाह से मिले CM कमलनाथ, केंद्र से 6,600 करोड़ रुपये की सहायता मांगी ◾पाकिस्तान ने भारत के साथ डाक सेवा बंद की, भारत ने अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन बताया ◾सरकार ने सियाचिन को पर्यटकों के लिए खोलने का फैसला किया : राजनाथ सिंह ◾TOP 20 NEWS 21 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- अगर पाक ने घुसपैठ कराना बंद नहीं की तो सशस्त्र बल उसे मुहंतोड़ जवाब देते रहेंगे◾भारत करतारपुर पर 23 को करेगा एग्रीमेंट, आस्था के नाम पर श्रद्धालुओं से वसूली पर अड़ा पाक ◾महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग समाप्त, जानें किस-किस ने डाला वोट◾उपचुनाव : यूपी समेत 17 राज्यों में वोटिंग समाप्त, जानें कहां कितने प्रतिशत हुआ मतदान◾हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए मतदान समाप्त, जानें कितने प्रतिशत हुआ मतदान◾आरे विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- मेट्रो कंस्ट्रक्शन पर नहीं लगाई कोई रोक ◾BJP विधायक के वीडियो पर राहुल गांधी का तंज, कहा- पार्टी में सबसे ईमानदार व्यक्ति हैं बख्शीश सिंह◾संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवंबर से 13 दिसंबर तक चलेगा◾शरद पवार ने डाला वोट, लोगों से की लोकतांत्रिक अधिकार का इस्तेमाल करने की अपील◾संघ प्रमुख मोहन भागवत बोले- बीते 90 वर्षों से हमें निशाना बनाया जा रहा है ◾हरियाणा में मुकाबला सिर्फ BJP और कांग्रेस के बीच : भूपिंदर सिंह हुड्डा◾केजरीवाल ने BJP पर साधा निशाना - बिजली सब्सिडी खत्म कर देगी भाजपा◾पोस्ट पेमेंट बैंक ने चुनौतियों को अवसर में बदला : PM मोदी ◾

देश

VVPAT पर्चियों के मिलान की हमारी मांग के विरोध में क्यों है चुनाव आयोग : सिंघवी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने ईवीएम के साथ लगी वीवीपैट की कम से कम 50 फीसदी पर्चियों के मिलान की मांग दोहराते हुए मंगलवार को सवाल किया कि आखिर चुनाव आयोग को इस पर क्या आपत्ति है और वह इसके विरोध में क्यों है? उन्होंने यह भी दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ‘विभाजनकारी और घृणात्मक’ बयान दे रहे हैं ताकि मुख्य मुद्दों से ध्यान भटकाया जा सके।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सिंघवी ने कहा, ‘‘हमारा यह कहना है कि चुनाव आयोग को कोई जिद नहीं करनी चाहिए। हम ईवीएम पर विश्वास नहीं करते, लेकिन फिलहाल कोई विकल्प नहीं है क्योंकि समय ही नहीं है। हम कह रहे हैं कि ईवीएम से चुनाव हो, लेकिन कम से कम 40-50 फीसदी वीवीपैट पर्चियों का मिलान होना चाहिए।

इसमें आयोग का इतना विरोध क्यों है? इसके लिए तो चुनाव आयोग को खुद पहल करनी चाहिए।’’ उन्होंने यह भी आरोप लगाया, ‘‘वीपीपैट की पर्चियों के मिलान की बात देश की एक राष्ट्रीय पार्टी (बीजेपी) नहीं मानती। यह तो चोर की दाढ़ी में तिनके वाली बात है।’’ चुनाव आयोग की ‘लॉजिस्टिक की कमी’ वाली दलील पर सिंघवी ने कहा, ‘‘यह विश्वसनीयता की बात है। एक तरफ विश्वसनीयता का प्रश्न है तो दूसरी तरफ लॉजिस्टिक का प्रश्न है।

\"vvpat\"

पर्चियों के मिलान के लिए अगर एक की बजाय पांच टीमें लगा दी जाएंगी तो एक या दो दिन में काम पूरा हो जाएगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पहले चरण के मदतान के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी और वोटरलिस्ट से नाम गायब होने जैसी कई शिकायतें आई हैं। ये तथ्य हमने चुनाव आयोग के समक्ष रखे हैं।’’

प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी के कुछ दूसरे नेताओं के चुनावी भाषणों के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री, अमित शाह और योगी के घृणात्मक बयान आ रहे हैं। वे सेना का इस्तेमाल राजनीति के लिए कर रहे हैं। यह उनकी घबराहट और बौखलाहट को दिखाता है। इनके पास रोजगार पर कोई जवाब नहीं है। मुख्य मुद्दों से भटकाने के लिए ये ऐसे हथकंडे अपना रहे हैं। हमने इनके विभाजनकारी और घृणात्मक वक्तव्यों के बारे में चुनाव आयोग को बताया है।’’

कांग्रेस के ‘न्याय’ संबंधी चुनावी वादे पर सिंघवी ने कहा, ‘‘ न्याय कोई जुमलेबाजी नहीं है। इसको चार महीने के गंभीर विचार विमर्श के बाद उच्च कोटि के अर्थशास्त्रियों द्वारा तैयार किया गया है। हमने कहा है कि इसका चरणबद्ध तरीके से क्रियान्वयन किया जाएगा। ये वो पार्टी कह रही है जो मनरेगा और खाद्य सुरक्षा कानून जैसी दुनिया की सबसे बड़ी योजनाएं लाई है। हम इस वादे को पूरा करेंगे।’’