BREAKING NEWS

PM मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप के बीच फोन पर हुई बात, ट्रंप ने मोदी को G-7 सम्मेलन में शामिल होने का दिया न्योता◾चक्रवात निसर्ग : राहुल गांधी बोले- महाराष्ट्र और गुजरात के लोगों के साथ पूरा देश खड़ा है ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 2,287 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 72 हजार के पार ◾वित्त मंत्रालय में कोरोना वायरस ने दी दस्तक, मंत्रालय के 4 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव ◾कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच, सरकार ने कहा- भारत महामारी से लड़ाई के मामले में अन्य देशों से बेहतर स्थिति में ◾जेसिका लाल हत्याकांड : उपराज्यपाल की अनुमति पर समय से पहले रिहा हुआ आरोपी मनु शर्मा ◾बाढ़ से घिरे असम के 3 जिलों में भूस्खलन, 20 लोगों की मौत, कई अन्य हुए घायल◾दिल्ली BJP अध्यक्ष पद से मनोज तिवारी का हुआ पत्ता साफ, आदेश गुप्ता को सौंपा गया कार्यभार◾दिल्ली हिंसा मामले में ताहिर हुसैन समेत 15 के खिलाफ दायर हुई चार्जशीट◾Covid-19 : अब घर बैठे मिलेगी अस्पतालों में खाली बेड की जानकारी, CM केजरीवाल ने लॉन्च किया ऐप◾कारोबारियों से बोले PM मोदी-देश को आत्मनिर्भर बनाने का लें संकल्प, सरकार आपके साथ खड़ी है◾ ‘बीएए3’ रेटिंग को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा-अभी तो स्थिति ज्यादा खराब होगी ◾कपिल सिब्बल का केंद्र पर तंज, कहा- 6 साल का बदलाव, मूडीज का डाउनग्रेड अब कहां गए मोदी जी?◾महाराष्ट्र और गुजरात में 'निसर्ग' चक्रवात का खतरा, राज्यों में जारी किया गया अलर्ट, NDRF की टीमें तैनात◾कोरोना वायरस : देश में महामारी से 5598 लोगों ने गंवाई जान, पॉजिटिव मामलों की संख्या 2 लाख के करीब ◾Covid-19 : दुनियाभर में वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, मरीजों की संख्या 62 लाख के पार पहुंची ◾डॉक्टर ने की जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या की पुष्टि, कहा- गर्दन पर दबाव बनाने के कारण रुकी दिल की गति◾अमेरिका में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी जारी, मरीजों की आंकड़ा 18 लाख के पार हुआ ◾भारत में कोविड-19 से ठीक होने की दर पहुंची 48.19 प्रतिशत,अब तक 91,818 लोग हुए स्वस्थ : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,361 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 70 हजार के पार, अकेले मुंबई में 40 हजार से ज्यादा केस◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

योगी सरकार ने जारी किया नया फरमान , 15 अगस्त को यूपी के सभी मदरसों में होगा राष्ट्रगान

देशभर में स्वतंत्रता दिवस पर यू पी की योगी सरकार ने मदरसों के लिए एक फरमान जारी किया है। बता दे कि यू पी में योगी सरकार का एक निर्देश फिर से चर्चा में आ गया है। दरअसल 15 अगस्त के कार्यक्रम की योगी सरकार ने तमाम मदरसों में वीडियोग्राफी कराने को कहा है, जिसके बाद से यह सवाल उठने लगा है कि आखिर ऐसा क्यों कहा गया है। हालांकि सरकार की ओर से जो निर्देश जारी हुआ है उसके अनुसार यह निर्देश इसलिए दिया गया है ताकि उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले मदरसे के कार्यक्रम को भविष्य में प्रोत्साहित किया जा सके और आगे वर्षों में इसके आयोजन को बढ़ावा दिया जाए।

बता दे कि यू पी मदरसा शिक्षा परिषद के रजिस्ट्रार की ओर से जो निर्देश जारी किया गया है उसमें कहा गया है कि प्रदेश के समस्त मदरसों में राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रतता दिवस का आयोजन किया जाए। जिसमें झंडा रोहण, राष्ट्रगान, स्वतंत्रता संग्राम को शहीदों को श्रृद्धांजलि, मदरसे के छात्र व छात्राओं द्वारा राष्ट्रीय गीतों का प्रस्तुतिकरण, सहित तमाम कार्यक्रमों के आजोन की बात कही गई है।

इसके साथ ही जो सर्कुलर जारी हुआ है उसमे कहा गया है कि तमाम जनपदों में स्थित सभी मदरसों को स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम को आयोजित कराने का निर्देश दिया जाए, साथ ही इसकी वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी करा ली जाए ताकि उत्कृष्ट श्रेणी के कार्यक्रमों को भविष्य में दोहराया जा सके और प्रोत्साहित किया जा सके।

वही इसके पीछे की वजह ये मानी जा रही है कि योगी सरकार ‘राष्ट्रीय पर्व’ को लेकर मदरसों की हकीकत का पता लगाना चाहती है। मदरसा परिषद बोर्ड की तरफ से 3 अगस्त को जिला अल्पसंख्यक अधिकारी को लेटर भेजा गया, जिसमें इस पूरे कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की गई है। निर्देश के अनुसार स्वतंत्रता दिवस पर सुबह 8 बजे तिरंगा फहराया जाएगा और सुबह 8 बजकर 10 मिनट पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी जाएगी।

गौरतलब है कि प्रदेश में कुल 8000 मदरसे हैं। जो कि प्रदेश मदरसा परिषद के तहत आते हैं। इनमे से 560 मदरसे ऐसे हैं जोकि पूरी तरह से यूपी सरकार से वित्तीय सहायता प्राप्त हैं और यूपी सरकार ही इनका खर्च वहन करती है।

ऐसे में योगी सरकार के इस फैसले से कई मुस्लिम संगठनों ने सवाल उठाया है कि क्या सरकार उन्हें शक की नजर से देखती है। मदरसा प्रबंधक हाजी सैयद तहव्वर हुसैन ने कहा कि आजादी की जंग के लिए मदरसों ने बढ़चढ़कर लड़ाई लड़ी हैं, उसके बाद भी सरकार हमें शक की नजर से देख रही है।

हालांकि, मदरसा बोर्ड की तरफ से जारी इस फरमान का विरोध किया गया है। मदरसा संगठनों ने कहा है कि सरकार का ये निर्देश दुर्भाग्यपूर्ण है उन्हें शक की नजरों से देखा जा रहा है। मदरसा प्रबंधक हाजी सैयद तहव्वर हुसैन ने इस फरमान पर सवाल खड़े करते हुए कहा है, “जंग-ए-आजादी में मदरसा और यहां के शिक्षकों को बहुमूल्य योगदान रहा है। इसके बावजूद मदरसों को शक की निगाह से देखा जाना दुर्भाग्यपूर्ण व निंदनीय है।