BREAKING NEWS

महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने बैंकाक पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ◾किसानों की आवाज को कुचलना चाहती है भाजपा सरकार : अखिलेश◾उत्तरी कश्मीर में पांच संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार ◾‘शिवसेना राजग की बैठक में भाग नहीं लेगी’ ◾TOP 20 NEWS 16 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रामलीला मैदान में मोदी सरकार की ‘जनविरोधी नीतियों’ के खिलाफ विपक्ष करेगी बड़ी रैली ◾झारखंड विधानसभा चुनाव : भाजपा ने तीन उम्मीदवारों की चौथी सूची की जारी◾सबरीमला मंदिर के कपाट खुले, पुलिस ने 10 महिलाओं को वापस भेजा◾राफेल पर CM अरविंद केजरीवाल का प्रकाश जावड़ेकर को जवाब, ट्वीट कर कही ये बात ◾दिल्ली: राफेल डील में SC से क्लीन चिट के बाद AAP कार्यालय के पास भाजपा का प्रदर्शन◾नवाब मलिक ने फड़णवीस पर साधा निशाना, कहा- हार चुके सेनापति को अपनी हार स्वीकार करनी चाहिए◾गोवा में मिग 29 K लडाकू विमान दुर्घटनाग्रस्त, दोनों पायलट सुरक्षित◾योगी ने स्वाती सिंह को किया तलब, सीओ को धमकाने का ऑडियो हुआ था वायरल◾संजय राउत का BJP पर शायराना वार, लिखा- 'यारों नए मौसम ने अहसान किया...'◾

देश

योगी सरकार ने जारी किया नया फरमान , 15 अगस्त को यूपी के सभी मदरसों में होगा राष्ट्रगान

देशभर में स्वतंत्रता दिवस पर यू पी की योगी सरकार ने मदरसों के लिए एक फरमान जारी किया है। बता दे कि यू पी में योगी सरकार का एक निर्देश फिर से चर्चा में आ गया है। दरअसल 15 अगस्त के कार्यक्रम की योगी सरकार ने तमाम मदरसों में वीडियोग्राफी कराने को कहा है, जिसके बाद से यह सवाल उठने लगा है कि आखिर ऐसा क्यों कहा गया है। हालांकि सरकार की ओर से जो निर्देश जारी हुआ है उसके अनुसार यह निर्देश इसलिए दिया गया है ताकि उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले मदरसे के कार्यक्रम को भविष्य में प्रोत्साहित किया जा सके और आगे वर्षों में इसके आयोजन को बढ़ावा दिया जाए।

बता दे कि यू पी मदरसा शिक्षा परिषद के रजिस्ट्रार की ओर से जो निर्देश जारी किया गया है उसमें कहा गया है कि प्रदेश के समस्त मदरसों में राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रतता दिवस का आयोजन किया जाए। जिसमें झंडा रोहण, राष्ट्रगान, स्वतंत्रता संग्राम को शहीदों को श्रृद्धांजलि, मदरसे के छात्र व छात्राओं द्वारा राष्ट्रीय गीतों का प्रस्तुतिकरण, सहित तमाम कार्यक्रमों के आजोन की बात कही गई है।

इसके साथ ही जो सर्कुलर जारी हुआ है उसमे कहा गया है कि तमाम जनपदों में स्थित सभी मदरसों को स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम को आयोजित कराने का निर्देश दिया जाए, साथ ही इसकी वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी करा ली जाए ताकि उत्कृष्ट श्रेणी के कार्यक्रमों को भविष्य में दोहराया जा सके और प्रोत्साहित किया जा सके।

वही इसके पीछे की वजह ये मानी जा रही है कि योगी सरकार ‘राष्ट्रीय पर्व’ को लेकर मदरसों की हकीकत का पता लगाना चाहती है। मदरसा परिषद बोर्ड की तरफ से 3 अगस्त को जिला अल्पसंख्यक अधिकारी को लेटर भेजा गया, जिसमें इस पूरे कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की गई है। निर्देश के अनुसार स्वतंत्रता दिवस पर सुबह 8 बजे तिरंगा फहराया जाएगा और सुबह 8 बजकर 10 मिनट पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी जाएगी।

गौरतलब है कि प्रदेश में कुल 8000 मदरसे हैं। जो कि प्रदेश मदरसा परिषद के तहत आते हैं। इनमे से 560 मदरसे ऐसे हैं जोकि पूरी तरह से यूपी सरकार से वित्तीय सहायता प्राप्त हैं और यूपी सरकार ही इनका खर्च वहन करती है।

ऐसे में योगी सरकार के इस फैसले से कई मुस्लिम संगठनों ने सवाल उठाया है कि क्या सरकार उन्हें शक की नजर से देखती है। मदरसा प्रबंधक हाजी सैयद तहव्वर हुसैन ने कहा कि आजादी की जंग के लिए मदरसों ने बढ़चढ़कर लड़ाई लड़ी हैं, उसके बाद भी सरकार हमें शक की नजर से देख रही है।

हालांकि, मदरसा बोर्ड की तरफ से जारी इस फरमान का विरोध किया गया है। मदरसा संगठनों ने कहा है कि सरकार का ये निर्देश दुर्भाग्यपूर्ण है उन्हें शक की नजरों से देखा जा रहा है। मदरसा प्रबंधक हाजी सैयद तहव्वर हुसैन ने इस फरमान पर सवाल खड़े करते हुए कहा है, “जंग-ए-आजादी में मदरसा और यहां के शिक्षकों को बहुमूल्य योगदान रहा है। इसके बावजूद मदरसों को शक की निगाह से देखा जाना दुर्भाग्यपूर्ण व निंदनीय है।