BREAKING NEWS

निर्भया मामला : कोर्ट ने कहा किसी नए दिशा-निर्देश की जरूरत नहीं, दोषियों के वकील की याचिका निपटाई ◾प्रधानमंत्री मोदी और ब्राजील के राष्ट्रपति ने द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ़ करने के मुद्दों पर चर्चा की ◾प्रशांत किशोर ने सुशील मोदी पर साधा निशाना, कहा- लोगों को चरित्र प्रमाणपत्र देने में इनका कोई जोड़ नहीं ◾देश में घुसे पाक और बांग्लादेशी घुसपैठियों को निकालो : शिवसेना ◾राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर PM मोदी और उपराष्ट्रपति नायडू ने दी बधाई, देशवासियों से की ये अपील◾मौलाना कल्बे सादिक बोले- देश मोदी-शाह की मर्जी से नहीं, संविधान से चलेगा◾तुर्की में 6.8 तीव्रता का भूकंप, 18 लोगों की मौत◾...जब दिल्ली में चुनाव प्रचार खत्म कर कार्यकर्ता के घर पहुंचे अमित शाह, खाया खाना◾केंद्र सरकार ने भीमा कोरेगांव मामले की जांच NIA को सौंपी, महाराष्ट्र के गृहमंत्री देशमुख ने की निंदा◾पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी बोले- SCO बैठक के लिए भारत के आमंत्रण का है इंतजार◾फांसी टलवाने के लिए सभी हथकंडे आजमा रहे निर्भया के दोषी, तिहाड़ जेल प्रशासन के खिलाफ आज होगी सुनवाई◾रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ PMLA मामला : प्रवासी कारोबारी थम्पी की हिरासत 4 दिनों के लिए बढ़ी ◾3-4 दिनों में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा : बी एस येदियुरप्पा◾CAA के बाद देश से वापस लौटने वाले बांग्लादेशी प्रवासियों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है : BSF◾TOP 20 NEWS 24 January : आज की 20 सबसे बड़ी ◾विजयवर्गीय के पोहे वाले बयान पर जावड़ेकर बोले- मैं भी पोहा खाता हूं ◾मुख्यमंत्री केजरीवाल बोले- चुनाव काम के आधार पर लड़ा जाएगा, न कि जाति या धर्म के आधार पर◾कांग्रेस, आप ने वोट बैंक की राजनीति की, भाजपा जो कहती है, वह करती है : नड्डा ◾प्रधानमंत्री मोदी बोले- भारत सिर्फ 130 करोड़ लोगों का घर ही नहीं बल्कि एक जीवंत परंपरा है◾भारत ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया, सीरीज में 1-0 से आगे ◾

180 और औद्योगिक इकाइयों पर होगी कार्रवाई

नैनीताल : उत्तराखंड में प्रदूषण मानकों का पालन नहीं करने के मामले में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट के बाद राज्य की आठ औद्योगिक इकाइयों को बंद कर दिया गया है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने उच्च न्यायालय को यह जानकारी दी। इसके अलावा न्यायालय ने लाल रंग की श्रेणी (रेड कैटगरी) के तहत आने वाली 180 औद्योगिक इकाइयों की सर्वे रिपोर्ट भी अदालत में पेश करने को कहा है। यह जानकारी अधिवक्ता सी. के. शर्मा ने दी। श्री शर्मा तीन याचिकाकर्ताओं में से एक याचिकाकर्ता अशोक कुमार के अधिवक्ता हैं। इस मामले को तीन याचिकाकर्ताओं की ओर से जनहित याचिका के माध्यम से चुनौती दी गयी है।

श्री शर्मा ने बताया कि केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने प्रदेश में 323 औद्योगिक इकाइयों को खतरनाक मानते हुए रेड कैटगरी में घोषित किया था। इनमें से 180 इकाइयां आज भी इसमें हैं। अदालत ने उत्तराखंड प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को निर्देश दिये कि वह शेष बची 180 इकाइयों का सर्वेक्षण कर क्रियान्वयन रिपोर्ट 10 जून तक अदालत में पेश करें। इसके साथ ही उत्तराखंड प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से अदालत को बताया गया कि 17 औद्योगिक इकाइयों में से आठ इकाइयों में प्रदूषण नियंत्रण मानकों का पालन नहीं किया जा रहा है।

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से उन्हें बंद कर दिया गया है। राज्य विद्युत निगम की ओर से अदालत को बताया गया कि इन इकाइयों की बिजली और पानी बंद कर दी गयी है। शेष आठ इकाइयां के प्रदूषण मानक सही पाये गये हैं। बोर्ड की ओर से अदालत को यह भी बताया गया कि दो अन्य इकाइयों की जांच चल रही है और दोनों इकाइयों की ओर से प्रदूषण मानकों का पालन किया जा रहा है।