BREAKING NEWS

‘‘ अडानी बुलबुला’’ को लेकर राहुल गांधी की भविष्यवाणी हुई सच : दिग्विजय◾मालीवाल को हार्वर्ड विश्वविद्यालय में सम्मेलन में वक्ता के तौर पर आमंत्रित किया गया : DCW◾CM योगी बोले- आने वाले समय में फार्मा का एक बड़ा केंद्र बनकर उभरने जा रहा उत्तर प्रदेश◾महादयी मुद्दे पर टिप्पणी करने से केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव का इनकार, कांग्रेस ने की ये मांग ◾ED ने पंजाब में मादक पदार्थों से जुड़े धनशोधन मामले में छापेमारी के दौरान हथियार बरामद किए ◾पाकिस्तान: पुलिस की बड़ी कार्रवाई, तालिबान के दो कमांडर मार गिराए ◾केंद्र ने तमिलनाडु से विमान ईंधन पर वैट घटाने का किया आग्रह◾RSS defamation case: कोर्ट चार मार्च को राहुल गांधी की याचिका पर सुनाएगी आदेश◾वंदे भारत में भोजन की खराब गुणवत्ता की मिली शिकायत◾मस्क: लीगेसी सत्यापित खाते जल्द ही अपने ब्लू बैज खो देंगे ◾कांग्रेस का आग्रह- सिद्धू को जेल से रिहा करने पर विचार करें CM मान◾अजय मकान ने कहा- 'केजरीवाल ने कांग्रेस को हराने के लिए शराब घोटाला किया'◾Mumbai : मुंबई फायर ब्रिगेड भर्ती' में पुलिस और महिलाओं के बीच जमकर हुई झड़प, पुलिस ने चलाई लाठी ? ◾अभिषेक बनर्जी का आरोप- पश्चिम बंगाल को बदनाम करने की कोशिश कर रहा है केंद्र◾ MP Election 2023: अब MP के चुनावी मैदान में उतरेगी AAP, 230 सीटों पर लडे़ेंगे चुनाव◾सेना का बड़ा फैसला, अब ‘अग्निवीर’ भर्ती प्रक्रिया में पहले देनी होगी ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा◾सेना का बड़ा फैसला, अब ‘अग्निवीर’ भर्ती प्रक्रिया में पहले देनी होगी ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा◾Doda Cracks: जोशीमठ और उत्तराखंड के बाद अब जम्मू-कश्मीर की जमीन में आई दरारे, स्टडी करने पहुंची टीम◾ बजट में से 200 करोड़ काटकर तालिबान को देने पर CM केजरीवाल ने सरकार पर उठाए सवाल ◾कर्नाटक चुनाव पर बोले बीएस येदियुरप्पा, कहा- 'इस बार भी बीजेपी का आना तय'◾

वायु सेना प्रमुख ने पूर्वी वायु कमान के अग्रिम ठिकानों का दौरा किया, तैयारियों का लिया जायजा

वायुसेना प्रमुख आर. के. एस. भदौरिया ने चीन के साथ सीमा पर तनाव बढ़ने के मद्देनजर अरूणाचल प्रदेश और सिक्किम में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर बल की अभियान संबंधी तैयारियों की समीक्षा की है। अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। 

वायुसेना के प्रवक्ता ने वायुसेना के ठिकानों के नामों का उल्लेख किये बगैर कहा, ‘‘एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने बुधवार को पूर्वी वायु (सेना) कमान में अग्रिम एयर बेस का दौरा किया।’’ वायुसेना की पूर्वी कमान का मुख्यालय शिलांग में है, जो सिक्किम और अरूणाचल प्रदेश में एलएसी से लगे संवेदनशील इलाकों और क्षेत्र के कई अन्य हिस्सों में हवाई रक्षा की देखभाल करता है। 

थल सेना और वायुसेना ने करीब 3,400 किमी लंबी एलएसी पर सभी अहम ठिकानों पर सतर्कता बढ़ा दी है। पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील के दक्षिणी तट पर यथा स्थिति में बदलाव करने की चीन की हालिया कोशिश के बाद ऐसा किया गया है। वायुसेना प्रवक्ता ने कहा कि वायुसेना प्रमुख को कमान के तहत लड़ाकू इकाइयों की ‘‘तैयारियों की स्थिति’’ और अभियानगत तैयारियों के बारे में अवगत कराया गया। 

अधिकारी ने कहा, ‘‘एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने इन इकाइयों में सेवारत वायुसेना के जांबाज जवानों से भी अपने दौरे पर बातचीत की। उन्होंने सभी भूमिकाओं के निर्वहन में वायुसेना ठिकाने के कर्मियों के लक्ष्य केंद्रित प्रयासों की भी सराहना की और उनसे पूरी कर्मठता से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने को कहा। ’’ 

मई की शुरूआत में पूर्वी लद्दाख में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प होने से उपजे सीमा विवाद के बाद से वायुसेना प्रमुख नियमित रूप से एलएसी से लगे वायु सेना के अहम ठिकानों का दौरा कर रहे हैं। जून में भदौरिया ने वायुसेना की संपूर्ण तैयारियों की समीक्षा के लिये बल के लद्दाख और श्रीनगर स्थित ठिकानों का दौरा किया था। 

पिछले दो महीने में वायुसेना ने पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर अन्य स्थानों में अहम सीमांत एयर बेस पर अग्रिम मोर्चे के अपने लगभग सभी श्रेणी के लड़ाकू विमानों को तैनात किया है, जिनमें सुखोई 30 एमकेआई, जगुआर और मिराज 200 लड़ाकू विमान शामिल हैं। 

वायुसेना ने अपाचे हमलावर हेलीकॉप्टर और सैनिकों को क्षेत्र में विभिन्न अग्रिम स्थानों पर पहुंचाने के लिये चिनूक हेलीकॉप्टर भी तैनात किये हैं। सोमवार को, थल सेना ने कहा कि चीनी सेना ने पैंगोंग झील के दक्षिणी तट पर 29 और 30 अगस्त की दरम्यानी रात यथा स्थिति में एकतरफा बदलाव करने के इरादे से उकसाने वाली सैन्य गतिविधियां की, लेकिन उसकी यह कोशिश भारतीय सैनिकों ने नाकाम कर दी। 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने मंगलवार को कहा कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने एक दिन पहले उकसाने वाली हरकत की थी, जब दोनों पक्षों के कमांडर तनाव दूर करने के लिये वार्ता कर रहे थे। 

SCO बैठक में शामिल होने के लिए राजनाथ सिंह मॉस्को पहुंचे, चीन और पाक के मंत्रियों से मिलने का प्लान नहीं