BREAKING NEWS

BSF स्थापना दिवस : अमित शाह बोले-हमारी सीमा और जवानों को कोई हल्के में नहीं ले सकता◾नागालैंड: सुरक्षाबलों की फायरिंग में 13 लोगों की मौत, ग्रामीणों ने फूंकी गाड़ियां, CM ने दिए SIT जांच के निर्देश ◾हिंदू-मुसलमान के बीच कटुता के लिए वामपंथी और कांग्रेस जिम्मेदार : CM हिमंत बिस्वा सरमा◾ओमीक्रोन खतरे के बीच दिल्ली पुलिस अलर्ट, सुरक्षा को लेकर दिए कई आदेश◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने 6 राज्यों को लिखा पत्र, कोविड संक्रमण पर अंकुश लगाने का किया आग्रह ◾Delhi Weather Update : धुंध की वजह से कम हुई विज़िबिलिटी, आज शाम तक बारिश के आसार, बढ़ेगी ठंड◾मथुरा : 6 दिसंबर से पहले प्रशासन की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, छावनी में तब्दील हुई कृष्ण नगरी◾चीन की बढ़ती क्षमताओं के परिणाम ‘गहरे’ हैं : जयशंकर◾जो ‘नया कश्मीर’ दिखाया जा रहा है, वह वास्तविकता नहीं है : महबूबा◾मछुआरों की चिंताओं और मत्स्यपालन क्षेत्र से जुड़े मुद्दों को राष्ट्रीय स्तर पर उठाएगी कांग्रेस : राहुल गांधी◾ सिद्धू ने फिर अलापा PAK राग! बोले- दोनो देशों के बीच फिर शुरू हो व्यापार◾भारत पर ओमीक्रॉन का वार, कर्नाटक-गुजरात के बाद अब महाराष्ट्र में भी दी दस्तक, देश में अब तक चार संक्रमित ◾गोवा में बोले केजरीवाल- सभी दैवीय ताकतें एकजुट हो रही हैं और इस बार कुछ अच्छा होगा◾मध्य प्रदेश में तीन चरणों में होंगे पंचायत चुनाव, EC ने तारीखों का किया ऐलान ◾कल्याण और विकास के उद्देश्यों के बीच तालमेल बिठाने पर व्यापक बातचीत हो: उपराष्ट्रपति◾वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का हआ निधन, दिल्ली के अपोलो अस्पताल में थे भर्ती◾ MSP और केस वापसी पर SKM ने लगाई इन पांच नामों पर मुहर, 7 को फिर होगी बैठक◾ IND vs NZ: एजाज के ऐतिहासिक प्रदर्शन पर भारी पड़े भारतीय गेंदबाज, न्यूजीलैंड की पारी 62 रन पर सिमटी◾भारत में 'Omicron' का तीसरा मामला, साउथ अफ्रीका से जामनगर लौटा शख्स संक्रमित ◾‘बूस्टर’ खुराक की बजाय वैक्सीन की दोनों डोज देने पर अधिक ध्यान देने की जरूरत, विशेषज्ञों ने दी राय◾

असम : विपक्ष पर बरसे PM मोदी, बोले - ये चुनाव महाजोत के 'महा झूठ ’और 'डबल इंजन के महा विकास' के बीच

6 अप्रैल को असम में तीसरे और आखिरी चरण के विधानसभा चुनावों के लिए मतदान होना है। कांग्रेस और भाजपा दोनों की चुनाव प्रचार में पूरी ताकत लगा रही है। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भाजपा की जीत पर विश्वास जताया और कहा कि लोग राज्य के विकास, शांति और सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) पर भरोसा करते हैं।

असम के कोकराझार में एक सार्वजनिक रैली को संबोधित करते हुए, पीएम मोदी ने कांग्रेस-एआईयूडीएफ गठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि यह महाजोत के  महा झूठ ’और दोहरे इंजन की सरकार के 'महा विकास’ के बीच का चुनाव है।

उन्होंने कहा, "फुटबॉल यहां युवाओं में बहुत लोकप्रिय है। अगर मुझे उनकी भाषा में बोलना है, तो मैं कहूंगा कि लोगों ने अभी तक कांग्रेस और इसके महाजोत को एक रेड कार्ड दिखाया है। असम के लोग विकास, शांति, सुरक्षा के लिए एनडीए पर भरोसा करते हैं।"

प्रधान मंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि एनडीए असम में सरकार बनाएगी और कहा कि लोगों ने पहले चरण के मतदान में जीत पर मुहर लगाई है। पीएम ने कहा , " मैं आपके घर के सदस्य की तरह हूं, इसलिए आपका मुझपर पूरा अधिकार है। हम मिलकर इस विश्वास को दिनों दिन और मजबूत करेंगे। हम मिलकर इस क्षेत्र का विकास करेंगे। हम मिलकर यहां की गौरवशाली परंपरा को आगे बढ़ाएंगे।" 

असम में पहले चरण की वोटिंग में असम के लोगों ने NDA को भरपूर आशीर्वाद दिया है। पहले चरण की वोटिंग में असम ने डबल इंजन की सरकार की भव्य विजय पर मोहर लगा दी है। मुझे संतोष है कि 2016 में बीटीआर में शांति और विकास का जो वादा हमने किया था, उसे लेकर हमने बहुत ईमानदार प्रयास किया है। एनडीए ने असम को शांति और सम्मान की सौगात दी है।

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए पीएम ने कहा कांग्रेस के लंबे शासन ने असम को बम, बंदूक और ब्लॉकेड में झोंक दिया था। ऐसी कोई जनजाति नहीं जिससे कांग्रेस ने विश्वासघात नहीं किया। वहीं NDA सरकार, कोच, राजबोन्शी, मोरान, मोटोक, सूतिया, सभी जनजातियों के हित में कदम उठा रही है। इसके लिए नई डेवलपमेंट काउंसिल बनाने का काम यहां तेज़ी से चल रहा है।

पीएम ने आगे कहा , "कांग्रेस ने टी गार्डन में काम करने वाले साथियों को कभी पूछा तक नहीं। ये NDA की ही सरकार है जिसने टी गार्डन्स में काम करने वाले मजदूर भाई-बहनों की हर चिंता के समाधान का प्रयास किया। कांग्रेस ने हमारे सत्रों, हमारे नामघरों को अवैध कब्जा गिरोहों के हवाले किया, एनडीए ने उनको मुक्त किया।कांग्रेस ने बराक, ब्रह्मपुत्र, पहाड़, मैदान- सबको भड़काया, एनडीए ने इनको विकास के सेतु से जोड़ा है।

विपक्ष पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा , " कांग्रेस के नेता बार-बार कहते हैं कि ये ताला-चाबी वाले असम की पहचान हैं। कांग्रेस के झूठ, उसकी साजिश को समझिए।सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस इन लोगों के सामने समर्पण कर चुकी है। इस अपमान की सजा कांग्रेस को तो मिलेगी ही, इस पूरे महाझूठ को मिलेगी। जिस दल के नेताओं ने कोकराझार को हिंसा की आग में झोंका था, आज कांग्रेस ने अपना हाथ और अपना भाग्य उन लोगों को थमा दिया है।

पीएम ने ये भी कहा , " लंबे समय के बाद असम में शांति लौटी है। जो साथी बंदूक छोड़कर लौटे हैं, उनकी हर संभव सहायता के लिए एनडीए सरकार प्रतिबद्ध है। अभी भी जो साथी नहीं लौटे हैं, उनसे भी मेरा आग्रह है कि शांति और विकास के इस मिशन से आप आप भी जुड़ जाइए।