BREAKING NEWS

मरम्मत के लिये ब्यास हाइडल नहर बंद होने से दिल्ली में प्रभावित होगी जलापूर्ति : चड्ढा ◾HC ने तांडव वेब सीरीज मामले में अपर्णा पुरोहित की अग्रिम जमानत याचिका खारिज की◾सरकार किसानों की आय बढ़ाने को बांस की खेती को दे रही है प्रोत्साहन : तोमर ◾प्रियंका ने पार्टी की यूपी चुनाव घोषणापत्र समिति के सदस्यों के साथ की बैठक ◾मुंबई में मुकेश अंबानी के घर के पास मिली संदिग्ध कार, विस्फोटक सामग्री बरामद ◾INDvsENG : नरेंद्र मोदी स्टेडियम में भारत का ऐतिहासिक आगाज, इंग्लैंड को 10 विकेट से हराया ◾तमिलनाडु का व्यापार के जरिए विकास का है शानदार इतिहास: पीएम मोदी◾प्रेस कांफ्रेंस में गैस सिलेंडर लेकर पहुंचे कांग्रेस प्रवक्ता, एलपीजी मूल्य वृद्धि पर केंद्र को घेरा ◾ब्रिटेन की अदालत का फैसला, PNB घोटाला मामले में भगौड़े नीरव मोदी को भारत प्रत्यर्पण की मंजूरी ◾बंगाल को कटमनी, टोलाबाजी के लिए टीके की आवश्यकता, भाजपा करेगी इसका प्रबंध : जे पी नड्डा ◾ अमित शाह ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- सत्ता की लालसा में बदरुद्दीन अजमल से हाथ मिलाया ◾PM मोदी का तमिलनाडु को तोहफा, 12,400 करोड़ रुपये की कई परियोजनाओं का उद्घाटन, शिलान्यास किया ◾केंद्र ने 'समलैंगिक विवाह' का किया विरोध, कहा-'सेम सेक्स' जोड़े का साथ रहना फैमिली नहीं◾BJP अध्यक्ष जे पी नड्डा ने बंकिम चंद्र चटोपाध्याय के नैहाटी स्थित आवास पहुंचकर अर्पित की श्रद्धांजलि ◾IND vs ENG 3rd Test : भारत की पहली पारी 145 रन पर सिमटी, रूट ने झटके 5 विकेट ◾सोशल मीडिया प्लेटफार्म नहीं कर सकेंगे मनमानी, केंद्र सरकार ने बनाए सख्त नियम◾भाजपा की यात्रा तब पूरी होगी, जब असम जीडीपी में सर्वाधिक योगदान देने वाला राज्य बनेगा : अमित शाह◾चीन के बाद पाकिस्तान भी पड़ा नरम, सभी एलओसी समझौतों के सख्ती से पालन पर हुआ सहमत ◾प्रधानमंत्री बोले-कांग्रेस झूठ बोलने में गोल्ड, सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल विजेता◾पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के खिलाफ CM ममता का अनूठा विरोध, ई-स्कूटर पर बैठकर पहुंचीं सचिवालय◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

विपक्ष के विरोध के बीच असम विधानसभा में पेश हुआ सरकारी मदरसों को बंद करने वाला विधेयक

असम विधानसभा में सोमवार को राज्य के सभी सरकारी मदरसों को बंद करने और उन्हें स्कूलों में बदलने संबंधी विधेयक को पेश कर दिया गया है। विपक्ष की आपत्ति के बावजूद शिक्षा मंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने विधानसभा के तीन दिवसीय शीतकालीन सत्र के पहले दिन असम निरसन विधेयक, 2020 को पेश किया। 

विधेयक पेश करने के बाद हेमंत बिस्व सरमा ने कहा, हमने एक विधेयक पेश किया है जिसके तहत सभी मदरसों को सामान्य शिक्षा के संस्थानों में बदल दिया जाएगा और भविष्य में सरकार द्वारा कोई मदरसा स्थापित नहीं किया जाएगा। हम शिक्षा प्रणाली में वास्तव में धर्मनिरपेक्ष पाठ्यक्रम लाने के लिए इस विधेयक को पेश करके खुश हैं।

उन्होंने कहा, कांग्रेस और AIUDF (ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट) ने इस विधेयक का विरोध किया है। लेकिन हम दृढ़ हैं कि इस विधेयक को पारित करने की आवश्यकता है और इसे पारित किया जाएगा। विधेयक निजी मदरसे पर नियंत्रण और उनको बंद करने के लिए नहीं है। विधेयक के ‘लक्ष्यों और उद्देश्यों के बयान’ में ‘निजी’ शब्द गलती से शामिल हो गया। 

उन्होंने कहा कि सभी मदरसे उच्च प्राथमिक, उच्च और माध्यमिक स्कूलों में बदले जाएंगे और शिक्षक तथा गैर शिक्षण कर्मचारियों के वेतन, भत्ते और सेवा शर्तों में कोई बदलाव नहीं होगा। मंत्री ने पूर्व में कहा था कि असम में सरकार संचालित 610 मदरसे हैं।