BREAKING NEWS

त्रिपुरा के लोगों ने स्पष्ट संदेश दिया है कि वे सुशासन की राजनीति को तरजीह देते हैं : PM मोदी◾कांग्रेस ने हमेशा लोगों के मुद्दों की लड़ाई लड़ी, BJP ब्रिटिश शासकों की तरह जनता को बांट रही है: भूपेश बघेल ◾आजादी के 75 वर्ष बाद भी खत्म नहीं हुआ जातिवाद, ऑनर किलिंग पर बोला SC- यह सही समय है ◾त्रिपुरा नगर निकाय चुनाव में BJP का दमदार प्रदर्शन, TMC और CPI का नहीं खुला खाता ◾केन्द्र सरकार की नीतियों से राज्यों का वित्तीय प्रबंधन गड़बढ़ा रहा है, महंगाई बढ़ी है : अशोक गहलोत◾NFHS के सर्वे से खुलासा, 30 फीसदी से अधिक महिलाओं ने पति के हाथों पत्नी की पिटाई को उचित ठहराया◾कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर सरकार सख्त, केंद्र ने लिखा राज्यों को पत्र, जानें क्या है नई सावधानियां ◾AIIMS चीफ गुलेरिया बोले- 'ओमिक्रोन' के स्पाइक प्रोटीन में अधिक परिवर्तन, वैक्सीन की प्रभावशीलता हो सकती है कम◾मन की बात में बोले मोदी -मेरे लिए प्रधानमंत्री पद सत्ता के लिए नहीं, सेवा के लिए है ◾केजरीवाल ने PM मोदी को लिखा पत्र, कोरोना के नए स्वरूप से प्रभावित देशों से उड़ानों पर रोक लगाने का किया आग्रह◾शीतकालीन सत्र को लेकर मायावती की केंद्र को नसीहत- सदन को विश्वास में लेकर काम करे सरकार तो बेहतर होगा ◾संजय सिंह ने सरकार पर लगाया बोलने नहीं देने का आरोप, सर्वदलीय बैठक से किया वॉकआउट◾TMC के दावे खोखले, चुनाव परिणामों ने बता दिया कि त्रिपुरा के लोगों को BJP पर भरोसा है: दिलीप घोष◾'मन की बात' में प्रधानमंत्री ने स्टार्टअप्स के महत्व पर दिया जोर, कहा- भारत की विकास गाथा के लिए है 'टर्निग पॉइंट' ◾शीतकालीन सत्र से पूर्व विपक्ष में आई दरार, कल होने वाली कांग्रेस नेता खड़गे की बैठक से TMC ने बनाई दूरियां ◾उद्धव ठाकरे की सरकार के दो साल के कार्यकाल में विपक्ष पूरी तरह से दिशाहीन रहा : संजय राउत◾कांग्रेस Vs कांग्रेस : अधीर रंजन चौधरी के वार पर मनीष तिवारी का पलटवार◾कल से शुरू हो रहा है संसद का शीतकालीन सत्र, पेश होंगे ये 30 विधेयक◾BJP प्रवक्ता ने फूलन देवी को कहा 'डकैत', अखिलेश ने बताया 'निषाद समाज' का अपमान ◾तमिलनाडु बारिश : चेन्नई के कई इलाकों में जलभराव, IMD ने तटीय जिलों के लिए जारी किया रेड अलर्ट ◾

ममता पर व्यक्तिगत हमले करने की बजाय सकारात्मक प्रचार पर ध्यान केंद्रित करेगी BJP

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव का समय जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है प्रचार अभियान तेज होता जा रहा है। प्रचार अभियान के दौरान राजनैतिक दल व्यक्तिगत हमले करने से भी नहीं बच रहे, ऐसे में बीजेपी ने चुनावी प्रचार को लेकर अहम निर्णय लिया है। पार्ट्री ने तय किया है कि वह अब तृणमूल सुप्रीमो और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर व्यक्तिगत हमले करने की बजाय अपना फोकस सकारात्मक प्रचार पर करेगी। चुनाव प्रचार को लेकर बीजेपी का लिया गया यह फैसला उसके नेताओं की सार्वजनिक सभाओं और रैलियों में दिखने भी लगा है, जिनमें वे अपने भाषणों में बनर्जी पर हमला करने की बजाय विकास की बातें ज्यादा कर रहे हैं। 

राष्ट्रीय राजधानी में बीजेपी केंद्रीय चुनाव समिति की पिछली बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री और टॉलीगंज विधानसभा क्षेत्र से पार्टी के उम्मीदवार बाबुल सुप्रियो ने कहा, "बीजेपी सकारात्मक प्रचार अभियान करेगी और केवल विकास के बारे में बात करेगी। बीजेपी पश्चिम बंगाल में नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों के बारे में लोगों को बताएगी। जाहिर है, मोदी सरकार ने राज्य में ढेर सारे विकास कार्य किए हैं, जबकि बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी सरकार ने केंद्र की कई कल्याणकारी योजनाओं के कार्यान्वयन को रोकने का काम किया।" 

Bengal Assembly Elections 2021 : अमित शाह आज शाम 5:30 बजे जारी करेंगे बीजेपी का ' संकल्प पत्र '

इसी तरह बीजेपी के एक नेता ने कहा, "जब मोदी सरकार के पास मतदाताओं को बताने के लिए इतना कुछ है तो वह प्रतिद्वंद्वियों के बारे में बात करने में क्यों समय बर्बाद करे। हमें मोदी सरकार के गवर्नेस मॉडल पर फोकस करते हुए पश्चिम बंगाल सरकार की कमियों को उजागर करना चाहिए।" बीजेपी का मानना है कि कभी-कभी बहुत से व्यक्तिगत हमले प्रतिद्वंदी को सहानुभूति पाने में मदद करते हैं। फिर ममता बनर्जी तो वैसे ही चोट लगने के बाद व्हीलचेयर पर बैठकर चुनाव प्रचार कर रही हैं और सहानुभूति पाने का कोई मौका नहीं छोड़ रही हैं। 

गौरतलब है कि इससे पहले बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व ने पश्चिम बंगाल की प्रदेश इकाई को नंदीग्राम में मुख्यमंत्री बनर्जी पर हुए कथित हमले को निशाना बनाने या उस पर बात करने से मना किया था। बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व ने राज्य के नेताओं से कहा था कि चूंकि ममता के इस हमले को लेकर विरोधाभासी बयानों ने उनकी हकीकत सामने ला दी है, ऐसे में इस मामले पर बात करने की जरूरत नहीं है। बता दें कि 294 सदस्यीय पश्चिम बंगाल विधानसभा के लिए 27 मार्च से 29 अप्रैल तक 8 चरणों में मतदान होने है। इसके बाद 2 मई को मतगणना होगी।