BREAKING NEWS

पंजाब: NDA में पूरा हुआ बंटवारे का दौर, नड्डा ने किया ऐलान- 65 सीटों पर BJP लड़ेगी चुनाव, जानें पूरा गणित ◾शरजील इमाम पर चलेगा देशद्रोह का मामला, भड़काऊ भाषणों और विशेष समुदाय को उकसाने के लगे आरोप ◾ गणतंत्र दिवस: 25-26 जनवरी को दिल्ली मेट्रो की पार्किंग सेवा रहेगी बंद, जारी की गई एडवाइजरी◾महिला सशक्तिकरण की बात कर रही BJP की मंत्री हुई मारपीट की शिकार, ऑडियो वायरल, जानें मामला? ◾UP चुनाव: SP को लगा तीसरा बड़ा झटका, BJP में शामिल हुए विधायक सुभाष राय, टिकट कटने से थे नाराज ◾देश में कोरोना के मामलों में 15 फरवरी तक आएगी कमी, कुछ राज्यों और मेट्रो शहरों में कम हुए कोविड केस◾UP चुनाव: BJP के साथ गठबंधन नहीं होने के जिम्मेदार हैं आरसीपी, JDU अध्यक्ष बोले- हमने किया था भरोसा.. ◾फडणवीस का उद्धव ठाकरे को जवाब, बोले- 'जब शिवसेना का जन्म भी नहीं हुआ था तब से BJP...'◾BJP ने जारी की पांचवी सूची, महज एक उम्मीदवार के नाम की हुई घोषणा, UP कोर ग्रुप की बैठक में मंथन जारी ◾राष्ट्रीय बाल पुरस्कार: PM मोदी ने बच्चों से "वोकल फॉर लोकल’’ अभियान को आगे बढ़ाने का किया आग्रह◾गोवा चुनाव: TMC ने उठाए BJP की मंशा पर सवाल, कहा- 'डबल इंजन सरकार' का नारा तानाशाही का संकेत ◾राहुल गांधी ने केंद्र को घेरा, कहा- गरीब और मध्य वर्ग के लोग सरकार की ‘आर्थिक महामारी’ के शिकार हुए◾विधानसभा चुनावः दिल्लीवासियों से केजरीवाल ने चार राज्यों में प्रचार के लिए मांगी मदद ◾MP में नए 'स्टील्थ ओमीक्रॉन' ने दी दस्तक, इंदौर में 21 मामले आए सामने, फेफड़ों पर हो रहा संक्रमण का असर ◾राकेश टिकैत ने हिंदू-मुस्लिम और जिन्ना को बताया सरकारी मेहमान, बोले-सरकार के प्रवचन में नहीं आना◾भगवा खेमे का अभेद्य किला बनी हुई है 'गोरखपुर सीट', अखिलेश ने शिवप्रताप को दिया खुला ऑफर, जानें रणनीति ◾अखिलेश के बयान पर भाजपा ने घेरा, पाकिस्तान को भारत का असली दुश्मन नहीं मानने का लगाया आरोप ◾अल्पसंख्यक समुदाय के साथ की आस में BJP, RSS की मुस्लिम शाखा ने चलाया अभियान, धर्म संसद पर कहा... ◾UP चुनाव: सियासी मझधार में सपा और सहयोगी दलों का गठबंधन, सीट बंटवारे को लेकर कशमकश की स्थिति ◾BJP गठबंधन वाले दलों को हड़पकर उन्हें खत्म कर देती है : नवाब मलिक◾

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया निवेशकों को आमंत्रित, बोले-छत्तीसगढ़ की धरती क्षमता, समृद्धि और संभावना है

नयी दिल्ली : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने निवेशकों को राज्य में निवेश के अवसरों का लाभ उठाने के लिए आमंत्रित करते हुए कहा कि उनकी सरकार का लक्ष्य छत्तीसगढ़ को निवेश केंद्र बनाना है। मुख्यमंत्री ने निवेशकों से राज्य की उदारवादी निवेश नीतियों और कारोबारी माहौल का लाभ उठाने का आग्रह किया है। बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ - क्षमता , समृद्धि और संभावना की धरती बन गयी है। 

उन्होंने कहा कि राज्य की नई औद्योगिक नीति विभिन्न क्षेत्रों में समावेश और सतत औद्योगिक विकास को बढ़ावा देती है। औद्योगिक नीति बहुत ही लचीली है और कई क्षेत्रों में रियायत देती है। राज्य में निवेशक सम्मेलन की योजना साझा करते हुए उन्होंने कहा , पहले की तुलना में राज्य में कारोबार का माहौल काफी सुधरा है और हमें उद्योगों से अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। वे राज्य में निवेश करने के इच्छुक हैं। 

मुख्यमंत्री के रूप में एक साल का कार्यकाल पूरा करने वाले भूपेश बघेल ने कहा कि  पहले राज्य की उपेक्षा की जा रही थी। छत्तीसगढ़ नौवां सबसे बड़ा राज्य है। इसकी जनसंख्या 2.80 करोड़ है। इसके 40 प्रतिशत में वनक्षेत्र हैं लेकिन फिर भी उद्योग बुनियादी क्षेत्र के उद्योगों तक सीमित है। निवेशक पर्यावरण , पर्यटन , खाद्य प्रसंस्करण , कृषि - वानिकी , स्वास्थ्य एवं औषधि , होटल , कपड़ा , इस्पात , सीमेंट और खनन जैसे क्षेत्रों में संभावनाओं का पता लगाने के लिए स्वतंत्र हैं। 

उन्होंने कहा कि राज्य में एकल मंजूरी व्यवस्था काम कर रही है , लेकिन फिर भी अगर कोई मुद्दा सामने आता है , तो सरकार उद्योगपतियों को हर तरह का समर्थन देगी , चाहे वह मंजूरी हो या बुनियादी ढांचा विकसित करना हो। बघेल ने अपनी सरकार की एक साल की उपलब्धियां बताते हुए कहा कि आर्थिक नरमी छत्तीसगढ़ को प्रभावित नहीं कर रही है क्योंकि राज्य सरकार ने किसान कर्ज माफी और 2,500 रुपये के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर धान की खरीद के माध्यम से नागरिक की जेब में पैसा डाला है। उन्होंने जोर दिया कि पैसा अंततः बाजार में वापस आ जाएगा।