देहरादून\मसूरी : पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए उत्तराखंड में जगह-जगह व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे। इस दौरान आक्रोशित लोगों ने सड़कों पर उतरकर पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी की। साथ ही जवानों की शहादत को सलाम किया। उत्तराखंड में पुलवामा आतंकी हमले को लेकर जनाक्रोश कम नहीं हो रहा है।

देहरादून समेत कई जिलों में बाजार पूरी तरह से बंद रहे। देहरादून के बल्लूपुर चौक से लेकर घंटा घर तक लगभग सभी व्यपारी प्रतिष्ठान बंद रहे। सड़क किनारे विभिन सामाजिक संगठन हाथों में तिरंगा लिए हिंदुस्तान जिंदाबाद और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाते नजर आए। वहीं, व्यापारियों ने पलटन बाजार में शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

देहरादून पेट्रोल पंप वेलफेयर एसोसिएशन ने भी शहीद सैनिकों के शोक में पांच घंटे के लिए पेट्रोल पंप बंद रखने का एलान किया। एसोसिएशन की बैठक में लिए गए फैसले के मुताबिक देहरादून, विकासनगर के पेट्रोल पंप सुबह नौ से दोपहर दो बजे तक बंद रखे गए। उधर, पहाड़ों की रानी मसूरी में भी पुलवामा की घटना से हर नागरिक आहत है।

हालांकि मसूरी में बाजार बंद की कोई काॅल नहीं थी लेकिन पूरा बाजार स्वतः स्फूर्त शहीदों की याद में बंद रहा। हालांकि पर्यटकों को परेशानी हुई लेकिन उन्होंने अपनी परेशानी को दर किनार कर शहीदों के प्रति नतमस्तक रहे। पर्यटन नगरी मसूरी में पुलवामा की आतंकवादी घटना व उसमें मारे गये शहीद जवानों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए पूरा बाजार स्वत ही शहीदों की याद में बंद किया गया।

बंद के दौरान मसूरी आये पर्यटकों को परेशानी उठानी पड़ी लेकिन पर्यटक इससे निराश नहीं थे। वह भी इस गमगीन माहौल में अपने को शामिल कर शहीदों के प्रति संवेदना व्यक्त करने के साथ ही सरकार से कड़ी कार्रवाई की मांग कर कह रहे थे कि इस घटना को अंजाम देने वालों व उनके समर्थकों को ऐसा सबक सिखाया जाय ताकि भविष्य में ऐसी गुस्ताखी करने की किसी की हिम्मत न हो। वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि इस घटना से हर देशवासी आहत है।

– सुनील, हरीश