BREAKING NEWS

Ramcharitmanas controversy: लखनऊ में रामचरितमानस का अपमान करने के आरोप में 8 लोगों पर मामला दर्ज ◾भूपेंद्र सिंह चौधरी ने कहा- गजनी, गोरी ने हिंदुओं की आस्था पर प्रहार किया, वही कार्य सपा प्रमुख कर रहे◾मध्यप्रदेश में खेलो इंडिया’यूथ गेम्स 2022 का भव्य आगाज, 6000 खिलाड़ी करेंगे शिरकत◾अडानी पर हिंडनबर्ग का हमला, कहा- 'धोखाधड़ी को राष्ट्रवाद से ढका नहीं जा सकता'◾1 फरवरी को संसद के पटल पर होगा बजट पेश, 'लोगों को काफी उम्मीदें'◾राजस्‍थान में शीतलहर का कहर, 5वीं कक्षा तक के स्‍कूल 31 जनवरी तक बंद ◾आज का राशिफल (30 जनवरी 2022)◾सिर्फ मोदी को लगता है, चीन ने हमारी जमीन नहीं ली : राहुल गांधी◾BCCI ने भारतीय अंडर-19 महिला टीम के लिए 5 करोड़ के नकद पुरस्कार की घोषणा की◾भारतीय महिला टीम बनी अंडर-19 टी20 विश्व कप चैम्पियन, बधाइयों का लगा तांता◾बारिश भी नहीं डिगा सका बीटिंग रिट्रीट के जज्बे को, गणतंत्र दिवस समारोह का हुआ औपचारिक समापन◾दिल्ली में बारिश, अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे◾ओडिशा के मंत्री नब किशोर दास की गोली लगने से मौत, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री ने शोक जताया◾IND vs NZ : स्पिनरों के दबदबे के बीच भारत ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया, श्रृंखला 1-1 से बराबर◾हमीरपुर में दूषित जल पीने से बीमार पड़ने वालों की संख्या 535 हुई, मुख्यमंत्री ने रिपोर्ट मांगी◾प्रधानमंत्री मोदी : 'तकनीकी दशक बनाने का भारत का सपना होगा साकार'◾रामचरितमानस विवाद में घिरे स्वामी प्रसाद को अखिलेश ने बनाया राष्ट्रीय महासचिव, चाचा शिवपाल को भी मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾यूपी के मंत्री जितिन प्रसाद ने स्वामी प्रसाद मौर्य के रामचरितमानस बयान को बताया चुनावी रणनीति◾Air Asia Flight: एयर एशिया के विमान से टकराया पक्षी, लखनऊ एयरपोर्ट पर हुई इमरजेंसी लैंडिंग◾ सपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की लिस्ट में पार्टी नेताओं के नाम किए घोषित,विवादों में रहें स्वामी प्रसाद मौर्य को बनाया गया महासचिव◾

CM गहलोत को कुछ शब्दों का नहीं करना चाहिए था इस्तेमाल, हम संगठन को मजबूत करने वाला लेंगे फैसला : जयराम

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बारे में कहा है कि, उन्हें कुछ शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए था। उन्होंने ने यह बात सचिन पायलट को गद्दार कहने के मामले में एक साक्षात्कार में कही। जयराम रमेश ने रविवार को कहा कि इस साक्षात्कार में गहलोत के कुछ शब्द ‘‘अप्रत्याशित’’ थे और उन्हें इनका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए था। सीएम गहलोत ने मीडिया को हाल ही में दिए साक्षात्कार में पायलट को ‘‘गद्दार’’ करार देते हुए कहा था कि उन्होंने वर्ष 2020 में कांग्रेस के खिलाफ बगावत की थी और गहलोत नीत सरकार गिराने की कोशिश की थी इसलिए उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बनाया जा सकता। इस साक्षात्कार को लेकर प्रतिक्रिया मांगे जाने पर रमेश ने इंदौर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं दोहराना चाहूंगा कि गहलोत हमारी पार्टी के वरिष्ठ और अनुभवी नेता हैं, वहीं पायलट युवा, लोकप्रिय और ऊर्जावान नेता हैं। पार्टी को गहलोत और पायलट, दोनों की जरूरत है।’’

हम वही हल चुनेंगे, जिससे हमारा संगठन मजबूत होगा : जयराम रमेश 

जयराम रमेश ने कहा, ‘‘कुछ मतभेद हैं। मुख्यमंत्री की ओर से कुछ शब्द इस्तेमाल किए गए हैं जो अप्रत्याशित थे और जिनसे मुझे भी आश्चर्य हुआ।’’ रमेश ने यह भी कहा कि, संबंधित साक्षात्कार में गहलोत को कुछ शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए था। उन्होंने हालांकि स्पष्ट नहीं किया कि उन्हें गहलोत के कौन-से शब्द उचित नहीं लगे। राहुल गांधी की अगुवाई वाली ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ के इंदौर में पड़ाव के दौरान रमेश ने कहा, ‘‘हमारे लिए संगठन सर्वोपरि है। राजस्थान के मसले का हम वही हल चुनेंगे, जिससे हमारा संगठन मजबूत होगा। इसके लिए अगर हमें कठोर निर्णय लेने हैं, तो कठोर निर्णय लिए जाएंगे। अगर (गहलोत और पायलट के गुटों के बीच) समझौता कराया जाना है, तो समझौता कराया जाएगा।’’ गहलोत-पायलट की रार के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व राजस्थान के मसले के उचित हल पर विचार कर रहा है। कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रभारी ने कहा,‘‘...लेकिन मैं इस हल की कोई समय-सीमा तय नहीं कर सकता। इस हल की समय-सीमा केवल कांग्रेस नेतृत्व तय करेगा।’’

भारत जोड़ो यात्रा अन्य राज्यों की तरह राजस्थान में भी होगी सफल : रमेश 

रमेश ने भरोसा जताया कि गांधी की अगुवाई वाली ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ अन्य राज्यों की तरह राजस्थान में भी सफल होगी। अभी मध्य प्रदेश से गुजर रही यह यात्रा चार दिसंबर को राजस्थान में दाखिल होगी जहां अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। गौरतलब है कि, गुजरात में अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा ने अपने घोषणापत्र में मतदाताओं से वादा किया है कि सत्ता में बरकरार रहने पर राज्य में समान नागरिक संहिता लागू करेगी। रमेश ने कहा, ‘‘समान नागरिक संहिता पर संसद के अंदर और बाहर बहस होती रहनी चाहिए। लेकिन, भाजपा चुनावों के वक्त जान-बूझकर विभाजनकारी मुद्दे उठाती है ताकि वोटों का ध्रुवीकरण किया जा सके। 

चुनाव परिणामों के बाद आम आदमी पार्टी का ‘‘गुब्बारा फूट’’ जाएगा

कांग्रेस नेता ने कहा कि भाजपा इस बार भी गुजरात विधानसभा चुनावों में फायदे के लिए समान नागरिक संहिता के मुद्दे को तूल दे रही है। रमेश ने कहा, ‘‘चुनावों के बाद वे (भाजपा) इस मुद्दे को भूल जाएंगे।’’ उन्होंने दावा किया कि गुजरात में मुख्य चुनावी मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच ही है और चुनाव परिणामों के बाद आम आदमी पार्टी का ‘‘गुब्बारा फूट’’ जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘इस गुब्बारे को मीडिया ने फुलाया है। गुजरात में आम आदमी पार्टी जमीनी स्तर पर मजबूत दिखाई नहीं देती।’’