BREAKING NEWS

भाजपा की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने पुरी शंकराचार्य से की मुलाकात ◾ नेपाल सरकार का दावा- लिंपियाधुरा, लिपुलेख और कालापानी उसके अभिन्न अंग, निर्माण रोके भारत◾दिल्ली में कोविड-19 के 18,286 मामले आए सामने , 28 रोगियों की मौत ◾भारत के टीकाकरण कार्यक्रम ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में काफी ताकत दी : PM मोदी ◾BJP ने उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह को पार्टी से किया निष्कासित, कांग्रेस में हो सकते हैं शामिल◾Covid -19 को लेकर WHO ने किया बड़ा खुलासा - कोरोना वायरस पूरी तरह से समाप्त नहीं होगा◾महाराष्ट्र कोरोना : बीते 24 घंटों में आए 41 हजार से ज्यादा नए मामले, शहर में मिली थोड़ी रहत ◾PM मोदी के नेतृत्व की वजह से 157 करोड़ टीके लगाने वाला पहला देश बना भारत - पूनियां◾ जम्मू-कश्मीर : आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर किया ग्रेनेड से हमला, पुलिसकर्मी और आम नागरिक घायल ◾अमित शाह उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर एक बार फिर से करेंगे मैराथन दौरा◾ मुंबई 1993 ब्लास्ट के आरोपी सलीम गाजी की कराची में हुई मौत, डॉन छोटा शकील का रहा करीबी ◾राजस्थान सरकार का अलवर सामूहिक दुष्कर्म की जांच CBI को सौंपने का निर्णय, हाई लेवल मीटिंग में लिया गया फैसला◾ उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए आप ने जारी की 150 उम्मीदवारों की सूची, जानें किसे मिला टिकट◾निषाद पार्टी एक बार फिर BJP के साथ मिलकर लड़ेगी चुनाव, जानिए कितनी सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी nishad ◾केंद्र के पश्चिम बंगाल की झांकी को बाहर करने के फैसले पर ममता ने जताई नाराज़गी, PM मोदी को लिखा पत्र◾कोरोना के कारण डिजिटल हुई प्रचार की लड़ाई, सभी पार्टियों के ‘वॉर रूम’ में जारी जंग, BJP ने बनाई बढ़त ◾धर्म संसद: गिरफ्तारी के बाद भी खाना नहीं खा रहे यति नरसिंहानंद, केवल 'रस आहार' पर अड़े◾हस्तिनापुर से चुनावी रण में उतरने को तैयार मॉडल अर्चना, आत्मविश्वास से परिपूर्ण, कहा- भयभीत नहीं, आगे बढ़ूंगी ◾केजरीवाल ने उत्पल को अपनी पार्टी में शामिल होने का दिया न्योता, AAP के इस दांव से क्या BJP हो सकती है चित◾समाजवादी पार्टी की उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए 30 उम्मीदवारों की सूची जारी ◾

तेलंगाना में कोविड़-19 ने फिर दी दस्तक, एक स्कूल में 42 छात्राएं और एक शिक्षक पाए गए कोरोना संक्रमित

तेलंगाना के एक स्कूल में कोरोना के 40 से अधिक मामले सामने आए हैं। राज्य के सांगा रेड्डी जिले के महात्मा ज्योतिबा फुले पिछड़ा वर्ग कल्याण स्कूल की 45 छात्राएं कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। एक शिक्षक भी इस महामारी से पीड़ित हैं। संगारेड्डी जिला के डीएम और एचओ डॉ गायत्री के अमुसार, छात्रों को आइसोलेशन में रखा गया है और उनका इलाज किया जा रहा है। ये मामले हैदराबाद से करीब 50 किलोमीटर दूर संगारेड्डी जिले के मुथांगी गांव स्थित महात्मा ज्योतिबा फुले गुरुकुल स्कूल में सामने आए हैं।

ओमिक्रॉन को लेकर सरकार अलर्ट पर 

स्कूल के 491 छात्राओं में से रविवार को 261 छात्राओं का कोविड टेस्ट किया गया। कुल 42 छात्राएं संक्रमित पाई गई। एक स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि सभी 27 शिक्षकों और स्टाफ सदस्यों की जांच की गई और एक शिक्षक कोरोना संक्रमित मिला। अधिकारी ने कहा कि पॉजिटिव परीक्षण करने वाले छात्रों के नमूने जीनोम अनुक्रमण के लिए हैदराबाद भेजे गए। संक्रमित छात्राओं को स्कूल परिसर के छात्रावास में आइसोलेशन में रखा गया और वे सभी स्थिर हैं। तीन दिन पहले एक छात्रा की तबीयत खराब हो गई थी। चूंकि उसमें कोरोना के लक्षण थे इसलिए स्कूल के अधिकारियों ने सभी छात्रों पर परीक्षण करने का फैसला किया।

पिछले 10 दिनों के दौरान तेलंगाना के किसी भी शैक्षणिक संस्थान में बड़ी संख्या में छात्रों की कोरोना पॉजिटिव की यह तीसरी घटना है। पिछले हफ्ते, हैदराबाद के पास महिंद्रा विश्वविद्यालय को 25 छात्रों और स्टाफ के पांच सदस्यों के वायरस के लिए पॉजिटिव परीक्षण के बाद बंद कर दिया गया था।

लक्षण दिखने के बाद स्कूल अधिकारियों ने सभी छात्रों का किया टेस्ट

अधिकारियों ने 1,700 छात्रों और स्टाफ सदस्यों के लिए कोविड परीक्षण किए। कुल 25 छात्रों, एक संकाय सदस्य और चार सहायक कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया। विश्वविद्यालय ने 15 दिनों के लिए अवकाश घोषित किया और सोमवार से ऑनलाइन कक्षाएं शुरू कीं गई है। इससे पहले, खम्मम जिले में एक सरकारी आवासीय स्कूल और लड़कियों के जूनियर कॉलेज के 29 छात्रों ने कोरोनावायरस के लिए पॉजिटिव परीक्षण किया था। वायरा शहर के स्कूल और जूनियर कॉलेज में मामले दर्ज किए गए। कुछ छात्रों में संदिग्ध लक्षण दिखने के बाद स्कूल अधिकारियों ने सभी 550 छात्रों का परीक्षण किया।

HC ने अक्टूबर में खोलने के की दी थी अनुमति  

पिछले महीने राज्य में आवासीय विद्यालय फिर से खुलने के बाद यह पहला मौका है जब इतनी बड़ी संख्या में छात्रा पॉजिटिव पाई गई। तेलंगाना में शैक्षणिक संस्थान 1 सितंबर से फिर से खुल गए। हालांकि, उच्च न्यायालय ने अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में आवासीय स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति दी, क्योंकि शिक्षा विभाग ने सभी निवारक उपाय किए जाने का आश्वासन दिया था।